दीपदान महादान

दीपदान महादान

अंजली गिरधर

किसी भी पूजा, साधना को संपन्न करना बिना दीप प्रज्ज्वलन के हम सोच भी नहीं सकते। पूजन का मुख्य उद्देश्य मन को शांति प्रदान करना होता है, अपना ध्यान एकाग्र करना होता है। वेदों में अग्नि को देवता स्वरूप माना गया है क्योंकि यह पं... और पढ़ें

देवी और देवअन्य पराविद्याएंपर्व/व्रत

अकतूबर 2017

व्यूस: 2598

मरने से पहले की सोच

मरने से पहले की सोच

फ्यूचर पाॅइन्ट

मेरे पास लोग आते हैं। वे कहते हैं - हमें संन्यास लेना है; लेकिन जरा बेटी की शादी हो जाए; क्योंकि अगर शादी न हुई और हमने संन्यास ले लिया तो अड़चनें आ जाएंगी, शादी करना मुश्किल हो जाएगा। और किसी तरह खोज भी लिया वर तो बारात में ... और पढ़ें

देवी और देवविविध

अकतूबर 2006

व्यूस: 2327

रंभा या रमा एकादषी व्रत

रंभा या रमा एकादषी व्रत

ब्रजकिशोर शर्मा ‘ब्रजवासी’

रमा एकादषी व्रत कार्तिक मास कृष्णपक्ष एकादशी को किया जाता है। जो मनुष्य एकादशी व्रत करना चाहे, वह दशमी को शुद्ध चित्त होकर दिन के आठवें भाग में सूर्य का प्रकाश रहने पर भोजन करे। रात्रि में भोजन न करे। दशमी को कांस्य पात्र म... और पढ़ें

देवी और देवपर्व/व्रत

अकतूबर 2006

व्यूस: 2384

पितृ कौन, उनकी पूजा आवश्यक क्यों

माता-पिता की सेवा को सबसे बड़ी पूजा माना गया है। जो जीवन रहते उनकी सेवा नहीं कर पाते, उनके देहावसान के बाद बहुत पछताते हैं। इसीलिए हिंदू धर्म शास्त्रों में पितरों का उद्धार करने के लिए पुत्र की अनिवार्यता मानी गई है।... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिभविष्यवाणी तकनीक

सितम्बर 2006

व्यूस: 2356

इंद्रियों को परिशुद्ध करो

जो इंद्रियों को दबाने में लग जाता है, वह समाज के लिए सहयोगी हो जाता है, वह दूसरों को नहीं दबाता। नहीं तो वह दूसरों को दबाएगा। दबाने का कहीं उसे रस है तो दबाने का रस वह निकालेगा। अगर अपने को दबाने लगे तो समाज सुविधा में हो जाता... और पढ़ें

देवी और देवविविध

दिसम्बर 2006

व्यूस: 2352

WhatsApp और ज्योतिष

WhatsApp और ज्योतिष

फ्यूचर पाॅइन्ट

भारत के प्रमुख तीर्थ 51 शक्ति पीठ, 12 ज्योतिर्लिंग, 7 सप्तपुरी और 4 धाम हमारे देश भारत में यूँ तो अनेक तीर्थ हैं पर इनमें जो सबसे प्रमुख माने जाते हैं वो हैं इक्यावन शक्ति पीठ, बारह ज्योतिर्लिंग, सात सप्तपुरी और चार धाम। इ... और पढ़ें

देवी और देवपर्व/व्रतमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

जून 2017

व्यूस: 2581

श्री राधाष्टमी व्रत (9-9-2016)

यह व्रत भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है। इस दिन ही राधा का भूलोक में अवतरण हुआ था। शास्त्रों में वर्णित है कि मृगपुत्र राजा सुचंद्र का एवं पितरों की मानसी कन्या सुचंद्र पत्नी कलावती का पुनर्जन्म हुआ। सुच... और पढ़ें

देवी और देवपर्व/व्रत

सितम्बर 2016

व्यूस: 2462

अगस्त मास के अन्य व्रत त्योहार

2 अगस्त (भौमवती अमावस्या): श्रावण कृष्ण अमावस्या को हरियाली अमावस्या भी कहते हैं। इस वर्ष अमावस्या के साथ मंगलवार का संयोग होने से इस अमावस्या का महत्व बढ़ गया है। इस दिन किसी नदी या जलाशय में जाकर अपने पितरों के निमित्त तर्... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

आगस्त 2016

व्यूस: 2525

उमामहेश्वरस्तोत्रम

उमामहेश्वरस्तोत्रम

फ्यूचर पाॅइन्ट

नमः शिवाभ्यां नवयौवनाभ्यां परस्पराश्लिष्टवपुर्धराभ्यां। नगेन्द्रकन्यावृषकेतनाभ्यां नमो नमः शंकरपार्वतीभ्याम्।। 1।। नव यौवनवाले, परस्पर सम्पृक्त शरीर को धारण करने वाले, नगेन्द्र कन्या और वृषकेतन शंकर पार्वती को नमस्कार है।... और पढ़ें

देवी और देवमंत्र

मार्च 2006

व्यूस: 2361

निर्जला एकादशी व्रत

निर्जला एकादशी व्रत

ब्रजकिशोर शर्मा ‘ब्रजवासी’

व्यास जी के वचनानुसार यह यथार्थ सत्य है कि अर्धमास (मलमास) सहित एक वर्ष की 26 एकादशियों में से मात्र एक निर्जला एकादशी का व्रत करने से ही सभी एकादशियों का फल प्राप्त हो जाता है। निर्जला व्रत करने वाला, अपवित्र अवस्था के आच... और पढ़ें

देवी और देवपर्व/व्रत

जून 2006

व्यूस: 2501

श्री साईं बाबा का समाधि वाला दिन

साईं बाबा अपने अंतिम दिनों में अपने भक्तों से धार्मिक पुस्तकें पढ़वाते थे और उन्हें उस पुस्तक का आंतरिक ज्ञान समझाते थे।... और पढ़ें

देवी और देवविविध

मई 2015

व्यूस: 2180

कामदा एकादषी व्रत

कामदा एकादषी व्रत

ब्रजकिशोर शर्मा ‘ब्रजवासी’

कामदा एकादषी व्रत चैत्र शुक्ल पक्ष एकादशी के दिन किया जाता है। एक समय पांडुनंदन धर्मावतार महाराज युधिष्ठिर ने त्रिलोक नाथ, यशोदा मां के दुलारे, वसुदेव-देवकी नंदन भगवान श्री कृष्ण के श्री चरणों में प्रणाम कर विनयपूर्वक प्रश्न... और पढ़ें

देवी और देवपर्व/व्रत

अप्रैल 2006

व्यूस: 2467

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)
horoscope