अन्य पराविद्याएं


कस्पल पद्धति

कस्पल पद्धति

आर.एस. चानी

लेख में प्रस्तुत कुंडली एक जातक की है जिसका जन्म 27.9.1974 को रात 23.05 बजे कोलकाता में हुआ। यह लेख लिखने तक इस जातक की आयु 41 वर्ष की हो चुकी है तथा अभी तक इस जातक का विवाह होना संभव नहीं हो पाया। कस्पल कुंडली के माध्यम से... more

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंविविधग्रहभविष्यवाणी तकनीक

लाल किताब ज्योतिष

लाल किताब ज्योतिष

यशकरन शर्मा

- पंचमेश (सूर्य), तृतीयेश (बुध), एवं षष्ठेश (बुध), नवमेश (गुरु) एवं दशमेश (शनि), प्रत्यक्ष या परोक्ष किसी न किसी रूप में पिता एवं पिता की संपत्ति के कारक हैं। - गुरु एवं सूर्य, गुरु एवं बुध तथा गुरु एवं शनि किसी भी भाव में ... more

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंभविष्यवाणी तकनीक

कस्पल पद्धति

कस्पल पद्धति

आर.एस. चानी

प्रस्तुत लेख में कस्पल ज्योतिष द्वारा व्यवसाय/नौकरी के बारे में कैसे जाना जाय यह समझाने की कोशिश की गई है। किसी भी कुंडली में किसी जातक के व्यवसाय के बारे में जानना हो तो कुंडली में लग्न और 10वें भाव की स्टडी की जाती है।... more

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंभविष्यवाणी तकनीक

बर्थ टाईम रेक्टीफिकेशन पार्ट-3

इस लेख के माध्यम से बर्थ टाइम रेक्टीफिकेशन को व्यावहारिक तौर पर समझने की कोशिश की गई है। यहां जिस कस्पल कुंडली का अध्ययन कर रहे हैं वह एक पुरुष जातक की कुंडली है जिसका जन्म 30 सितंबर 1979 को दोपहर 15ः45 बजे मालदा, पश्चिम बं... more

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंविविध

कस्पल पद्धति बर्थ टाईम रेक्टीफिकेशन पार्ट-2

पिछले लेख में रुलिंग प्लैनेट्स की सहायता से कुंडली को ठीक (करेक्ट) करने का तरीका प्रस्तुत किया गया था। अब इसी विचार को आगे बढ़ाते हुए किसी भी कस्पल कुण्डली का बर्थ टाईम रेक्टीफाई किस प्रकार इवेंट वैरीफिकेशन की सहायता से किया ... more

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंविविध

बर्थ टाईम रेक्टीफिकेशन कस्पल पद्धति

पिछले लेख में आपको बर्थ टाईम रेक्टीफिकेशन (बीटी. आर) करने के ठोस नियमों से अवगत करवाया गया था। इस लेख में एक उदाहरण की सहायता से बी. टी. आर. को समझाने का प्रयास किया गया है। पहले नियम यानि की रुलिंग प्लैनेट्स ;त्नसपदह च्सं... more

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंबाल-बच्चेग्रहभविष्यवाणी तकनीक

ग्रह स्थिति एवं व्यापार

कुछ क्षेत्रों में सांप्रदायिक और उपद्रवकारी तत्वों के उग्र और हिंसात्मक कार्यों से जन-धन की हानि का संकेत देता है और अशांति का वातावरण बनाएगा।... more

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंविविध

कस्पल पद्धति बर्थ टाईम रेक्टीफिकेशन

हर कस्पल कुंडली में सर्वप्रथम बर्थ टाईम रेक्टीफिकेशन (जन्म समय का शुद्धिकरण) करना अनिवार्य है क्योंकि कस्पल कुंडली में जिस भी भाव का प्रोमिस/ पोटेंशियल पढ़ना हो तो उस विशिष्ट भाव के सब सब लाॅर्ड से पढ़ा जाता है। सर्वप्रथम लग्... more

ज्योतिषअन्य पराविद्याएंज्योतिषीय विश्लेषणबाल-बच्चेभविष्यवाणी तकनीक

क्या हैं बंधन और उनके उपाय

बंधन अर्थात् बांधना। जिस प्रकार रस्सी से बांध देने से व्यक्ति असहाय हो कर कुछ कर नहीं पाता, उसी प्रकार किसी व्यक्ति, घर, परिवार, व्यापार आदि को तंत्र-मंत्र आदि द्वारा अदृश्य रूप से बांध दिया जाए तो उसकी प्रगति रुक जाती है और घर... more

अन्य पराविद्याएंउपायविविध

टैरो (तपस्वी: दी हरमिट)

टैरो डेक में तपस्वी कार्ड, नौ नंबर का कार्ड है। यह कार्ड सतर्कता व शांति का प्रतीक है। टैरो रीडिंग के दौरान जिस व्यक्ति के लिये यह कार्ड निकलता है उस व्यक्ति की विशेषता यह है कि वह बहुत धैर्यवान है। परिस्थितियों से जल्दी घब... more

अन्य पराविद्याएंटैरोभविष्यवाणी तकनीक

टैरो के विभिन्न कार्ड्स

टैरो के विभिन्न कार्ड्स

प्रेम प्रार्थना

भविष्य कथन की अनेक पद्धतियां हैं इनमें से टैरो अत्यधिक रोमांचकारी व ताकतवर तरीका है, इसके द्वारा गहरी से गहरी अंतर्मन की बात को जान जाते हैं, उसे समझते हैं तथा उस समस्या व परेशानी का सही हल ढूंढ़ते हैं जिससे कि खुशी पा सकें।... more

अन्य पराविद्याएंटैरोभविष्यवाणी तकनीक

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

Popular Subjects

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
More Tags (+)
horoscope