मेजर आरकाना कार्डों की चित्र व्याख्या

मेजर आरकाना कार्डों की चित्र व्याख्या  

मेजर आरकाना कार्डों की चित्र व्याख्या जादूगर (दी मैजिशियन): यह एक उम्दा शकुन कार्ड है जो नए अवसरों का, नए उद्यम की महत्ता, दृढ़ इच्छा शक्ति एवं हर काम में उमंग के समावेश होने का प्रतीक है। इसका पारे जैसा ढुलमुल स्वभाव है - आप स्वयं का आकलन कर अपनी जमीन पर रहेंगे और साम-दाम, दंड-भेद से अपना लक्ष्य अवश्य प्राप्त कर लेंगे। ऋणात्मक रूप से यह कार्ड चालबाजी, धोखाधड़ी को रूपायित कर यह चेतावनी देता है कि किसी पर भी विश्वास बहुत सोच-समझकर करें। कभी-कभी इसका उल्टा प्रभाव अपने आत्म-विश्वास में कमी तथा अनिर्णयात्मक स्थिति का भी द्योतक है। पुजारिन (दी हाई प्रीस्टेस): यह रहस्यों की मार्ग-दर्शिका के रूप में कार्ड-पठन में उभरती है। इसका इंगित है कि किसी रहस्य से पर्दाफाश होनेवाला है या कोई रहस्य आप उजागर करना चाहते हैं। आपको समझना होगा कि अपने आंतरिक आभास पर भरोसा करने का समय आ गया है। अपनी अंतप्र्रज्ञा शक्ति को ही अपना मार्ग-दर्शन करने दीजिए। यह उस व्यक्ति की तरफ भी इशारा करेगी जिससे आपको मशविरा लेना चाहिए। यदि किसी आदमी के लिए कार्ड पठन हो रहा है तो यह उसके जीवन की सर्वाधिक महत्वपूर्ण महिला की तरफ इशारा करता है। इसका ऋणात्मक पक्ष है; किसी महिला का उस पर गलत प्रभाव डालना। महारानी (दी एम्प्रैस): यह प्रतीक है प्रेम, भरोसे, समृद्धि तथा जन्म की। इसलिए जब यह प्रकट होती है तो समझिए कोई स्वागत योग्य स्थिति घटने वाली है। दी एम्प्रैस न सिर्फ गर्भ या वास्तविक जन्म की द्योतक है यह सृजनात्मकता का गतिज हाने ा भी इंगित करती है या प्रकृति से संबद्ध किसी नई योजना की शुरुआत का इशारा करती है। ऋणात्मक रूप से यह चेतावनी देती है कि आपके जीवन में कोई महिला अपनी सुरक्षा के लिए जरूरत से ज्यादा चिंतित है और भावनात्मक ब्लैक मेल द्वारा अपनी योजना सफल करना चाहती है। दी एम्प्रैस धन संबंधी चिंताएं तथा अनचाहे गर्भ या अनुर्वरता का निर्देश देती है। महाराजा (दी एम्परर): यह प्रतीक है उपलब्धि एवं सम्मान का और कई बार पुरुष के अदम्य प्रभाव का द्योतक भी होता है जैसे पिता/पति/साझेदार या आपके जीवन में किसी पुरुष या बाॅस का प्रभाव। जब यह कार्ड सही स्थिति में प्रकट हो तो समझिए आपके प्रभाव और रुतबे में वृद्धि होने वाली है या आपका रोब लोगों पर कायम होगा। ऋणात्मक रूप से दी एम्परर का प्रकटन निर्देश देता है कि कोई दबंग या तानाशाही व्यक्ति आप पर जबरदस्ती, अपनी सत्ता के कारण रोब गांठने वाला है। अन्य ऋणात्मक निर्देश असफल आकांक्षा, पद-स्थिति की अदम्य लालसा और किसी सत्ताधारी व्यक्ति के कारण असुरक्षा की भावना। ज्योतिषी (दी हायरोफेन्ट): यह प्रतीक है नैतिक कानून, एक चतुर और बुद्धि मान, परामर्शदाता, व्यावहारिक निदशर््े ाक या आध्यात्मिक गुरु का। साथ ही प्रतीक है पारंपरिक रीति-रिवाजों का जो मूलतः दकियानूसी विचार वाला है, जो नई भूमि तलाशने के हक में नहीं है। इस कार्ड का प्रकटन विवाह या विवाह की कामना एवं कानूनी जिम्मेदारियों और