अन्य पराविद्याएं


चुंबकीय जल एवं लाभ

चुंबक का नाम आते ही प्रायः आंखों के सामने एक लोहे का टुकड़ा आकार लेता है जोकि लोहे को अपने में चिपका लेता है। यह अहसास पुराना है। आधुनिक समाज में इससे अनेक काम यथा इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्राॅनिक, कंप्यूटर आदि सामान चलाने के साथ-... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविधभविष्यवाणी तकनीक

मई 2016

व्यूस: 7203

कुछ उपयोगी टोटके

कुछ उपयोगी टोटके

संत बाबा फतह सिंह

छोटे-छोटे उपाय हर घर में लोग जानते हैं, पर उनकी विधिवत् जानकारी के अभाव में वे उनके लाभ से वंचित रह जाते हैं। इस लोकप्रिय स्तंभ में उपयोगी टोटकों की विधिवत् जानकारी दी जा रही है।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंटोटके

फ़रवरी 2015

व्यूस: 7006

सामुद्रिक शास्त्र का उद्भव

मनुष्य का हाथ तो ऐसी जन्मपत्री है, जिसे स्वयं ब्रह्मा ने निर्मित किया है, जो कभी नष्ट नहीं होती है। इस जन्मपत्री में त्रुटि भी नहीं पायी जाती है। स्वयं ब्रह्मा ने इस जन्मपत्री में रेखाएं बनायी हैं एवं ग्रह स्पष्ट किये हैं।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंहस्तरेखा शास्रमुखाकृति विज्ञानभविष्यवाणी तकनीक

अप्रैल 2011

व्यूस: 6804

लियो पाम में टैरो कार्ड

टैरो कार्ड की युक्ति द्वारा भविष्य जानने की पद्धति को ‘लियो पाम' में सम्मिलित किया गया है। आइए देखते हैं इस सॉफ्टवेयर में टैरो कार्ड की प्रयुक्ति किस प्रकार से होता है ?... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविधभविष्यवाणी तकनीक

आगस्त 2010

व्यूस: 6648

परदेश जाते समय शकुन विचार

परदेश जाते समय शकुन विचार

राजेंद्र कुमार जोशी

भारतीय समाज में यात्रा पर निकलने से पहले दही खाने, जाते समय माथे पर तिलक लगाने आदि की परंपरा है। घर से निकलते ही यात्रा कैसी रहेगी अथवा कार्य सिद्धि होगी अथवा नहीं, इसके संकेत मिलने लगते हैं। शायद आपने भी कभी ऐसा महसूस क... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंशकुन

जून 2014

व्यूस: 6345

घर में क्या न करें

घर में क्या न करें

अंजना अग्रवाल

हन्दू सभ्यता में प्राकृतिक शक्तियों के साथ तालमेल बिठाने के लिए घर के स्वरूप का निर्धारण करने तथा उसकी साज सज्जा करते समय कुछ चीजों का विशेष ध्यान रखा जाता है। घर के सदस्यों के बीच तालमेल बिठाने व शांति का माहौल बनाने के ल... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंअध्यात्म, धर्म आदिविविध

दिसम्बर 2014

व्यूस: 6212

शुक्ल पक्ष एवं पंच पक्षी के कार्य-1

्रत्येक मनुष्य का जन्म या तो दिन अथवा रात्रि, कृष्ण पक्ष अथवा शुक्ल पक्ष एवं सप्ताह के किसी एक वार को होता है। पंच पक्षी पांच तात्त्विक स्पंदन के आधार पर पांच तरीके से शुक्ल पक्ष एवं कृष्ण पक्ष में चंद्र के बढ़ते एवं घटते कला... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

जुलाई 2014

व्यूस: 5967

क्या हैं बंधन और उनके उपाय?

बंधन अर्थात् बांधना। जिस प्रकार रस्सी से बांध देने से व्यक्ति असहाय हो कर कुछ कर नहीं पाता, उसी प्रकार किसी व्यक्ति, घर, परिवार, व्यापार आदि को तंत्र-मंत्र आदि द्वारा अदृश्य रूप से बांध दिया जाए तो उसकी प्रगति रुक जाती है... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंउपायविविध

मार्च 2010

व्यूस: 5870

क्रिस्टल की उपयोगिता

सामान्य व्यक्ति के लिए स्फटिक हमेशा एक रहस्यमय या सामान्य पदार्थ ही बना रहा ओर वे इसका लाभ नहीं उठा सके परन्तु हाल ही में गहन वैज्ञानिक अनुसाधनों ने व रहस्य शोधक चिकित्सकों ने सैकड़ों प्रयोगों से इसकी उपचारक शाक्तियों को स्थापित क... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंविविध

दिसम्बर 2012

व्यूस: 5720

अधिक मास : कब और क्यों

वर्ष २००७ में दो ज्येष्ठ मास होंगे। इन्हें प्रथम ज्येष्ठ व् द्वितीय ज्येष्ठ के नाम से जाना जाता है। दो मास में चार पक्ष हो जाते है। प्रथम ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष से शुरू होता है। तदुपरांत प्रथम ज्येष्ठ का शुक्ल पक्ष, द्वितीय ज्येष्ठ का... और पढ़ें

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंज्योतिषीय विश्लेषणज्योतिषीय योगआकाशीय गणित

मई 2007

व्यूस: 5566

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)