नैतिक ढंग से वश में करना

नैतिक ढंग से वश में करना  

आधुनिक युग में इंसान हर सुख जल्दी से पाना चाहता है। जो सुख उसके भाग्य में नहीं भी होता उसे पाने के लिए हर तरह के कार्य करने के लिए तत्पर रहता है चाहे वह गलत ही क्यों न हो। अधिकतर देखा गया है कि इंसान इसी प्रवृत्ति के कारण जुर्म के रास्ते पर निकल पड़ता है। जातक कुछ अवैज्ञानिक विज्ञापनों से प्रभावित होता है जैसे दो दिन में प्रेमिका को वश में करें, एक दिन में नौकरी या विदेश जाने का वीजा, मेरा किया कोई काट नहीं सकता इत्यादि। इस तरह के वशीकरण के विज्ञापन पढ़ या सुनकर सब कुछ एक रात में पा लेना चाहता है किंतु वास्तविक जीवन में ऐसा कुछ नहीं होता। वशीकरण तभी कारगर होता है जब आपकी समस्या स्वाभाविक और नैतिक हो और किसी को शारीरिक व मानसिक कष्ट न दिया जाये और सबसे बड़ी बात आपकी भावना अच्छी होनी चाहिए। गलत भावना व अनैतिक ढंग से की गई वशीकरण विधि या टोटका कभी कारगर नहीं हो पायेंगे। अगर किसी स्त्री जातक का पति दूसरी औरत या कुसंगति के कारण गलत स्त्री के चंगुल में फंस गया हो तो क्या करें? वीरवार या शुक्रवार की रात 12 बजे पति के चोटी वाले स्थान से कुछ बाल चुपचाप काट लें। उन बालों को जलाकर पैरों से रगड़ कर घर से बाहर फेंकंे। इस प्रकार आप अपने पति में धीरे-धीरे सुधार देखेंगे और वे आपकी बात भी मानने लगेंगे। अगर किसी जातक की पत्नी गलत संगत या दूसरे व्यक्ति के चक्कर में हो तो जातक क्या करे? रविवार के दिन घर में गूगल की धूनी जलायें। गूगल को जलाते समय उस व्यक्ति का नाम लें जिसकी वजह से आपकी पत्नी गलत संगत में फंस गई है, यह प्रक्रिया हर रविवार को करें। धीरे-धीरे आप इसका असर देखेंगे। अगर मां को लगे कि उसका बेटा उसकी बात नहीं मानता व बेटा गलत कार्यों में लिप्त होता जा रहा है तो क्या करें? मां को अपनी मांग का टीका लड़के के माथे पर लगाना चाहिए। धीरे-धीरे लड़का मां की बात मानने लग जायेगा और गलत कार्यों से भी दूर होगा। अगर बाप को लगे कि उसका बेटा उसकी नहीं सुनता और हमेशा बाप से उखड़ा-उखड़ा रहता है तो ऐसी स्थिति में क्या करें? बाप शुद्ध शहद में चंदन तथा खस का चूर्ण मिलाकर अपने माथे पर तिलक लगाये और रोज अपने बेटे को गले से लगाये। इससे न केवल बाप व बेटे में प्यार बढ़ेगा बल्कि धीरे-धीरे पुत्र बाप की बात भी मानने लगेगा। अगर आपका शत्रु आपको तंग कर रहा है और आप उसे अपने वश में करना चाहते हैं ताकि वह आपको तंग न करे तो आप क्या करें? एक भोजपत्र लें। उसपर शुद्ध लाल चंदन से अनार की कलम से शत्रु का नाम लिखें और उसे एक शुद्ध शहद की डिब्बी में डुबो कर रखें। इससे धीरे-धीरे शत्रु आपके वश में आने लगेगा व आपको तंग करना बंद कर देगा। अगर जहां पर आप नौकरी करते हैं। आपके उच्च अधिकारी और साथी अधिकारियों से नहीं बनती जिसकी वजह से आपको नौकरी में परेशानियों का सामना करना पड़ता है ऐसी स्थिति में आप क्या करें? चंदन, गोरोचन, रोली व कपूर को सम मात्रा में लेकर इन सब को अच्छी तरह पीस लें और इस मिश्रण का तिलक आप प्रतिदिन कार्य पर जाने से पहले लगाकर जायें। धीरे-धीरे आपका अपने उच्च व साथी अधिकारियों से समन्वय व प्यार बनेगा और कार्य में भी आपका मन लगेगा। नोट: उपरोक्त बताये गये वशीकरण के उपाय तभी कारगर होंगे जब आप की भावना न्याय संगत होगी। गलत सोच, ईष्र्या व प्रतिरोध की भावना से किया गया वशीकरण या टोटका कारगर नहीं होता


टैरो विशेषांक  आगस्त 2015

फ्यूचर समाचार के टैरो कार्ड विशेषांक में फलकथन की लोकप्रिय पद्धति के परिचय, इतिहास, पत्तों की व्याख्या आदि विषयों पर आकर्षक व सारगर्भित लेखों के अतिरिक्त सामयिक चर्चा के अन्तर्गत गुरु के गोचरीय प्रभाव को शामिल किया गया है। इस अंक में मानबी बन्दोपाध्याय के जीवन पर सत्य कथा, भरत चरित्र, एडोल्फ हिटलर की जीवनी का ज्योतिषीय विश्लेषण, नैतिक ढंग से वश में करने के लिए क्या करें?, पंचांग देखे बिना तिथि बताना आदि लेख बहुत रोचक हंै। विचार गोष्ठी में प्राकृतिक आपदा के ज्योतिषीय कारणों की व्याख्या की गई है। विशेषकर महिलाओं के लिए ज्योतिष एवं महिलाएं नामक शीर्षक के अन्तर्गत आप और आपके जीवन साथी के बारे में आपकी राशि के आधार पर बताया गया है। अन्य स्थायी स्तम्भों में श्रवण मास में विशिष्ट शिव साधनाओं के बारे में रोचक जानकारी दी गई है। पंच-पक्षी, वास्तु परामर्श, अस्पताल का वास्तु, ग्रह गोचर एवं व्यापार, मुहूर्त एवं पचांग सम्बन्धी जानकारी तथा हैल्थ कैप्सूल दृष्टव्य हैं।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.