रुद्राक्ष धारण के नियम और विधि

रूद्राक्ष को प्रकृति की दिव्य औषधि कहा गया है यह शरीर में सकारात्मक और प्राणवान ऊर्जा का संचार करने में सक्षम है। अतः धारण करते समय इन नियमों का पालन करें तो मनोवांछित लाभ की प्राप्त होती है।... और पढ़ें

उपायरूद्राक्ष

मई 2010

व्यूस: 124083

रुद्राक्ष धारण करने के नियम

रुद्राक्ष मानवजाति को भगवान के द्वारा एक अमूल्य देन है। रुद्राक्ष भगवान षिव का अंष है। रुद्राक्ष धारण करना भगवान षिव के दिव्य ज्ञान को प्राप्त करने का साधन है। सभी मनुष्य रुद्राक्ष धारण कर सकते हैं । हिन्दू धर्म ग्रंथो... और पढ़ें

उपायरूद्राक्ष

मई 2014

व्यूस: 35893

राशि के अनुसार रुद्राक्ष धारण करने से आयु-आरोग्य तथा धन, यश की प्राप्ति

एक मुखी रुद्राक्ष: इस रुद्राक्ष को कोई भी व्यक्ति धारण कर सकता है यह साक्षात् भगवान शिव का स्वरूप माना गया है। इसे धारण करने से यश, मान, प्रतिष्ठा, धन, ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यउपाययशरूद्राक्षसंपत्तिराशि

मई 2010

व्यूस: 35338

रुद्राक्ष: एक वरदान

रुद्राक्ष: एक वरदान

ओम प्रकाश दार्शनिक

रुद्राक्ष एक ऐसा फल फल जिसके अंदर लगभग सभी देवी-देवता निवास करते हैं। रूद्राक्ष को धारण करने से हर प्रकार के दुःखां का शमन होता है। इस लेख में एक मुखी रुद्राक्ष से लेकर 14 मुखी रुद्राक्ष के बारे में विस्तृत जानकारी दी जा रही ह... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिमंत्ररूद्राक्षराशि

मई 2014

व्यूस: 33359

राशि -ग्रह-नक्षत्र के अनुसार रुद्राक्ष धारण

वर्तमान समय में शुद्ध एवं दोषमुक्त रत्न बहुत कीमती हो चले हैं, जिससे वे जनसाधारण की पहुंच से बाहर है। अतः विकल्प के रूप में रूद्राक्ष धारण एक सरल एवं सस्ता उपाय है। ग्रह राशि नक्षत्र के अनुसार रूद्राक्ष धारण का संक्षिप्त विवरण यहा... और पढ़ें

ज्योतिषअंक ज्योतिषउपायनक्षत्रव्यवसायरूद्राक्षराशि

मई 2010

व्यूस: 24185

विभिन्न लग्नों के लिए रत्न / रूद्राक्ष चयन

प्रत्येक लग्न के लिए एक ग्रह ऐसा होता है जो योगकारक होने के कारण शुभ फलदाई होता है। यदि ऐसा ग्रह कुण्डली में बलवान अर्थात् उच्चराषिस्थ, स्वराषि का या वर्गोत्तमी होकर केन्द्र या त्रिकोण भाव में शुभ ग्रह के प्रभाव में स्थित हो व इस ... और पढ़ें

ज्योतिषउपायरत्नरूद्राक्षराशि

मई 2014

व्यूस: 14343

रुद्राक्ष जिज्ञासा और समाधान

रूद्राक्ष कैसे धारण करे? कितने मुखी रूद्राक्ष पहनें? क्या सावधानियां बरतें? भगवान शिव को ही रूद्र कहा जाता है प्रस्तुत लेख में पाठकों की रूद्राक्ष से संबंधित समस्त जिज्ञासाओं और उनका समाधान करने की कोशिश की गई है।... और पढ़ें

उपायरूद्राक्ष

मई 2010

व्यूस: 13862

कहां से और कैसे प्राप्त होता है रुद्राक्ष

रूद्राक्ष मूलतः एक जंगली फल है। रूद्राक्ष कहां से और कैसे प्राप्त होता है इस विषय से संबंधित जानकारी इस आलेख में दी जा रही है...... और पढ़ें

स्थानरूद्राक्ष

मई 2010

व्यूस: 13106

रुद्राक्ष के मुख और प्रकार

रुद्राक्ष के मुख और प्रकार

नवीन चित्तलांगिया

रूद्राक्षों में साधारणतः एक से सताइस धारियां होती हैं। इन्हीं मुखों के आधार पर इनका वर्गीकरण किया गया है और इन्हीं के अनुरूप इनके फल होते हैं। यहां अलग-अलग मुखों के रूद्राक्षों का विशद विवरण प्रस्तुत है।... और पढ़ें

उपायरूद्राक्ष

मई 2010

व्यूस: 12589

मनोकामना सिद्धि का आसान उपाय रुद्राक्ष धारण

धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष मानव जीवन के मुख्य लक्ष्य कहे गए हैं। हर व्यक्ति इन लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु यथासंभव प्रयास करता है। लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु शास्त्रों में विभिन्न ज्योतिषीय सामग्रियों के उपयोग का उल्लेख है, जिनमें रुद्र... और पढ़ें

स्वास्थ्यउपायबाल-बच्चेशिक्षायशसुखविवाहव्यवसायरूद्राक्षसंपत्ति

मई 2010

व्यूस: 12207

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)