राशि -ग्रह-नक्षत्र के अनुसार रुद्राक्ष धारण

मई 2010

व्यूस: 23926

वर्तमान समय में शुद्ध एवं दोषमुक्त रत्न बहुत कीमती हो चले हैं, जिससे वे जनसाधारण की पहुंच से बाहर है। अतः विकल्प के रूप में रूद्राक्ष धारण एक सरल एवं सस्ता उपाय है। ग्रह राशि नक्षत्र के अनुसार रूद्राक्ष धारण का संक्षिप्त विवरण यहा... और पढ़ें

ज्योतिषअंक ज्योतिषउपायनक्षत्रव्यवसायरूद्राक्षराशि

लग्नानुसार विदेश यात्रा के प्रमुख योग

अप्रैल 2013

व्यूस: 22680

जन्मकुंडली के द्वादश भावों में से प्रमुखता, अष्टम भाव, नवम, सप्तम, बारहवां भाव विदेश यात्रा से सम्बंधित है। तृतीय भाव से भी लघु यात्राओं की जानकारी ली जाती है।... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगज्योतिषीय योगभविष्यवाणी तकनीकराशि

रक्तयुक्त पेचिशः खूनी दस्त

अप्रैल 2011

व्यूस: 22303

पत्रिका के इस स्थाई स्तंभ में इस बार गर्मी और वर्षा के मौसम में होने वाली रक्त युक्त पेचिष नाम की इस बीमारी के कारण लक्षण तथा उपचार की महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है। विभिन्न लग्नों में ग्रह योगों के आधार पर भी इस रोग की संभावनाओं का... और पढ़ें

स्वास्थ्यउपायहस्तरेखा सिद्धान्तराशि

लाल किताब वर्षफल

सितम्बर 2015

व्यूस: 19048

लाल किताब वर्षफल

डॉ. अरुण बंसल

लाल किताब वर्षफल बनाने का ढंग वैदिक ज्योतिष से बिल्कुल अलग है। वैदिक ज्योतिष में वर्षफल में सूर्य जन्मकालीन स्थिति पर ही आ जाता है। वर्ष में सूर्य के अंश, कला, विकला वही होते हैं जो जन्म के होते हैं।... और पढ़ें

ज्योतिषउपायलाल किताबभविष्यवाणी तकनीकराशि

पित्ताशय की पथरी

फ़रवरी 2010

व्यूस: 17215

पित्ताशय की पथरी

अविनाश सिंह

पित्ताशय की पथरी होने के कई कारण है। लेकिन मुख्य कारण आहार है। असंयमित भोजन से पाचन क्रिया मंद हो जाती है जिसके फलस्वरूप दूषित द्रव्य संचित होकर पथरी का रूप धारण कर लेते हैं। आइए इस रोग के ज्योतिषीय कारणों का भी पता लगाएं ......... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यउपायविविधराशि

लग्नानुसार रत्न निर्धारण

मई 2014

व्यूस: 16640

रत्नों का ज्योतिष में महत्व अत्यंत प्राचीन है। ग्रहों को अनुकूल बनाने हेतु रत्न धारण किये जाते हैं। ग्रहों के अनुसार रत्न इस प्रकार हैं: ग्रह रत्न सूर्य माणिक्य चंद्र मोती मंगल मंूगा बुध पन्ना गुरु पुखराज शुक्र हीरा शनि... और पढ़ें

ज्योतिषउपायरत्नराशि

अच्छे अंक प्राप्ति के टोटके

फ़रवरी 2010

व्यूस: 14992

आजकल की इस तेज रफ्तार युग में हर व्यक्ति जल्द से जल्द सफल व संपन्न हो जाना चाहता है जिसके लिए वह अच्छी शिक्षा प्राप्त कर बड़ी से बड़ी नौकरी व आजीविका करना चाहता है।... और पढ़ें

उपायशिक्षाटोटकेराशि

राहु के राशि परिवर्तन का विभिन्न राशियों में प्रभाव एवं उपाय

फ़रवरी 2013

व्यूस: 14364

राहु १४ जनवरी २०१३ को सायंकाल ७:१८ बजे तुला राशि में प्रवेश कर चुके हैं। दृष्टव्य है की शनि पहले से ही तुला राशि में गोचर कर रहे हैं। इस प्रकार राहु व् शनि की युति विषयोग का निर्माण कर रही हैं।... और पढ़ें

ज्योतिषग्रहभविष्यवाणी तकनीकगोचरराशि

कुष्ठ रोग

जनवरी 2010

व्यूस: 13949

कुष्ठ रोग

अविनाश सिंह

कुष्ठ रोग त्वचा से प्रारंभ होता है। जब त्वचा की सभी मुख्य परतें दूषित और बाहरी जीवाणुओं की रोकथाम करने में असमर्थ हो जाती है तो कुष्ठ रोग होने की संभावना बढ़ जाती है। प्रस्तुत है कुष्ठ रोग के ज्योतिषीय योग... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यउपायराशि

विभिन्न लग्नों के लिए रत्न / रूद्राक्ष चयन

मई 2014

व्यूस: 13889

प्रत्येक लग्न के लिए एक ग्रह ऐसा होता है जो योगकारक होने के कारण शुभ फलदाई होता है। यदि ऐसा ग्रह कुण्डली में बलवान अर्थात् उच्चराषिस्थ, स्वराषि का या वर्गोत्तमी होकर केन्द्र या त्रिकोण भाव में शुभ ग्रह के प्रभाव में स्थित हो व इस ... और पढ़ें

ज्योतिषउपायरत्नरूद्राक्षराशि

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)