सरकारी दस्तावेजों की ओर इंगित करता है। ऋणात्मक रूप से यह उन भावनाओं का प्रतीक है जिनको परंपरा के बोझ ने कुचल दिया है क्योंकि आपने परंपराओं का पालन नहीं किया है। अन्य प्रभाव - आपकी अहमियत बढ़ाकर स्वयं अपने नियम बनाने को बाध्य कर सकता है। प्रेमी (दी लवर्स): दी लवर्स प्रेम और कत्र्तव्य के बीच आपके निर्णय को रूपायित करता है। आप यदि जोखिम उठाने को तैयार हैं तो आप महती आनंद तथा भावनात्मक संतोष प्राप्त कर सकते हैं। यदि नहीं तो कत्र्तव्य के बंधन में जकड़े आप वहीं रहेंगे, जहां हैं। इस कार्ड का उदय बताता है कि आपका हृदय आपके मस्तिष्क पर शासन करता है तथा जीवन में एक नाटकीय परिवर्तन ज्यादा खुशी भर सकता है। ऋणात्मक रूप से दी लवर्स प्रतिनिधित्व करते हैं असफल प्रेम संबंध का और संबंधों के क्षेत्र में आपकी अनिवार्य मानसिक स्थिति का भी। अन्य ऋणात्मक पहलू है कि आप एक जबरदस्त प्रलोभन में फंसकर अपने नैतिक मूल्यों से दगाबाजी करेंगे। रथ (दी चैरियट): यह प्रतीक है संघर्ष के पश्चात विजय का। यह मशवरा देता है कि प्रयत्न जारी रखो तथा विश्वास रखें कि विजय आप की ही होगी। यह कार्ड अप्रत्याशित शुभ समाचार का, अपनी योग्यताओं तथा क्षमताओं पर पूरा भरोसा रखने का द्योतक है। यह बताता है कि जो वाहन आप प्राप्त करना चाह रहे हैं वह आपको अवश्य मिल जाएगा। ऋणात्मक रूप से यह कार्ड बताता है कि आप स्वयं या कोई प्रभावशाली व्यक्ति अपना प्रभाव दिखाकर घमंड व स्वार्थीपन के साथ अपनी बात मनवा रहा है। अन्य ऋणात्मक प्रभाव विलंब के कारण मन में पैदा हुई हताशा या आपकी यात्रा के कार्यक्रम वैसे पूरे नहीं होंगे जैसे आप चाहते हैं। शक्ति (स्ट्रैन्थ): इस कार्ड का प्रकटन केवल भौतिक शक्ति नहीं बल्कि भयंकर दबाव की स्थिति में सहजता से काम करने की क्षमता का प्रतीकात्मक इंगित है - लेकिन इसका अंत सफलता से ही होता है। यदि स्वास्थ्य एक समस्या है तो इस कार्ड का प्रकटन स्वास्थ्य लाभ इंगित करना है, यदि धूम्रपान या शराब से त्राण पाना है तो यह कार्ड निर्देश देता है कि शुभस्य शीघ्रम्। ऋणात्मक रूप से यह कार्ड असुरक्षा, भय, पलायन या हार मानने तथा बेईमानी से हार का शिकार बनने का परिचायक है। यह कार्ड खोए हुए अवसर को दिखाता है और चेतावनी देता है कि मंजिल के करीब आकर आप हार मान गए तो जीवन में कुछ नहीं कर पाएंगे। तपस्वी (दी हरमिट): यह कार्ड प्रतीकात्मक रूप से सतर्क, आत्म विश्लेषण तथा शांति व एकांत की कामना की जरूरत प्रकट करता है। यह चेतावनी देता है कि अधीरता से निर्णय न लिए जाएं और सलाह देता है कि किसी भरोसेमंद व्यक्ति से उचित सलाह अवश्य ले ली जाए और तभी अपना निर्णय लें। यह निर्णय स्वास्थ्य विषयक हो सकते हैं- जैसे कितने समय तक आपको बीमारी के बाद स्वस्थ होने के लिए आराम करना चाहिए। ऋणात्मक रूप से यह घमण्डीपन एवं दृढ़धर्मिता का उदय दिखाता है। आपके मन में संशय होगा तथा आप कोई सलाह नहीं मानेंगे। अन्य ऋणात्मक पहलू -उत्तेजना में गलत निर्णय लेना और एकाकीपन भुगतना। भाग्य चक्र (दी व्हील आफ फाॅरच्यून) ः जब यह व्हील आफ फाॅरच्यून उदित