टैरो कार्ड: भविष्य जानने की आकर्षक विधा

टैरो कार्ड: भविष्य जानने की आकर्षक विधा  

क्या है टैरो कार्ड टैरो वास्तव में चित्रों के माध्यम से भविष्य जानने की कला है। जिस तरह से हाथों की रेखाओं या कुंडली के द्वारा ज्योतिष शास्त्र में भविष्य जाना जाता है उसी तरह यह विधा संकेत, चित्र, अंक, रंग ज्योतिष तथा पाँच तत्व जल, अग्नि, वायु, पृथ्वी और आकाश आदि के द्वारा मानव जीवन की उलझनों को सुलझाने में सहायक है। यह विधा एक साथ अंकशास्त्र, रंग चिकित्सा तथा ज्योतिष का कॉम्बिनेशन है। इसमें हर रंग, चित्र और अंक का एक निश्चित अर्थ है। टैरो में 78 कार्ड होते हैं। 22 मेजर कार्ड और 56 माइनर कार्ड होते हैं। इनमें 14-14 के सेट होते हैं। यह सेट पानी, आग और वायु आदि का प्रतिनिधित्व करते हैं। कैसे जाना जाता है भविष्य टैरो कार्ड विधा के अनुसार हमारा भविष्य हमारे ही अवचेतन (सबकाँशस) में फीड होता है। जैसे गीता के अनुसार हम सबके मन में एक संकल्प होता है और हम उसे अवश्य पूरा करते हैं। वैसे ही टैरो कार्ड कहता है कि हमारा भविष्य हमारे ही भीतर सुरक्षित है, हमें बस उसे पढ़ना है। यह एक ब्रिज है जिसके द्वारा आप अपने सबकाँशस से जुड़ते हैं। भारतीय परिप्रेक्ष्य में यह विधा आध्यात्मिकता से जुड़ कर और अधिक विश्वसनीय हो जाती है। कैसे पूछें प्रश्न और जानंे टैरो भविष्यवाणी सबसे पहले आप जो भी प्रश्न पूछना चाहते हैं उसे एक बार अपने मन में अच्छी तरह से दोहरा लें या अधिक स्पष्टता के लिए प्रश्न को किसी कागज पर लिख लें। इसके बाद ‘कार्ड चुनें’ एक के बाद एक कर तीन कार्ड्स चुनें। पहला कार्ड आपके प्रश्न पूछते समय की मनःस्थिति को दर्शाता है। दूसरा कार्ड आपको आपकी इच्छाओं की पूर्ति के लिए जो प्रयत्न करने होंगे, उन्हें बताता है। तीसरा और अंतिम कार्ड आपको परिणामस्वरूप आपके प्रश्न का उत्तर देता है। कितने प्रतिशत सही होती है टैरो कार्ड रीडिंग यह इस बात पर निर्भर करता है कि प्रश्नकर्ता की मनःस्थिति कितनी अनुकूल है। अगर कार्ड उठाते समय कोई परेशानी है, संदेह या उद्विग्नता है तो कार्ड भी कन्फ्यूजिंग आ सकता है। जरूरी है कि कार्ड पिक करते समय व्यक्ति एकदम ब्लैंक यानी कोरे कागज की तरह हो। बिना किसी आशंका और पूर्वाग्रह के पवित्र भाव से पूछे गए प्रश्नों का उत्तर 90-99 प्रतिशत सही होता है। किन क्षेत्रों के लिए उपयुक्त होती है टैरो कार्ड रीडिंग जीवन के किसी भी क्षेत्र के लिए उपयुक्त हो सकती है। खासकर जब आपकी निर्णय क्षमता कमजोर हो रही हो तब यह आपके सही रास्ता चुनने में मददगार साबित होती है। अक्सर दोराहे पर खड़े होकर हमें यह नहीं समझ आता कि हम किस राह को अपनाएं तब टैरो आपकी उलझन दूर करता है। क्रिकेट मैच, जुआ, सट्टा आदि में शत-प्रतिशत भविष्यवाणी की गारंटी नहीं होती