आपके हस्ताक्षर कहते हैं

आपके हस्ताक्षर कहते हैं  

A शारीरिक रूप से ऐसे व्यक्ति प्रायः स्वस्थ एवं सबल होते हैं, निर्णय लेने में गम्भीर एवं अपने में नियंत्रण क्षमता रखने वाले होते हैं। स्वतंत्र व्यक्तित्व, स्वतंत्र निर्णय और स्वतंत्र जीवन इनके जीवन की विशेषता होती है। B ऐसे व्यक्ति अंतर्मुखी एवं वाद-विवाद से दूर रहने वाले होते हैं। इनका सामाजिक जीवन सीमित होता है, ये एकाएक किसी पर विश्वास नहीं करते हैं, सौंदर्य के उपासक होते हैं, इनकी पत्नी संदर सुशील एवं सुशिक्षित होती है। C ऐसे व्यक्ति जो निर्णय ले लेते हैं, उसे पूरा किये बिना नहीं रहते हैं, चाहे कितनी ही परेशानियां आये। निरंतर क्रियाशील रहना इनकी विशेषता होती है। ये शान-शौकत, ऐशो आराम, सजावट आदि पर अधिक व्यय करते हैं, जिसके कारण सदैव आर्थिक तंगी में रहते हैं, इन्हें परिवार से अपेक्षित सहयोग प्राप्त नहीं होता है। ये क्रोधी प के भी पाये जाते हैं, परंतु क्रोध जितना जल्दी आता है, उतनी जल्दी उतर भी जाता है। इनके लिए यात्रा करना शुभप्रद रहता है। समाज में यश प्राप्त करते हैं। D ऐसे व्यक्ति आत्म विश्वासी और आत्म नियंत्रण वाले होते हैं। विपरीत परिस्थितियों में भी घबराते नहीं हैं और अपने लक्ष्य के प्रति गतिशील बने रहते हैं। ये ऊपर से शांत दिखाई पड़ते हैं पर अंदर से शांत नहीं होते हैं। भाग्योन्नति में भी बाधायें आती रहती हं। हृदय से उदार एवं सात्विक होते हैं। इनके जीवन में शत्रुओं की अधिकता रहती है तथा मित्रों से लाभ नहीं मिलता है। E ऐसे व्यक्ति किसी से भी वार्तालाप करने में संकोच नहीं करते हैं। सभी व्यक्तियों से घुल-मिल जाते हैं, हर कार्य को योजनाबद्ध तरीके से करते हैं, किसी भी कार्य को नीवनतम तरीके से करना पसंद करते हैं। ये जिस किसी के साथ होते हैं उसी के अनुरूप अपने को ढाल लेते हैं। ये व्ययशील होते हैं। परंतु यह व्यय अपव्यय नहीं होता है। ये एक प्रकार की आजीविका से संतुष्ट नहीं होते हैं। ये एक कार्य को लगातार न करके बदलते रहते हैं। इनको समाज से सदैव सहयोग प्राप्त होता रहता है। F ऐसे व्यक्ति अनैतिकता को पसंद नहीं करते हैं। ये मानसिक रूप से मजबूत तथा परिस्थितियों को अपने अनुकूल करने वाले होते हैं। ये तार्किक प्रकृति के होते हैं। ये अपना भेद किसी को नहीं देते हैं, ये ऊपर से शुष्क एवं कठोर दिखाई देते हैं पर अंदर से कोमल होते हैं। मित्रों के मित्र तथा शत्रुओं के लिए शत्रु होते हैं। ये मध्य स्थिति में नहीं रहते हैं, या तो आप टाॅप पर होंगे या फिर नीचे। धार्मिक कार्यों में रुचि नहीं के बराबर होती है। इस प्रकार के व्यक्तियों का भाग्योदय प्रायः व्यापार से ही होता है। G ऐसे व्यक्ति चरित्रवान, सादगी पसंद एवं भिष्ट होते हैं। किसी व्यक्ति को आकर्षित करने की इनमें अद्भुत क्षमता होती