पेप्टिक अल्सर

पेप्टिक अल्सर

अविनाश सिंह

आयुर्वेदिक दृष्टिकोण: आयुर्वेद के अनुसार मानव शरीर में अग्नि मूल है। जब तक शरीर में अग्नि संतुलित रहती है तब तक स्वास्थ्य का अनुवर्तन होता रहता है। इसलिए शरीर में प्राण और स्वास्थ्य अग्नि मूलक हैं। शरीर में मंदाग्नि रहने से... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यभविष्यवाणी तकनीक

जून 2016

व्यूस: 2715

ग्रहों के अशुभ प्रभाव देते हैं हृदय विकार

आज हृदय रोगियों की संख्या में निरंतर वृद्धि होती जा रही है। हमारे खान-पान एवं जीवन शैली के अतिरिक्त जन्मकुंडली में स्थित ग्रहों का प्रभाव भी हृदय पर पड़ता है। हृदय रोग के ज्योतिषीय कारक क्या हैं, जानने के लिए पढ़िए यह आलेख...... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यग्रहभविष्यवाणी तकनीक

अकतूबर 2006

व्यूस: 2931

मधुमेह रोग में ग्रहों की भूमिका

ज्योतिष वेद का नेत्र है तथा फलित उस नेत्र की ज्योति है। अध्ययन, ज्ञान ही ज्योति स्वरूप है। ज्योति को जानने वाला ज्योतिषी है। यह अत्यन्त कठिन एवं संवेदनशील विज्ञान है। ज्योतिष के माध्यम से हम घटनाओं का आकलन कर सकते हैं। सभी व्यक्... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यज्योतिषीय विश्लेषणग्रहहस्तरेखा सिद्धान्त

जुलाई 2016

व्यूस: 2679

मोटापा बढ़ाने वाले ग्रह योग

मोटापा आजकल संक्रामक रूप में फैल रहा है। इससे बच्चे व बड़े सभी प्रभावित हैं। इसका मुख्य कारण है फास्ट फूड और चाॅकलेट का अधिक सेवन तथा कम से कम शारीरिक श्रम करना जिससे अतिरिक्त कैलौरी धीरे-धीरे जमा होकर शरीर को मोटा करती है। ... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यज्योतिषीय विश्लेषणविविधग्रहभविष्यवाणी तकनीक

मई 2017

व्यूस: 3396

रत्नों का चिकित्सा में प्रयोग

मनुष्य को प्रकृति की अनुपम भेंट रत्न न केवल आभूषण के रूप में उपयोग किए जाते हैं बल्कि इनमें अनेक औषधीय गुण भी होते हैं। किंतु, बिना सोचे-समझे इनका उपयोग हानिकारक भी हो सकता है। प्रस्तुत आलेख में विभिन्न रत्नों के गुणों और विभिन... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यरत्नभविष्यवाणी तकनीक

मई 2006

व्यूस: 2890

कैसे करें आयुर्वेदिक नुस्खों से वेट लाॅस?

मोटापा एक अभिशाप है। इससे व्यक्ति की शारीरिक क्षमता कम हो जाती है फिर धीरे-धीरे रोग व्यक्ति को घेर लेते हैं। व्यक्ति यदि एक बार मोटापे का शिकार हो गया तो फिर पतले होने में दिक्कतें आती हैं। हर व्यक्ति पतला, छरहरा, सुडौल नजर... और पढ़ें

स्वास्थ्यविविध

मई 2017

व्यूस: 2505

आपका स्वास्थ्य और अंकशास्त्र

आपका स्वास्थ्य और अंकशास्त्र

राजेंद्र शर्मा ‘राजेश्वर’

अंकशास्त्र की उपयोगिता जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में लक्षित होती है। जातक का स्वभाव, वाहन, मकान व लॉटरी के नंबर, कंपनी का चयन, मेलापक, शेयर बाजार आदि सभी में अंकों की उपयोगिता सर्वोपरि होती है। आपके मूलांक में ही वे सभी योग्यताएं, ... और पढ़ें

स्वास्थ्यअंक ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

जुलाई 2011

व्यूस: 13482

संग्रहणी पेट का गंभीर रोग

संग्रहणी रोग में शरीर में वसा का भंडार कम हो जाता है। इसके कारण शरीर के सारे अंग सिकुड़कर छोटे हो जाते हैं। आइए जानें, विभिन्न लग्नों में संग्रहणी रोग का ज्योतिषीय विश्लेषण... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यज्योतिषीय विश्लेषणभविष्यवाणी तकनीकराशि

जून 2011

व्यूस: 81491

रक्त चाप

रक्त चाप

अविनाश सिंह

रक्त का संचार होने से जो दबाव रक्त कोशिकाओं पर पड़ता है वही रक्त चाप कहलाता है। रक्त शरीर के पोषक घटकों को सूक्ष्म कोषों तक पहुंचाता है। किंतु रक्त को वहन करने में हृदय और रक्तवाही संस्थान मुख्य भूमिका निभाते हैं। इन दोनों क... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यविविधभविष्यवाणी तकनीक

जुलाई 2016

व्यूस: 3279

काली मिर्च

काली मिर्च

फ्यूचर पाॅइन्ट

साबुत काली मिर्च आदि काल से ही भारत में उगाई जाती रही है और एक कीमती वस्तु के रूप में इसका इस्तेमाल होता रहा है। इसका केवल भोजन में मसाले के रूप में ही नहीं, अपितु इसे व्यापार में पैसे के स्थान पर इस्तेमाल किया जाता रहा है।... और पढ़ें

स्वास्थ्यविविध

सितम्बर 2006

व्यूस: 3315

हृदय रोग के ज्योतिषीय कारण और निवारण

हृदय रोग के ज्योतिषीय कारण और निवारण

राजेंद्र शर्मा ‘राजेश्वर’

हृदय मनुष्य के शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। संपूर्ण शरीर में रक्त संचरण का दायित्व भी हृदय का है। हृदय शुद्ध एवं स्वच्छ रक्त से स्वस्थ रहता है। हृदय कष्ट में हो तो दर्द होता है। हृदय क्षमता से अधिक कार्य कर सकता है। हृदय क... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यउपायज्योतिषीय विश्लेषणभविष्यवाणी तकनीक

जुलाई 2017

व्यूस: 2719

हृदय रोग से संबंधित ज्योतिषीय योग

- यदि षष्ठेश केतु के साथ हो तथा बृहस्पति, सूर्य, बुध व शुक्र अष्टम भाव में, चतुर्थ भाव में केतु हो तो हृदय रोग होता है। - चतुर्थ व पंचम भाव में पाप ग्रह हो या पाप प्रभाव हो। - पंचमेश तथा द्वादशेश एक साथ त्रिक भाव (6-8-12 भा... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यज्योतिषीय योग

जुलाई 2017

व्यूस: 2552

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)
horoscope