लिखावट से जानें व्यक्ति विशेष को

लिखावट से जानें व्यक्ति विशेष को  

सर्वप्रथम ऐसी लिखावट के बारे में चर्चा करेंगे जिसके अक्षर खुले या अलग-अलग दूरी पर होते हैं अर्थात प्रत्येक अक्षर स्पष्ट व दूर-दूर होता है। ऐसे लोग पूर्णतया स्वतंत्र प्रकृति के होते हैं, अपना प्रत्येक कार्य या निर्णय अपनी इच्छानुसार लेते हैं, इनको अपने ऊपर किसी का अधिकार सहन नहीं होता। ये खुले दिल के होते हैं। सटे अक्षर: ऐसे लोग जिनकी लिखावट में अक्षर एक-दूसरे से चिपक कर बहुत नजदीक होते हैं ये लोग संकोची प्रकृति के होते हैं, अकेले रहना पसंद नहीं करते, मिलकर रहते हैं, मिलकर चलते हैं। इनकी विचारधारा संकुचित होती है। अपनी बात खुलकर नहीं कहते। न स्वतंत्र रहते हैं न किसी की स्वतंत्रता इनको पसंद होती है। ये शकी भी होते हैं। - जिन लोगों की लिखावट में बिल्कुल भी दायें बायंे अक्षरों का झुकाव नहीं होता वो लोग अच्छे, तार्किक, व्यावहारिक होते हैं। सरल स्वभाव व साफ दिल के होते हैं। - ऐसे लोग जिनके अक्षरों का झुकाव दायीं तरफ होता है ये लोग सामान्यतया सभी कार्य छुपकर करना पसंद करते हैं। जिनके अक्षर गोल-गोल होते हं वे लोग रचनात्मक एवं कलाकार प्रवृत्ति के होते हैं। - जिनके अक्षरों की बनावट तीखापन लिए हुए होती है अर्थात नुकीली, ये लोग बहुत ही बुद्धिमान, तीखे स्वभाव के, तेज स्वभाव के होते हैं साथ ही बहुत ही जिज्ञासु प्रवृत्ति के होते हैं। - जिनकी लिखावट के अक्षर बहुत जुड़े से होते हैं वे लोग बहुत तार्किक, व्यवस्थित एवं बहुत बुद्धिमानी से निर्णय लेने वाले होते हैं। - जिनकी लिखावट में T अक्षर बड़ा होता है वे लोग बहुत ही महत्वाकांक्षी, आशावादी, इच्छाओं से युक्त और सम्मानित होते हैं। - जिनका T मध्यम आकृति में लिखा जाता है, ये लोग आत्मविश्वासी एवं स्वयं को कार्य करने में सहज महसूस करते हैं। - जिनका बहुत लंबा रेखा पार कर जाने वाला T होता है वे लोग दृढ़ निश्चयी, ताकतवर बहुत जिद्दी होते हैं, जीवन का एक समय बहुत कठिन गुजारते हैं। - जिनका यह अक्षर बहुत छोटा होता है वे लोग बहुत आलसी एवं कमजोर दृढ़निश्चय शक्ति वाले होते हैं। - जिन लोगों का O अक्षर थोड़ा खुला और बंद होता है ये लोग बातूनी, सामाजिक एवं अपनी भावना को स्पष्ट करके कहने की योग्यता रखते हैं साथ ही कुछ छुपाते भी हैं। - जिनका O अक्षर पूरा गोल, छोटा होता है ये लोग अपनी बात बहुत कम बताते हैं। अंतर्मुखी स्वभाव के होते हैं। अपनी व्यक्तिगत बात किसी को भी बताना कम ही पसंद करते हैं। - जिन लोगों के S अक्षर की बनावट नीचे से गोलाई लिये होती है वे लोग खुश रहना पसंद करते हैं और व्यर्थ की वार्ता से व झगड़ों से दूर रहते हैं। - जिनका S अक्षर नीचे से नुकीला सा निकला होता है वे बहुत ही तेज, बुद्धिमान व महत्त्वाकांक्षी होते हैं। ये लोग हर विषय की ऊंचाइयों को छूना पसंद करते हैं अर्थात चोटी को छूते हैं। - बायीं तरफ जिनकी लिखावट में अंतर होता है ये लोग भूतकाल में जीते हैं अर्थात अपना बीता कल याद करते