कृष्ण जन्माष्टमी (24-8-2016)

कृष्ण जन्माष्टमी (24-8-2016)

फ्यूचर पाॅइन्ट

कृष्ण जन्माष्टमी भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव है। योगेश्वर कृष्ण के भगवद् गीता के उपदेश अनादि काल से जनमानस के लिए जीवन दर्शन प्रस्तुत करते रहे हैं। जन्माष्टमी को भारत में हीं नहीं बल्कि विदेशों में बसे भारतीय भी पूरी आस्था व उल... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

आगस्त 2016

व्यूस: 2806

सोमनाथ: शिव का प्रथम ज्योतिर्लिंग

भक्तवत्सल भोले नाथ! जिस पर कृपा की, निहाल कर दिया - फिर वह मनुष्य हो या देवता। उनके इसी वात्सल्य ने चंद्रमा को क्षीण होने से बचाया और वे सोमनाथ कहलाए। भक्त चंद्रमा की प्रार्थना पर ही उन्होंने प्रभास पाटण में अपनी कुटिया बसा ली।... और पढ़ें

देवी और देवमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

आगस्त 2006

व्यूस: 2958

तंत्र और तंत्र सिद्धियां

तंत्र में विभिन्न देवताओं की साधना करने से अलग-अलग सिद्धियां एवं फल प्राप्त होते हैं। यहां हम तंत्र के विशेष साधना क्रियाओं को ही स्पष्ट कर रहे हैं। मूल रूप से महासिद्धियां आठ हैं: 1. अणिमा, 2. महिमा और 3. लघिमा देहसंबंधी स... और पढ़ें

देवी और देवअन्य पराविद्याएंभविष्यवाणी तकनीक

अप्रैल 2017

व्यूस: 3214

संक्षिप्त गीतोपनिषद

संक्षिप्त गीतोपनिषद

सुशील अग्रवाल

आज से हजारों वर्ष पहले महाभारत के युद्ध में जब अर्जुन अपने ही भाईयों के विरूद्ध लड़ने के विचार से कांपने लगते हैं तब भगवान श्री कृष्ण ने अर्जुन को गीता का उपदेश दिया था। अठारह अध्यायों में विभाजित इस उपदेश संग्रह का कितना अधिक मह... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिविविध

आगस्त 2016

व्यूस: 3028

कृष्ण की रास लीला - या जीवन रस लीला

रास लीला- कृष्ण रासलीला का नाम आते ही श्री कृष्ण भगवान जी की लीलाओं का चित्रण अंतर हृदय पटल पर उभर आता है। कृष्ण का नाचना, गाना, बजाना, घूमना, हंसना, मुस्कुराना सब वर्णन जिसने जितना पढ़ा या जाना है सब आंखों के सामने आ जाता ह... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिविविध

आगस्त 2016

व्यूस: 2826

कलियुग का वैकुंठ तिरुपति बाला जी

तिरुपति ! आदि वराह क्षेत्र ! इसी क्षेत्र में स्थित है जगत के पालनहार भगवान वेंकटेश्वर का लगभग 12 सौ साल पुराना मंदिर। कहते हैं, जो कोई सच्चे मन से भगवान के दर्शन करने आता है उसके लिए भगवान के हाथ सतत खुले रहते हैं। प्रस्तुत है ... और पढ़ें

देवी और देवमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

सितम्बर 2006

व्यूस: 3095

शिल्प की बेजोड़ मिसाल जगन्नाथ धाम

जगन्नाथ पुरी ! समुद्र के किनारे बसा हरे-भरे खेतों से घिरा यह पावन स्थल भगवान जगदीश का स्थान है। अपनी समृद्ध संस्कृति के लिए प्रसिद्ध यह नगरी तीर्थ यात्रियों के आकर्षण का केंद्र तो है ही, साथ ही प्रकृति ने मानो वहां अपनी सारी छट... और पढ़ें

देवी और देवमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

जनवरी 2006

व्यूस: 2851

गीता सार

गीता सार

कृष्णा कपूर

ममैंवाशो जीव लोके, जीव भूतः सनातनः मनः षष्टानि इन्द्रियानी, प्रकृति स्थानि कर्षिति अर्थात् तीन लोकों व चैदह भुवनों में विभिन्न योनियों में यह जीव शरीर धारण करता रहता है। इसलिये इसे जीव लोक कहा गया है। भगवान श्री कृष्ण कहते... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

मार्च 2016

व्यूस: 2938

शक्ति सिद्धि का अभीष्ट काल नवरात्र

दुर्गा सप्तशती में मारण, मोहन, उच्चाटन, स्तंभन, विद्वेषण और वशीकरण के कई प्रयोग हैं। अर्थात षट्कर्म के कुल सात सौ प्रयोग वर्णित हैं। आगामी नवरात्रों में 700 में से एक प्रयोग आप कर भी करें। संपूर्ण दुर्गा सप्तशती का पूर्ण फल प्... और पढ़ें

देवी और देवपर्व/व्रतमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

अप्रैल 2006

व्यूस: 2902

विद्या प्राप्ति में बाधा कारण और निवारण

विद्या को धन कहा गया है। मानव जीवन के विकास में शिक्षा की भूमिका अहम होती है। इसके बिना मनुष्य का जीवन पशुवत होता है।... और पढ़ें

देवी और देवउपायशिक्षाघरग्रह

फ़रवरी 2010

व्यूस: 2643

गोपी- कृष्ण की माधुर्य लीला

इस भौतिक जगत में हो या आध्यात्मिक जगत में, माधुर्य शब्द के सुनने मात्र से ही कृष्ण की प्रेममयी लीलाओं की अनुभूति मन को आनन्दित कर देती है और उम्र की सीमाओं से परे हम अपने जीवन के सबसे मनोहर व संवेदनषील पलों में खो से जाते ह... और पढ़ें

देवी और देवविविध

आगस्त 2016

व्यूस: 2995

केदारनाथ: पर्वत शिला के रूप में पूजे जाते हैं शिव

पेड़, पहाड़, पानी! चारों ओर हरियाली, प्राकृतिक सौंदर्य का अप्रतिम नजारा। जहां भी देखें आंखें वहीं ठहर जाएं। प्राकृतिक सौंदर्य के इसी रूप का नाम है, उत्तरांचल। परंतु इन दुर्गम पहाड़ियों पर पहुंचना भी कोई आसान काम नहीं। ऐसे ही स्थल ... और पढ़ें

देवी और देवमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

जुलाई 2006

व्यूस: 3075

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)
horoscope