अन्य पराविद्याएं


षट्कर्म साधन

षट्कर्म साधन

डॉ. अरुण बंसल

शरीर एवं मन के रोगों की शांति से लेकर किसी को अपनी ओर आकर्षित करने या स्तंभन करने के लिए भारतीय वेद शास्त्रों में अनेक प्रकार के अनुष्ठानों का वर्णन है। प्रसतुत लेख में षट्कर्म साधना क्रिया की विधि व विभिन्न कार्यों के लिए कौन सा ... और पढ़ें

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंउपायबाल-बच्चेशिक्षाशत्रुमंत्रविवाहसफलतासंपत्ति

आगस्त 2010

व्यूस: 20765

व्यावहारिक अंग लक्षण विज्ञान

व्यक्ति का चेहरा उसके व्यक्तित्व का दर्पण होता है। व्यक्ति का प्रत्येक अंग उसके मस्तिष्क से बंधा होता है। उसका हृदय, लीवर, फेफड़े, किडनी, हड्डियां, नसें, नाड़ियां व मांसपेशियां सभी उसके सोचने व कार्य करने में सहायक होते हैं। पूर्ण श... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

आगस्त 2014

व्यूस: 9007

संतान, स्वास्थ्य, आजीविका एवं वैवाहिक सुख के लिए टोटक

संतान प्राप्ति के उत्तम उपाय: - परिजात का एक कोमल पत्ता व श्वेत पुष्पी कटकारी का मूल लेकर बकरी के दूध में पीसकर माहवारी के बाद स्त्री को लगातार सात दिन तक खिलायें।... और पढ़ें

स्वास्थ्यअन्य पराविद्याएंउपायबाल-बच्चेभविष्यवाणी तकनीकटोटकेसंपत्ति

फ़रवरी 2015

व्यूस: 14180

हस्तलिपि एवं उपयोग

हस्तलिपि एवं उपयोग

डॉ. अरुण बंसल

व्यक्ति के हाथ की उंगलियां सीधे मस्तिष्क से नाड़ियों द्वारा जुड़ी होती हैं। व्यक्ति हाथ से वैसे ही लिखता है जैसे उसे बुद्धि से संकेत मिलते हैं।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंहस्ताक्षर विश्लेषण

फ़रवरी 2014

व्यूस: 1938

जिस स्त्री के पैर के तलवे चिकने, मुलायम, पुष्ट, लाल पसीने से रहित हों वह स्त्री जीवन में अत्यधिक सुख भोगती है और मान सम्मान व धन की कमी उसके जीवन में नहीं होती। पादतल रेखा जिस स्त्री के तलवे में शंख, चक्र, कमल इत्याद... और पढ़ें

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंविविध

आगस्त 2014

व्यूस: 22552

हस्ताक्षर विज्ञान द्वारा रोगों का उपचार

हस्ताक्षर विज्ञान द्वारा रोगों का उपचार

कौलाचार्य जगदीशानन्द तीर्थ

आज उद्योग व्यवसाय तेजी से फैल रहे हैं, नित्य नए-नए वैज्ञानिक परीक्षण हो रहे हैं। इन सबके फलस्वरूप वातावरण का प्रदूषित होना और नए-नए रोगों का पनपना स्वाभाविक है।... और पढ़ें

स्वास्थ्यअन्य पराविद्याएंउपायहस्ताक्षर विश्लेषण

मार्च 2010

व्यूस: 4199

हृदय रोगियों के लिए वरदान मुद्राविज्ञान

हृदय रोगियों के लिए वरदान मुद्राविज्ञान

कौलाचार्य जगदीशानन्द तीर्थ

ये मुद्राएं हृदय संबंधी रोगों के लिए अत्यंत चमत्कारिक व लाभकारी हंै।... और पढ़ें

स्वास्थ्यअन्य पराविद्याएंउपायसुखमुखाकृति विज्ञान

फ़रवरी 2010

व्यूस: 2104

अधिक मास : कब और क्यों

वर्ष २००७ में दो ज्येष्ठ मास होंगे। इन्हें प्रथम ज्येष्ठ व् द्वितीय ज्येष्ठ के नाम से जाना जाता है। दो मास में चार पक्ष हो जाते है। प्रथम ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष से शुरू होता है। तदुपरांत प्रथम ज्येष्ठ का शुक्ल पक्ष, द्वितीय ज्येष्ठ का... और पढ़ें

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंज्योतिषीय विश्लेषणज्योतिषीय योगआकाशीय गणित

मई 2007

व्यूस: 5791

टैरो (दी वल्रर्ड)

टैरो (दी वल्रर्ड)

कृष्णा कपूर

टैरो डैक में दी वल्र्ड कार्ड 22वां व मेजर आरकाना का आखिरी कार्ड है। अगर ‘कार्ड दी फूल’ जो अननम्बर्ड कार्ड है और जिसको नंबर दिया गया है अगर उसको गिनती में न लायें तो ‘दी वल्र्ड’ कार्ड 21 नंबर का कार्ड कहलायेगा। जैसा कि पिछ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंटैरोभविष्यवाणी तकनीक

दिसम्बर 2015

व्यूस: 2723

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)
horoscope