षट्कर्म साधन

आगस्त 2010

व्यूस: 19728

षट्कर्म साधन

डॉ. अरुण बंसल

शरीर एवं मन के रोगों की शांति से लेकर किसी को अपनी ओर आकर्षित करने या स्तंभन करने के लिए भारतीय वेद शास्त्रों में अनेक प्रकार के अनुष्ठानों का वर्णन है। प्रसतुत लेख में षट्कर्म साधना क्रिया की विधि व विभिन्न कार्यों के लिए कौन सा ... और पढ़ें

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंउपायबाल-बच्चेशिक्षाशत्रुमंत्रविवाहसफलतासंपत्ति

वास्तु विद्या एवं कला की प्राचीनता एवं आधुनिक काल में उपयोगिता

अकतूबर 2013

व्यूस: 18967

मानव की भवन सम्बन्धी आवष्यकता मानव सभ्यता जितनी ही प्राचीन है। वास्तु कला का विकास मानव सभ्यता के विकास का इतिहास है। वास्तु षब्द का अर्थ मात्र भवन निर्माण नहीं है इसका क्षेत्र बहुत व्यापक है। वास्तु षब्द ग्रामों, पुरों, दुर्गों, ... और पढ़ें

स्वास्थ्यउपायवास्तुगृह वास्तुव्यवसायिक सुधारसंपत्ति

दक्षिण-पश्चिम का दोष प्रगति में बाधक

जुलाई 2013

व्यूस: 16461

चुम्बकीय कंपास के अनुसार 202 डिग्री से लेकर 247 डिग्री के मध्य के क्षेत्र को नैर्ऋत्य (दक्षिण-पश्चिम) दिशा कहते हैं। दक्षिण-पश्चिम का क्षेत्र पृथ्वी तत्व के लिए निर्धारित है। यह सभी तत्वों से स्थिर है। यह दिशा सभी प्रकार की विषमता... और पढ़ें

स्वास्थ्यउपायवास्तुसुखगृह वास्तुव्यवसायिक सुधारसंपत्ति

लक्ष्मी प्रदायक श्री कुबेर यंत्र

नवेम्बर 2013

व्यूस: 16221

‘श्री यंत्रम् ‘श्री यंत्र’ आठ प्रकार का होता है- 1. मेरूपृष्ठीय श्री यंत्र, 2. कूर्मपृष्ठीय श्री यंत्र, 3. धरापृष्ठीय श्री यंत्र, 4. मत्स्यपृष्ठीय श्री यंत्र, 5. ऊध्र्वरूपीय श्री यंत्र, 6. मातंगीय श्री यंत्र, 7. नवनिधि श्री यंत्र,... और पढ़ें

देवी और देवसंपत्तियंत्र

लक्ष्मी प्राप्ति एवं समृद्धि के उपाय

नवेम्बर 2014

व्यूस: 15195

मात्स्ये - दीपैर्नीराजनादत्र सैषा दीपावलीस्मृता। मत्स्य पुराण के अनुसार अनेक दीपकों से लक्ष्मी का नीराजन (आरती) करने को दीपावली कहते हैं। दीपावली के दिन सिंह लग्न में लक्ष्मी एवं गणेश के पूजन का विशेष माहात्म्य है। इस दिन... और पढ़ें

उपायमंत्रभविष्यवाणी तकनीकसंपत्ति

लक्ष्मी कहां रहती है और कहां नहीं रहती है।

अकतूबर 2009

व्यूस: 15097

लक्ष्मी चंचला है। उसका स्थायी निवास उसी स्थान पर होता है जहां उदारता, कर्मठता, गुरु एवं माता पिता की सेवा करने वाले लोग निवास करते हैं। आइए जानें, लक्ष्मी जी का प्रिय निवास स्थान कहां है? और कहां रहना उनको अप्रिय है ?... और पढ़ें

देवी और देवउपायसंपत्ति

लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय

अकतूबर 2008

व्यूस: 14231

दीपावली पूजन स्थिर लग्न में करना ही सर्वोतम रहता है। पूजा घर में लक्ष्मी यंत्र, कुबेर यंत्र और श्री यंत्र रखना चाहिए। यदि स्फटिक का श्रीयंत्र कच्छ्पारुढ हो तो अति उतम अन्यथा स्वर्णपालिश मुक्त लें। एकाक्षी नारियल, दक्षिणावर्त शंख, ... और पढ़ें

देवी और देवउपायसंपत्ति

धन प्राप्त करने के अचूक उपाय

अकतूबर 2014

व्यूस: 14105

इस मानवीय जीवन में लक्ष्मी का प्रभुत्व छोड दें तो शेष रह जाता है शून्य। ‘‘सर्व गुणा कांचनमाश्रयन्ते अर्थवान सर्व लोकस्य बहुमतः। महेंद्र भप्यशंशींनं न बहु मन्यते लोक प्ररिद्रय खलु पुरूषस्य जीवितं मरणम।’’... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रतसंपत्ति

कुछ उपयोगी टोटके

जनवरी 2013

व्यूस: 13840

कुछ उपयोगी टोटके

संत बाबा फतह सिंह

अदरक के साथ पंचकोल के अर्क का सेवन करने से स्वर विकार ठीक होता हैं। मधुर सुरीली आवाज के लिए शहद के साथ गाय के दूध का सेवन करने से आवाज सुरीली होती हैं।... और पढ़ें

उपायआकर्षणबाल-बच्चेसफलताटोटकेस्वर सुधार/हकलानासंपत्ति

संतान, स्वास्थ्य, आजीविका एवं वैवाहिक सुख के लिए टोटक

फ़रवरी 2015

व्यूस: 13532

संतान प्राप्ति के उत्तम उपाय: - परिजात का एक कोमल पत्ता व श्वेत पुष्पी कटकारी का मूल लेकर बकरी के दूध में पीसकर माहवारी के बाद स्त्री को लगातार सात दिन तक खिलायें।... और पढ़ें

स्वास्थ्यअन्य पराविद्याएंउपायबाल-बच्चेभविष्यवाणी तकनीकटोटकेसंपत्ति

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)