है। ये जो भी कार्य हाथ में लेते हैं उसको पूरा करने वाले होते हैं। इनकी महत्वाकांक्षाएं काफी उच्चकोटि की होती है। छोटा पद, छोटा कार्य इन्हें प्रिय नहीं होता है, अपने परिवार का सहयोग करने वाले होते हैं। H ऐसे व्यक्ति स्वार्थी और अपने हितों के लिए ही कार्य करने वाले होते हैं। ये दिखावा पसंद होते हैं और प्रदर्शित करते रहते हैं कि जैसे बहुत व्यस्त हैं और बहुत कामकाजी हैं जबकि प्रायः यह सत्य नहीं होता है। इनमें ऊपर उठने की प्रबल भावना रहती है पर इनकी निम्न सोच के कारण ऐसा हो नहीं पाता है। I ऐसे व्यक्ति अस्थिर स्वभाव के तथा आलसी के होते हैं। परंतु जिस विषय का अध्ययन करते हैं उसे हृदयंगम करते हैं। इनकी शासक के समान होती है। J ऐसे व्यक्ति ज्ञानवान होते हैं तथा अगले व्यक्ति को अपनी बात से प्रभावित करने वाले होते हैं, ऐसे व्यक्ति छोटी-मोटी अप्रिय बातांे पर ध्यान न देकर अपने लक्ष्य के प्रति अग्रसरित रहते हैं। K ऐसे व्यक्ति का जीवन संघर्ष से परिपूर्ण रहता है, इनके जीवन में बहुत उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। जीवन में आकस्मिकता एक हिस्सा हुआ करता है, परंतु ये परिस्थितियों से घबराते नहीं हैं वरन् उनका डटकर मुकाबला करते हैं। ये आशावादी तथा आने वाली विपदाओं से निबटने में समर्थ होते हैं। L ऐसे व्यक्ति सलीकेदार कपड़े पहनने वाले तथा भावुक के होते हैं, अपने हाल में मस्त तथा पीछे घूमकर नहीं देखते हैं। अपने विचारों एवं सद्गुणों के कारण प्रायः उच्चपद प्राप्त करते हैं। M ऐसे व्यक्ति सदाचारी, सभ्य एवं सुसंस्कृत के होते हैं। स्पष्ट एवं साफ बात कहने वाले होते हैं। इनका जीवन भी काफी उतार-चढ़ाव वाला होता है। ये रहस्यवादी के भी पाये जाते हैं। इनकी आर्थिक स्थिति के बारे में भी लोगों को भ्रम बना रहता है अर्थात् ये गरीब भी होते हैं तो लोग इन्हें धनवान समझते हैं। N ऐसे व्यक्तियों का व्यक्तित्व प्रभावशाली होता है परंतु जीवन में बाधाएं और संकट बहुत आते हैं परंतु यह तब भी आगे बढ़ते रहते हैं। ये सादगी पसंद तथा सरल जीवन बिताने वाले होते हैं। ये सामाजिक रूप से बहुत श्रेष्ठ होते हैं। O ऐसे व्यक्ति गंदगी, अव्यवस्था, संकुचित विचार पसंद नहीं करते हैं। ये हिम्मती, दिलेर एवं साहसी होते हैं, इनमें ऊपर उठने की तीव्र महत्वाकांक्षा होती है, इनके मित्र भी बहुत होते हैं तो शत्रुओं की संख्या भी बहुत होती है। P ऐसे व्यक्ति शांतिप्रिय एवं शांत वातावरण में रहना पसंद करते हैं। ऐसे व्यक्तियों पर चाहे जितने संकट आ जायें पर सामने वाले के सामने प्रकट नहीं होने देते। किसी की बुराई नहीं करते और सबके सुख-दुःख में शामिल होने वाले होते हैं। Q ऐसे व्यक्ति अपने विचारों और सिद्धांतों पर अडिग रहते हैं। इनका लक्ष्य निश्चित रहता है, अपने कार्यों में किसी की दखलंदाजी