होता है तो यह जीवन के नए चक्र को इंगित करता है जिसका अर्थ है सौभाग्य एवं सुनहरी किस्मत। यह भी किस्मत ही थी जो आपको इस भव सागर में लाई। आप कोई अपनी मर्जी से थोड़े ही आए हैं। इस कार्ड का उदय आप की मौजूदा समस्याओं का अंत और विगत में किए गए प्रयत्नों का प्रतिफल या इनाम है। ऋणात्मक रूप से दी व्हील आॅफ फाॅरच्यून का उलटा चलना दुर्भाग्य एवं परेशानियों का द्योतक है। लेकिन इसका उल्टा चलना क्षण-स्थायी ही होता है क्योंकि फिर यह नीचे से ऊपर चलने लगेगा। न्यायाधीश (जस्टिस): यह न्याय व ईमानदारी का परिचायक हाते ा है तथा हर मामले में संतुलन दिखाता है। यह साझेदारी, मुकदमे इत्यादि मामलों में सभी के साथ न्याय एवं ईमानदारी दिखाता है चाहे व्यापार का मसला हो या व्यक्तिगत। यह किसी सही निर्णय के साथ अन्याय भी दिखाता है। हो सकता है विगत में आपके साथ कोई अन्याय हुआ हो या किसी अन्य मामले में आप न्याय पाने को प्रयत्नशील हों। यह आपके पिछले प्रयत्न के संबंध में बेहतर भविष्य दिखाता है चाहे आपको इस बात पर भरोसा न हो कि आपके साथ न्याय होगा। ऋणात्मक रूप से यह प्रतीक है अन्याय, बिगड़े हुए व्यापार, गलत कानूनी निर्णय जो आपके साथ हुए हों, तब भी जब आप नैतिक रूप से बिल्कुल सही थे। फांसी (दी हैंग्ड मैन): यह प्रतीक है स्वयं के बलिदान का चाहे वह पार्थिव हो या भावनात्मक तथा परिस्थितियों के अनुसार स्वयं को ढालने की योग्यता। यह द्योतक है जीवन में एक प्रकार के ठहराव का, उस क्षण का, जब ज्यादा लाभ के लिए (बलिदान द्वारा) कम हानि उठाई जाए। यह प्रतीक है बीमारी, दबाव और चिंता का; यह समय है धैर्य धारण करने का, चिंता करने का नहीं। चूंकि यह कार्ड परीक्षा की घड़ी बताता है इसलिए इसमें आत्म बलिदान, आध्यात्मिक लहजा भी ग्रहण कर लेता है। ऋणात्मक रूप से यह प्रतीक है कमजोर इच्छाशक्ति, स्वार्थीपन, भावनात्मक ब्लैकमेल करने की प्रवृति का, खासतौर पर शहादत का बाना ओढ़कर। मृत्यु (डैथ): बेशक कार्ड पठन-सत्र में यह कार्ड बेहद भय फैलाता है परंतु तथ्य यह है कि यह शायद ही कभी मृत्यु का प्रतीक बनता है। ज्यादातर यह पुराने कामों की समाप्ति या नए कामों की शुरुआत या जीवन के बड़े मूल्य संबंधी कोई मार्ग का प्रारंभ ही रूपांकित करता है। यह संक्रांति काल का द्योतक है यानी पुराने काम का खात्मा और नए काम की शुरुआत। ऋणात्मक रूप से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता-बस यही कि आपके भय या खौफ की तीव्रता ज्यादा हो जाती है जब यह कार्ड उदय होता है यही वह समय है जब आप अपनी पूरी योग्यता व क्षमता से काम करते हैं यानी अपना सब कुछ स्थिति को बेहतर करने में झोंक देते हैं। संयम (टैम्परेन्स): जब यह कार्ड उदय होता है तो इसका अर्थ है आत्म नियंत्रण, ज्वलनशील मुद्दों को ठण्डे चित्त से निबटाना जिससे एक धनात्मक परिणाम आ सके। यह कार्ड प्रतीक है रिश्तों में समरसता की अनुभूति का, शांति एवं सुकून के साथ काम करने का और रिश्तों को ठण्डे चित्त से निपटाने का। यह कार्ड बताता है एक फरिश्ते जैसे व्यक्ति का मार्ग दर्शन जो आपका सदैव ख्याल