नवग्रहों से रोग ज्ञान

नवग्रहों से रोग ज्ञान

फ्यूचर पाॅइन्ट

रोग दो तरह के होते हीं- दोषज एवं कर्मज। जिन रोगों का उपचार दवाओं से हो जाता हों, उन्हें दोषज तथा जिनका उपचार दवाओं से नहीं हो उन्हें कर्मज कहते है। कर्मज रोग मनुष्य को पूर्व जन्म के बुरे कार्यों और पापी ग्रहों से पीड़ित होने के कार... और पढ़ें

ज्योतिषस्वास्थ्यमंत्रग्रहभविष्यवाणी तकनीक

सितम्बर 2006

व्यूस: 16732

महान् मंत्र शक्ति

महान् मंत्र शक्ति

शुभेष शर्मन

संसार में एक मात्र सत्य सनातन भारतीय हिंदू संस्कृति ही ऐसी है जिसमें मंत्राराधना तथा प्रार्थना के द्वारा जीवन की समस्त समस्याओं को सान्त्वना मिलती है। यहां तक कि जन्म जन्मांतर के दोषों का समाधान भी मंत्राराधना द्वारा किया जा सकता ... और पढ़ें

देवी और देवउपायमंत्र

अप्रैल 2010

व्यूस: 16566

सुख-समृद्धि हेतु शाबर मंत्र प्रयोग

सुख-समृद्धि हेतु शाबर मंत्र प्रयोग

ब्रजकिशोर शर्मा ‘ब्रजवासी’

वर्तमान में ज्यादातर मनुष्य रोजगार से चिंतित रहते हैं। उच्च शिक्षा प्राप्त करने पर भी कार्य नहीं मिल पाता। क्या करें? क्या न करें? यही विचार मस्तिष्क में चलता रहता है। लोग व्यापार करते हैं, लाभ प्राप्त नहीं हो पाता, हो... और पढ़ें

ज्योतिषउपायअध्यात्म, धर्म आदिमंत्र

सितम्बर 2014

व्यूस: 16152

लक्ष्मी प्राप्ति एवं समृद्धि के उपाय

मात्स्ये - दीपैर्नीराजनादत्र सैषा दीपावलीस्मृता। मत्स्य पुराण के अनुसार अनेक दीपकों से लक्ष्मी का नीराजन (आरती) करने को दीपावली कहते हैं। दीपावली के दिन सिंह लग्न में लक्ष्मी एवं गणेश के पूजन का विशेष माहात्म्य है। इस दिन... और पढ़ें

उपायमंत्रभविष्यवाणी तकनीकसंपत्ति

नवेम्बर 2014

व्यूस: 15564

मंत्र से ध्यान एवं समाधि तक

जीवन की समस्याओं को दूर करने में मंत्र की उपयोगिता और उसके सहारे समाधि तक की यात्रा का विवरण और उसके प्रत्यक्ष लाभों का विस्तृत वर्णन यहां किया गया है।... और पढ़ें

उपायमंत्र

फ़रवरी 2011

व्यूस: 15542

भूत-प्रेत बाधा: पहचान और निदान शाबर मंत्र अनुष्ठान

भूत-प्रेतों की गति एवं शक्ति अपार होती है। इनकी विभिन्न जातियां होती हैं और उन्हें भूत, प्रेत, राक्षस, पिशाच, यम, शाकिनी, डाकिनी, चुड़ैल, गंधर्व आदि विभिन्न नामों से पुकारा जाता है।... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएंउपायमंत्रविविध

मार्च 2010

व्यूस: 14281

तंत्र का इतिहास एवं यक्षिणी साधना

तंत्र के रहस्यों को अपनी साधना में प्रयोग कर हमारे प्राचीन साधकों ने अनेकानेक सिद्धियां प्राप्त कीं। अलग-अलग संप्रदायों ने अपने ढंग से तंत्र को समझा और अपनाया। तंत्र की यह अवधारणा कहां से आई और विभिन्न प्रकार की साधनाएं कैसे ... और पढ़ें

देवी और देवअन्य पराविद्याएंमंत्रविविध

अकतूबर 2006

व्यूस: 13722

मां को प्रसन्न करने हेतु सरल सूत्र

जगतजननी, शक्ति स्वरूपा मां दुर्गा की उपासना एक ऐसा मार्ग है जिस पर चलकर मनुष्य सभी सुखों का उपभोग व अपने कर्तव्य का पालन करके मोक्ष प्राप्त करता है। प्रस्तुत है उनकी पूजा अर्चना के हेतु कुछ सरल सूत्र... और पढ़ें

देवी और देवउपायमंत्र

अकतूबर 2010

व्यूस: 13645

उपायों में मंत्र व उपासना का महत्व

जन्मकुंडली के क्रूर ग्रह मनुष्य के जीवन में प्रतिकूल एवं कठिन समस्या उत्पन्न करते हैं। इन अनिष्टकारी ग्रहों की शांति पूजा पाठ व मंत्र द्वारा संभव है। प्रस्तुत है नौ ग्रहों की शांति उपाय, बीज मंत्र व दान का विवरण।... और पढ़ें

उपायमंत्र

सितम्बर 2010

व्यूस: 13613

कालसर्प एवं द्वादश ज्योतिर्लिंग

कालसर्प योग की जन्मांग में उपस्थिति मात्र से जनसामान्य के मन में आतंक और भय की भावना उदित हो जाती हैं। कालसर्प योग से पीड़ित जन्मांग वाले जातकों का संपूर्ण जीवन अभाव अनवरत अवरोध, निरंतर असफलता, संतानहीनता, वैवाहिक जीवन में अनेक कष... और पढ़ें

ज्योतिषदेवी और देवस्थानउपायज्योतिषीय योगरत्नघरलाल किताबमंत्रग्रहमन्दिर एवं तीर्थ स्थल

मार्च 2013

व्यूस: 13524

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)