क्योंकि 11 लोगों की ऊर्जा एक साथ नहीं पढ़ी जा सकती है। हाँ, इतना अवश्य है कि किसी खिलाड़ी-विशेष का प्रदर्शन कैसा रहेगा, यह बताया जा सकता है। टैरो से सबसे ज्यादा पूछे जाने वाले प्रश्न इसके प्रति युवा वर्ग में जबर्दस्त आकर्षण है। लव लाइफ और करियर से संबंधित प्रश्न सबसे ज्यादा पूछे जाते हैं क्योंकि टैरो बताता है कि आपका पहला कदम सही है या गलत। हम सभी जानते हैं कि जीवन में इस पहले कदम का ही महत्व होता है। महत्वपूर्ण कार्ड्स में भी सकारात्मक और नकारात्मक दोनों तरह के कार्ड होते हैं जो व्यक्ति के भविष्य और उससे जुड़ी बातों की ओर इशारा करते हैं। यदि कहा जाए कि टैरो समाधान के रूप में है तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। यदि व्यक्ति के सवाल के जवाब में सामान्य कार्ड भी निकलते हैं तो भी बहुत सारी जानकारियाँ मिल जाती हैं। यदि महत्वपूर्ण कार्ड निकलता है तो उस काम के होने की संभावनाएँ ज्यादा प्रबल हो जाती हैं। टैरो कार्ड राशि से आपका करियर जिस प्रकार ज्योतिष शास्त्र द्वारा व्यक्ति के भूत, वर्तमान, भविष्य के अनछुए पहलुओं को जाना जा सकता है। उसी प्रकार टैरो कार्ड द्वारा भी व्यक्ति अपने भूत, वर्तमान व भविष्य के अनेक पहलुओं जैसे- स्वास्थ्य, शिक्षा, करियर, वैवाहिक जीवन, व्यापार, माता-पिता व अन्य रिश्तों के बारे में जान सकता है। करियर को सजाने-सँवारने के मौके यदि व्यक्ति चूक गया तो उसकी आर्थिक तरक्की को ग्रहण लग जाता है जिससे जीवन में कई प्रकार की कठिनाइयाँ व परेशानियाँ आने लगती हैं। करियर को निखारने हेतु आप टैरो कार्ड राशि के अनुसार रोजगार के क्षेत्रों का चुनाव कर सकते हैं। इससे संबंधित क्षेत्रों में मन लगेगा तथा सफलता के करीब पहुँचेंगे। मेष - (21 मार्च से 20 अप्रैल ) टैरो कार्ड में मेष राशि को एम्परर दर्शाता है। यह मेजर अरकाना का चैथा कार्ड है। इस राशि के जातकों को टैरो के अनुसार निम्न विषयों को करियर निखारने हेतु चुनना चाहिए जैसे- प्रबंधन, प्रशासन, कानून, कला, वित्त, बैंकिंग, वाणिज्य, सैन्य आदि क्षेत्रों में इस कार्ड के जातक सफलता का परचम लहरा सकते हैं। वृषभ - (21 अप्रैल से 20 मई ) वृषभ राशि को टैरो कार्ड में हाईरोफैंट दर्शाता है। यह मेजर अरकाना का पाँचवाँ कार्ड है। टैरो के अनुसार इस राशि के जातकों को सफल करियर हेतु चिकित्सकीय विज्ञान, कला, अध्यात्म, सूचना प्रौद्योगिकी, कानून, प्रशासनिक सेवा, सिविल सेवा, व्यापार आदि रोजगारपरक विषयों का चुनाव करना चाहिए। टैरो के अनुसार ये एक सफल व्यापारी, धार्मिक आस्था वाले और न्याय प्रिय तथा मेहनतकश होते हैं। मिथुन - (21 मई से 21 जून ) मिथुन राशि को मेजर अरकाना का छठा व लवर कार्ड दर्शाता है। इस राशि के जातकों को अपने करियर में उन्नति पाने हेतु टैरो के अनुसार