रखता है। ऋणात्मक रूप से यह कार्ड ज्यादा भोग-विलास और दूर दृष्टि की कमी बताता है जिससे घरेलू झगड़े इत्यादि प्रारंभ हो सकते हैं। यह चेतावनी देता है कि जल्दबाजी में कोई निर्णय न लिया जाए नहीं तो आपकी प्रगति कुंठित हो जाएगी। शैतान (दी डेविल): यह बुरा कार्ड नहीं है- यदि कोई विवाह प्रतिबद्धता या रिश्तों की ईमानदारी का प्रश्न हो तो इस कार्ड का उदय कार्ड पठन के दौरान एक प्रीतिकर प्रतीक समझा जाना चाहिए। लेकिन अन्य समस्याओं के संदर्भ में यह कोई शुभ संकेत नहीं माना जा सकता। दी डेविल प्रतीक है मांसलता के प्रलोभनों तथा अन्य बुराइयों का जो निश्चित ही शुभ परिणाम नहीं दे सकते। रिश्तों के संदर्भ में यह किसी धुन का संकेत देकर स्थिति की समीक्षा करने का निर्देश देता है। यह विध्वंसकारी परिणामों की ओर चेतावनी देता है। ऋणात्मक रूप से यह कार्ड आपको अपनी कमजोरियों को पहचानने और अपनी लतों से त्राण पाने का संकेत देता है। मीनार (दी टाॅवर): यह बेहद भय का संचार करता है। इस कार्ड के संबंध में कोई धनात्मक पक्ष ढूंढ पाना टेढ़ी खीर है। यह बताता है अप्रत्याशित सदमों की बाबत और तहस-नहस करने वाली घटनाओं के बारे में लेकिन यह भी इंगित करता है कि उसके बाद आप अत्यंत सुदृढ़ एवं मजबूत होकर उभरेंगे। दी टावर प्रतिनिधित्व करता है अचानक या सदमा देने वाले अप्रत्याशित परिवर्तनों के बारे में तथा घरेलू समस्याओं के बिलंब की ओर इशारा करता है। यह पदार्थ संबंधी या भावना विषयक उन परिवर्तनों की ओर ईशारा करता है जो इस घटनाक्रम के बाद आपके लिए लाभकारी सिद्ध होंगे। ऋणात्मक रूप से यह टावर प्रतीक है बेवजह यंत्रणा एवम् दुःख सहने का। सितारा (दी स्टार): यह एक स्वागत योग्य कार्ड है जो भविष्य के प्रति एक अन्तर्दृष्टि प्रदान करता है जिसमें आशीर्वाद एवं उम्मीद, निष्ठा का दृढ़ीकरण तथा अप्रत्याशित उपहार निहित रहते हैं। नये संबंध और नये उद्यम के संदर्भ में इस कार्ड का उदय बेहद शुभ शकुन है। यह कार्ड कई तरह से अच्छे समय का संकेत है। चाहे वह कलात्मक या शिक्षण संबंधी हो, यात्रा हो, स्वास्थ्य या आध्यात्मिक जागरण या अन्य विकास के क्षेत्र की बात हो। ऋणात्मक रूप से यह कार्ड स्वयं के प्रति अविश्वास या अपनी योग्यताओं पर शक के फलस्वरूप कई खतरों के प्रति आगाह करता है जिसके कारण आप कई अच्छे अवसर खो सकते हैं। चंद्रमा (दी मून): यह कार्ड इंगित करता है कि तीव्र भावनात्मक उद्वेलन और संशय का समय आ गया है। आपके मन में कितना भी भय हो, यह समय है जब चंद्रमा का प्रकाश आपकी राह को जगमगा देगा, भले ही वह रास्ता दुर्गम लगे। इस कार्ड द्वारा दिया गया शुभ शकुन तब और अधिक शुभ होगा जब आप किसी मामले में गुपचुप रूप में फंसे हों-नहीं तो इस कार्ड का उदय आपको बाताता है कि आपका गुप्ततम रहस्य उजागर हो जाएगा। इस कार्ड का प्रगटन आपको कलात्मक अभिव्यक्ति भी दे सकता है। ऋणात्मक रूप से यह कार्ड प्रगति की कमी की ओर इंगित करता है क्योंकि आपके अन्तर्मन में छिपे भय और चिंताएं प्रभावी हो जाएंगी। सूर्य (दी सन): यह उत्तम टैरो कार्ड है। वैसे यह शुभ कार्ड है