पसंद नहीं करते हैं। R ऐसे व्यक्ति साधारण स्तर से उठकर उच्च स्तर पर पहुंचने वाले होते हैं। किसी भी प्रभावशाली व्यक्ति को अपनी वाक्पटुता से अपने वश में कर लेने वाले होते हैं। परंतु ये होते स्वार्थी हैं। इन्हें समाज में पद, प्रतिष्ठा एवं धन सभी प्राप्त होते हं। S ऐसे व्यक्ति योग्य एवं समझदार होते हैं। इनका स्वभाव हंसमुख तथा मित्र बनाने में निपुण एवं दूसरों से लाभ उठाने में चतुर होते हैं। इनका जनसंपर्क विस्तृत होता है। ये स्वतंत्र निर्णय लेने में असमर्थ होते हैं। T ऐसे व्यक्ति अपने पर पूरा भरोसा रखते हुए अपनी उन्नति के लिए सदैव प्रयत्नशील रहते हैं। ये किसी के दबाव में आकर अपना निर्णय नहीं बदलते वरन् स्वतंत्र निर्णय लेते हैं, ईश्वर में इनकी पूरी आस्था होती है, दुःख और संकट में घबराते नहीं हैं। ये समाज में लोकप्रिय होते हैं। U ऐसे व्यक्तियों का मस्तिष्क उर्वरा से भरा रहता है। ऐसे व्यक्ति भूत, भविष्य की चिंता न करते हुए वर्तमान पर ध्यान केंद्रित कर कार्य करते हैं। इनके विचार परिपक्व एवं सुलझे हुए होते हैं। V ऐसे व्यक्तियों में श्रेष्ठता को प्राप्त करने की असीम लालसा रहती है। ये लोगों को आदर की दृष्टि से देखते हैं किसी का जल्दी बुरा नहीं करते हैं। W ऐसे व्यक्ति लापरवाह तथा अपने बुने जाल में ही फंसने वाले होते हैं। भ्रामक प्रदर्शन करना, लोगों को भ्रम में रखना इनकी आदत होती है। ये अपनी जिम्मेदारी से दूर भागते हैं। X ऐसे व्यक्ति जोखिमपूर्ण कार्य करने में अग्रणी, परिश्रमी तथा आलस्य से घृणा करने वाले होते हैं। इनकी विचारधारा औरों से बिल्कुल अलग होती है। Y ऐसे व्यक्ति चतुर कूटनीतिज्ञ होते हैं, हर किसी से लाभ उठाने की चेष्टा करते हैं, परिश्रम से जी चुराते हैं। सच्चाई से दूर भागते हैं। Z ऐसे व्यक्ति लापरवाह, हर कार्य को न हो सकने वाला बताने वाले, हठी, क्रोधी होते हैं। इनकी विवेकशील नहीं पाई जाती है।



हस्तलेख एवं हस्ताक्षर विशेषांक  फ़रवरी 2014

फ्यूचर समाचार पत्रिका के हस्तलेख एवं हस्ताक्षर विशेषांक में हस्तलेख से व्यक्तित्व विश्लेषण, लिखावट द्वारा रोगों की पहचान एवं उपचार, हस्ताक्षर के प्रकार एवं विशेषताएं, भिन्न मानसिकता की भिन्न लिखावट, हस्ताक्षर एवं ग्रह आपके हस्ताक्षर क्या कहते हैं, लिखावट से जानें व्यक्ति विशेष को तथा हस्तलिपि एवं उपयोग, कैसे लें हस्ताक्षर द्वारा स्वास्थ्य व धन लाभ आदि गूढ़ एवं महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा के अतिरिक्त फिल्मों में करियर, एस्ट्रो पामिस्ट्री, महाशिवरात्रि व्रत का अध्यात्मिक महत्व, पंचपक्षी की क्रियाविधि, सफलता में दिशाओं का महत्व तथा आदि शक्ति जीवनदायिनी मंगलरूपा मां तारिणी के तीर्थस्थल पर रोचक आलेख सम्मिलित हैं।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.