साहित्य, संगीत, तकनीक, सौंदर्य, अध्यापन, सैन्य, लेखन, वाणिज्य, व्यापार, वित्त, सरकारी सेवाओं से संबंधित विषयों को चुनना चाहिए। इस राशि के जातक संगीतज्ञ, बुद्धिमान, और साझे के व्यापार में बड़ी निपुण् ाता से सफल होते हैं। कर्क - (22 जून से 22 जुलाई) टैरो में कर्क राशि चैरियट है। यह मेजर अरकाना का सातवाँ कार्ड है। इस राशि के जातकों को करियर चमकाने हेतु प्रबंधन, वाणिज्य, अर्थशास्त्र, चिकित्सकीय विज्ञान, सूचना प्रौद्योगिकी, प्रशासन व सिविल सेवाओं के विषयों का चुनाव करना चाहिए। इस राशि के जातक कला मे निपुण व योग्य तथा प्रगतिशील होते है। सिंह - (23 जुलाई से 23 अगस्त) सिंह को टैरो में स्ट्रेंथ कार्ड दर्शाता है। यह मेजर अरकाना के आठवें नंबर का कार्ड है। इस राशि के जातकों को टैरो के अनुसार अपना करियर सँवारने हेतु वित्त, बैंकिंग, सूचना प्रौद्योगिकी, तकनीक, प्रबंध् ान, कानून, न्याय, धर्मशास्त्र, चिकित्सा विज्ञान आदि विषयों का चुनाव करना चाहिए। इस राशि के जातक टैरो के अनुसार हिम्मत व जोश से परिपूर्ण होते हैं तथा शत्रु को पराजित करने की क्षमता रखते हैं। ये कार्य-कुशल व निर्णय लेने में दक्ष होते हैं। कन्या - (24 अगस्त से 23 सितंबर ) टैरो कार्ड में कन्या राशि को हरमिट का कार्ड दर्शाता है। यह मेजर अरकाना के अंतर्गत नौवें नंबर का कार्ड है। इस राशि के जातकों को अपने करियर को उज्ज्वल बनाने हेतु कानून, तकनीक, चिकित्सा, साहित्य, शोध, अध्यापन, प्रशासन, सैन्य व पत्रकारिता तथा उत्पादन से संबंधित विषयों का चुनाव करना चाहिए। टैरो के अनुसार यह स्वयं के व्यापार में सफल होते हैं। ये कुशल वक्ता, बुद्धिमान तथा संकट में हिम्मत से काम लेने वाले होते हैं। तुला-(24 सितंबर से 23 अक्टूबर) तुला राशि को जस्टिस कार्ड से जाना जाता है। इसे मेजर अरकाना के ग्यारहवें नंबर का कार्ड माना गया है। टैरो कार्ड के अनुसार सुखद करियर हेतु आप कला, साहित्य, विज्ञान, सूचना प्रौद्योगिकी, वाणिज्य, तकनीकी, राजनीति, अध्यात्म, कानून के विषयों को चुन सकते हैं। टैरो के अनुसार इस राशि के जातक न्यायप्रिय और नेतृत्व की क्षमता रखते हैं। वृश्चिक - (24 अक्टूबर से 22 नवंबर ) टैरो कार्ड के अन्तर्गत वृश्चिक राशि को मून से जाना जाता है। यह कार्ड मेजर अरकाना के अठारहवें कार्ड के रूप में दर्शाया गया है। करियर को सफलता के सोपान पर ले जाने हेतु टैरो कार्ड के अनुसार आप तकनीकी, सैन्य, प्रशासन, वाणिज्य, कला, दवा व यांत्रिक वस्तु बनाने से संबंधित विषयों को चुन सकते हैं। वित्त व व्यापार के क्षेत्रों में टैरो के अनुसार इस राशि के जातक तरक्की करते हैं। धनु - (23 नवंबर से 21 दिसंबर) धनु राशि को टैरो के अंतर्गत टैम्पेरेंस कार्ड से दर्शाया गया है। यह मेजर अरकाना का आठवाँ कार्ड है। टैरो