अध्यात्म, धर्म आदि


संक्षिप्त गीतोपनिषद

संक्षिप्त गीतोपनिषद

सुशील अग्रवाल

आज से हजारों वर्ष पहले महाभारत के युद्ध में जब अर्जुन अपने ही भाईयों के विरूद्ध लड़ने के विचार से कांपने लगते हैं तब भगवान श्री कृष्ण ने अर्जुन को गीता का उपदेश दिया था। अठारह अध्यायों में विभाजित इस उपदेश संग्रह का कितना अधिक मह... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिविविध

आगस्त 2016

व्यूस: 2862

कृष्ण की रास लीला - या जीवन रस लीला

रास लीला- कृष्ण रासलीला का नाम आते ही श्री कृष्ण भगवान जी की लीलाओं का चित्रण अंतर हृदय पटल पर उभर आता है। कृष्ण का नाचना, गाना, बजाना, घूमना, हंसना, मुस्कुराना सब वर्णन जिसने जितना पढ़ा या जाना है सब आंखों के सामने आ जाता ह... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिविविध

आगस्त 2016

व्यूस: 2726

श्रद्धा क्या है

एक गरीब आदमी को हीरा मिल गया। बड़ा हीरा राह के किनारे पड़ा हुआ था। उसको अपने गधे से प्रेम था। और तो उसके पास कुछ था भी नहीं। उसने कहा: बड़ा बढ़िया पत्थर है।... और पढ़ें

अध्यात्म, धर्म आदियशविविध

जनवरी 2010

व्यूस: 2406

गीता सार

गीता सार

कृष्णा कपूर

ममैंवाशो जीव लोके, जीव भूतः सनातनः मनः षष्टानि इन्द्रियानी, प्रकृति स्थानि कर्षिति अर्थात् तीन लोकों व चैदह भुवनों में विभिन्न योनियों में यह जीव शरीर धारण करता रहता है। इसलिये इसे जीव लोक कहा गया है। भगवान श्री कृष्ण कहते... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

मार्च 2016

व्यूस: 2817

अजीबोगरीब मान्यताएं- जो हैरान कर देंगी

भारत एक धर्मप्रधान, त्योहारों, उत्सवों और आस्था का देश है। यहां अनेक धर्म, जातियां एवं वर्ग अनेकता में एकता लिए अपनी अपनी मान्यताओं और विश्वास के साथ जीवन व्यतीत करते हैं। भारत में आस्था के नाम पर अनेक विचित्र मान्यताएं प्रचलित ... और पढ़ें

अध्यात्म, धर्म आदिविविध

फ़रवरी 2016

व्यूस: 2833

सत्यभामा, गरुड़, सुदर्शन चक्र का किया गर्व भंग

भगवान विष्णु जगत के पालक हैं, जब भी भूलोक में नकारात्मक शक्तियां उत्पन्न होकर भक्तों को कष्ट देती हैं, तब उनके नाश के लिए श्री हरी अपनी योग माया शेषनाग के साथ अवतार लेते हैं व सहायक के रूप में गरूड़ और सुदर्शन चक्र सदैव विद्... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिविविध

आगस्त 2016

व्यूस: 3018

मनुष्य की अबोध अवस्था एवं सुप्त कुंडलिनी

मनुष्य जानता ही नहीं कि जितनी बड़ी सृष्टि हमारे समक्ष है इससे बड़ी सृष्टि हमारी देह में भी हो सकती है। जिन देवों के लिये या जिस चंद्र, सूर्य आदि नक्षत्रों को देख हमारा मन प्रफुल्लित हो जाता है, वे सब हमारी देह के अंदर ही वि... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंअध्यात्म, धर्म आदिविविध

जून 2017

व्यूस: 2983

घर में सुख समृद्धि बनाये रखने के लिए क्या करें?

हर इंसान अपने घर में सुख व समृद्धि की कामना करता है ताकि वह जीवन में न केवल तरक्की करे बल्कि उसके घर में भी खुशी बनी रहे। इसके लिए दिनचर्या में कुछ बदलाव करें तो आपके घर में हमेशा लक्ष्मी जी का वास बना रहेगा। दिन की शुरूआ... और पढ़ें

उपायअध्यात्म, धर्म आदिभविष्यवाणी तकनीकसंपत्ति

दिसम्बर 2015

व्यूस: 2733

क्यों?

क्यों?

फ्यूचर पाॅइन्ट

अनादि काल से ही हिंदू धर्म में अनेक प्रकार की मान्यताओं का समावेश रहा है। विचारों की प्रखरता एवं विद्वानों के निरंतर चिंतन से मान्यताओं व आस्थाओं में भी परिवर्तन हुआ।... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिविविध

मई 2013

व्यूस: 2783

गीता सार

गीता सार

कृष्णा कपूर

महाभारत के युद्ध से पूर्व विचलित अर्जुन को सही राह दिखाने के लिए योगेश्वर कृष्ण ने गीता का उपदेश दिया था। प्रस्तुत लेख से जानें कि क्या है गीता का माहात्म्य, जिसके कारण आज भी इसकी प्रासंगिकता बनी हुई है।... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

मई 2016

व्यूस: 3138

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)
horoscope