जो बहुत हर्षदायक और प्रसन्नतावर्द्धक समय की ओर इंगित करता है। मस्ती भरी छुट्टियां, बच्चों के संबंध में शुभ समाचार या किसी लंबे इंतजार के बाद पैदा हुए बच्चे का प्रतीक है। यह कार्ड परिवार व मित्रों के साथ मौज-मजा, प्रिय साथीजन और सौहार्दपूर्ण संबंधों का प्रतीक है। यह सारी ऋणात्मक स्थितियों को हटाकर सुखदायी भोर के आगमन का परिचायक होता है। ऋणात्मक रूप से यह संकेत है आपकी योजनाओं और उपलब्धियों में विलंब का परंतु साथ ही यह घमंड तथा बढ़े हुए अहम के कारण गलत समायोजन कराने के खतरे की ओर भी सचेत करता है। न्याय (जजमेन्ट): यह वर्तमान पूर्णता एवं विगत के प्रयत्नों के लिए पुरस्कार का द्योतक है यानी पुराने प्रयत्नों का तार्किक समापन एवं नए कामों की शुरुआत। यदि स्वास्थ्य खराब चल रहा हो तो यह स्वास्थ्य लाभ एवं जीवन के प्रति नए उत्साह का प्रतीक बनता है। जजमेंट उस मौके की तरफ इशारा करता है जिसको खोना नहीं चाहिए क्योंकि नया काम या परियोजना आपके पूरे जीवन को बदल सकती है। इस कार्ड का प्रकटन प्रायः जीवन में घट रही घटनाओं में तेजी ला सकता है। ऋणात्मक रूप में यह कार्ड आपके नए परिवर्तन को आत्मसात कर आगे न बढ़ने की चेष्टा को रूपायित करता है जिसका कारण आपकी हठधर्मिता ही है। विश्व (दी वल्र्ड): दी वल्र्ड कार्ड का उदय आपकी हार्दिक इच्छा की संपूर्ति का द्योतक है चाहे जो भी हो। यानी उपलब्धि का समय, मान्यता तथा सफलता पाने की घड़ी और विजय श्री की उपलब्धि। यह कार्ड आनंद उपभोग, छुट्टियों का मजा, प्रियजनों का साथ, एक संतोषकारी संबंध की संभावित प्राप्ति का इशारा करता है जिनका आप सामना कर, जीत प्राप्त करके शुद्ध आनंद का उपभोग कर सकते हैं। यानी अभी प्रयत्न चालू रखें क्योंकि अभी आपकी पारी खत्म नहीं हुई। अपने दर्शन-क्षेत्र को संकुचित न करें, न असुरक्षित महसूस करें क्योंकि विजय या सफलता आपकी ही होगी। मूर्ख (दी फूल): यह कार्ड उदित हो तो अप्रत्याशित घटना या खबर की आशा करना चाहिए, एक ऐसे प्रभाव की जो नाटकीय रूप से आपके निर्णय को बदल दे। यह कार्ड नई शुरुआत का, अनजान जगह के लिए यात्रा-जिसमें बहुत मजा आए-सूचक है। रास्ते में हुए अनुभव यात्री को अधिक तजुर्बेकार और बुद्धिमान बना देंगे। लेकिन यदि पठन सत्र में पहली बार ये ही उदय हो जाए तो समझना चाहिए एक दुःसाहसिक बेवकूफी होगी या पूछा हुआ सवाल ही गलत होगा या इसे पूछने का कारण ही गलत होगा। दी फूल रीडिंग में एक ऐसे व्यक्ति का भी परिचायक होता है जो अनूठा, लीक से हट कर चलने वाला, वासना से परिपूर्ण और सनकी हो सकता है।



वास्तु विशेषांक  December 2016

ज्योतिषीय पत्रिका फ्यूचर समाचार के इस वास्तु विशेषांक में बहुत अच्छे विवाह से सम्बन्धित लेखों जैसे वास्तुशास्त्र का वैज्ञानिक आधार, वास्तु निर्माण काल पुरुष योग, वास्तु दोष शांति हेतु कुछ सरल उपाय/टोटक,वीथिशूल: शुभाशुभ फल एवं उपाय आदि। इसके अतिरिक् प्रत्येक माह का राशिफल, वास्तु फाॅल्ट, टोटके, विचार गोष्ठी आदि भी पत्रिका का आकर्षण बढ़ा रहे हैं।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.