के अनुसार इस राशि के जातकों को जीवन में करियर को निखारने हेतु अध्यापन, कानून, प्रशासन, कला, साहित्य, सौंदर्य, सैन्य, सुरक्षा, प्रबंधन के विषयों का चुनाव करना चाहिए। इस राशि के जातक साहसी तथा विवेकपूर्ण कार्य संचालित करने वाले होते हैं। अन्याय सहना इनके लिए कठिन होता है। मकर-(22 दिसंबर से 21 जनवरी) मकर राशि के जातकों को टैरो में डेविल कार्ड से दर्शाया गया है। यह मेजर अरकाना के चैदहवें कार्ड का प्रतिनिधित्व करता है। मकर राशि के जातकों को करियर में सफलता के शिखर तक पहुँचने हेतु लेखन, तकनीकी, वाणिज्य, सूचना प्रौद्योगिकी, न्यायिक व कानूनी सुरक्षा, अध्यापन आदि विषयों का चुनाव करना चाहिए। टैरो के अनुसार इस राशि के जातक मेहनतकश होते हंै। इन्हें सहपाठियों से मिलजुल कर चलना चाहिए। कुंभ - (22 जनवरी से 19 फरवरी ) टैरो में कुंभ राशि को स्टार कार्ड से दर्शाया गया है। यह मेजर अरकाना का सत्रहवाँ कार्ड है। टैरो के अनुसार कुंभ राशि के जातक अपने करियर को सफल बनाने हेतु वाणिज्य, वनस्पति विज्ञान, गणित, कला, प्रबंधन, चिकित्सा शास्त्र, अध्यापन आदि के विषयों का चुनाव कर सकते हैं। मीन - (20 फरवरी से 20 मार्च ) मीन राशि को टैरो में पेज ऑफ कप के कार्ड से दर्शाया गया है। यह माइनर अरकाना के कार्ड का प्रतिनिधित्व करती है। यह कार्ड रिश्ते और जातकों के हाव-भाव की स्थिति के साथ करियर को सँवारने हेतु कानून, सूचना प्रौद्योगिकी, तकनीक, सौंदर्य विज्ञान, वित्त, कला, सैन्य, प्रशासन, प्रबंधन आदि के विषयों के चुनाव की ओर इशारा करती है। टैरो के अनुसार इस राशि के जातक न्यायप्रिय, साहसी तथा सुडौल होते हैं।


टैरो विशेषांक  आगस्त 2015

फ्यूचर समाचार के टैरो कार्ड विशेषांक में फलकथन की लोकप्रिय पद्धति के परिचय, इतिहास, पत्तों की व्याख्या आदि विषयों पर आकर्षक व सारगर्भित लेखों के अतिरिक्त सामयिक चर्चा के अन्तर्गत गुरु के गोचरीय प्रभाव को शामिल किया गया है। इस अंक में मानबी बन्दोपाध्याय के जीवन पर सत्य कथा, भरत चरित्र, एडोल्फ हिटलर की जीवनी का ज्योतिषीय विश्लेषण, नैतिक ढंग से वश में करने के लिए क्या करें?, पंचांग देखे बिना तिथि बताना आदि लेख बहुत रोचक हंै। विचार गोष्ठी में प्राकृतिक आपदा के ज्योतिषीय कारणों की व्याख्या की गई है। विशेषकर महिलाओं के लिए ज्योतिष एवं महिलाएं नामक शीर्षक के अन्तर्गत आप और आपके जीवन साथी के बारे में आपकी राशि के आधार पर बताया गया है। अन्य स्थायी स्तम्भों में श्रवण मास में विशिष्ट शिव साधनाओं के बारे में रोचक जानकारी दी गई है। पंच-पक्षी, वास्तु परामर्श, अस्पताल का वास्तु, ग्रह गोचर एवं व्यापार, मुहूर्त एवं पचांग सम्बन्धी जानकारी तथा हैल्थ कैप्सूल दृष्टव्य हैं।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.