हैं। अपने कठिन समय को नहीं भूलते। - दायीं तरफ जिनकी लिखावट में अंतर होता है ये लोग किसी अनजाने भय से ग्रसित रहते हैं और लगातार किसी बात के लिए चिंतित रहते हैं और भविष्य की चिंता करते रहते हैं। - जो लोग सामान्य अंतर से पूरे पेज पर लिखते हैं वे शांत स्वभाव के, आराम से जीवन व्यतीत करते हैं, उनका दिमाग स्थिर होता है लगातार जीवन में एक दिशा में कार्य करते हैं। - जिनकी लिखावट में ज्यादा जोर दिया होता है अर्थात दबाव देकर जो लिखते हैं ये लोग भावुक, उत्तेजक, हठी, स्पष्टवादी होते हैं। ये लोग तुरंत किसी बात का एक समीक्षक की तरह उत्तर देते हैं। - जिनकी लिखावट ज्यादा जोर देकर नहीं लिखी जाती अर्थात हल्के हाथ से लिखी हो वे लोग भावुक, किसी बात पर जोर देकर बात करने वाले होते हैं। इन लोगों में शारीरिक क्षमता की कमी होती है। - अस्पष्ट लेखनी वाले लोग अधैर्यशील, जल्दबाज और समय को व्यर्थ गंवाने वाले होते हैं। - धीरे-धीरे लिखने वाले व्यक्ति ज्यादा अच्छे संयोजक एवं विश्वसनीय होते हैं। - छोटे व तंग L लिखने वाले संकोची एवं तनावयुक्त होते हैं। डरपोक एवं गुप्त स्वभाव के होते हैं। - बड़ा चैड़ा L लिखने वाले बहुत शांत व आराम दायक होते हैं। अपनी बात स्पष्ट रखते हैं और आसानी से सबके साथ समायोजन करते हैं। - तंग E लिखने वाले लोग भावनाओं का आदर नहीं कर पाते एवं बहुत सोच विचार करते हैं। अति संकोची एवं भयग्रस्त रहते हैं। - बड़ा E लिखने वाले खुली मानसिकता वाले होते हैं तथा प्रसन्न रहते हैं। जीवन को जीते हैं, नये-नये अनुभव ग्रहण करते हैं, मस्त रहते हैं। - जिनकी लिखावट का i बड़ा होता है ये लोग बहुत महत्वाकांक्षी विशेषकर कल्पनाशील होते हैं। उत्तम योजनाओं का निर्माण करते हैं। - यदि i का झुकाव बायीं तरफ होगा तो लेट लतीफ, झिझकने की प्रवृत्ति होगी। - यदि i के लिखावट में दायीं तरफ झुकाव होगा तो करो या मरो अर्थात जो कहा है उस पर अडिग रहेंगे। - जिन जातकों की लिखावट नीचे से ऊपर की ओर होती है अर्थात अक्षरों के नीचे से ऊपर की ओर जाते हैं वे लोग धार्मिक आस्था रखने वाले एवं आशावादी होते हें।



हस्तलेख एवं हस्ताक्षर विशेषांक  फ़रवरी 2014

फ्यूचर समाचार पत्रिका के हस्तलेख एवं हस्ताक्षर विशेषांक में हस्तलेख से व्यक्तित्व विश्लेषण, लिखावट द्वारा रोगों की पहचान एवं उपचार, हस्ताक्षर के प्रकार एवं विशेषताएं, भिन्न मानसिकता की भिन्न लिखावट, हस्ताक्षर एवं ग्रह आपके हस्ताक्षर क्या कहते हैं, लिखावट से जानें व्यक्ति विशेष को तथा हस्तलिपि एवं उपयोग, कैसे लें हस्ताक्षर द्वारा स्वास्थ्य व धन लाभ आदि गूढ़ एवं महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा के अतिरिक्त फिल्मों में करियर, एस्ट्रो पामिस्ट्री, महाशिवरात्रि व्रत का अध्यात्मिक महत्व, पंचपक्षी की क्रियाविधि, सफलता में दिशाओं का महत्व तथा आदि शक्ति जीवनदायिनी मंगलरूपा मां तारिणी के तीर्थस्थल पर रोचक आलेख सम्मिलित हैं।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.