कुछ उपयोगी टोटके

कुछ उपयोगी टोटके  

कुछ उपयोगी टोटक संत फतह सिंह ग्रहजन्य दोषों से मुक्ति के चमत्कारी टोटके राहु: यदि राहु पूर्णतः अशुभ फलकारी हो, उसके फलस्वरूप लोगों से शत्रुता चल रही हो, घर में हर समय लड़ाई झगड़े होते रहते हों, मन इधर-उधर भटकता रहता हो और मानसिक संतुलन बिगड़ गया हो तो निम्नलिखित उपाय करें। प्रातः काल जल्दी उठकर लाल रंग की मसूर की दाल या कुछ सिक्के सफाई कर्मचारी (मेहतर) को दान करें। अपने पैतृक मकान में प्रवेश करते समय चैखट पर चांदी का टुकड़ा रखें। यदि राहु द्वादश में हो तो जातक अपने साथ होने वाले लड़ाई-झगड़े, मुकदमे आदि से परेशान रहता है। इन सबसे बचाव के लिए जातक को खाना अपनी रसोई में बैठकर खाना चाहिए। पत्नी से कभी झगड़ा नहीं करना चाहिए और किसी को भयभीत नहीं करना चाहिए। साथ ही अपने शयन कक्ष में हनुमान जी का चित्र लगाकर रखना चाहिए। यदि कुंडली में राहु की स्थिति अशुभ हो, तो नदी में नारियल प्रवाहित करना चाहिए। यदि जातक टी. बी. से ग्रस्त हो और औषधियों से कोई लाभ नहीं हो रहा हो, तो उसे जौ को गाय के मूत्र से धोकर लाल कपड़े में बांधकर अपने साथ रखना चाहिए। ग्रहों की धूप: सूर्य: लोहबान, चंदन, जाफरान (केसर)। मंगल: लाल मिर्च, अफीम, लौंग, गुग्गुल। बुध: लोहबान, गुग्गुल, बादाम, चमेली की जड़। गरुु: कसे र, नागरमाथ्े ाा, श्वते चदं न, लाल चंदन। शुक्र: लोहबान। शनि: काली मिर्च, लाख, गुग्गुल। चंद्र: कपूर, लोहबान। किराएदार से मकान खाली कराने हेतु: पुष्य नक्षत्र में सांप की रीढ़ की हड्डी लाकर उसे विद्वेषण मंत्र से अभिमंत्रित कर लें और फिर उसका पाउडर बनाकर जो कमरा किराए पर दे रखा हो उसमें बिखेर दें। किराएदार को रात में घर में सांप ही सांप दिखाई देंगे और उनकी आवाजें सुनाई देंगी और वह डरकर मकान खाली करके भाग जाएगा। नजर उतारने के टोटके नमक, राई, लहसुन, प्याज के छिलके, बाल और सूखी हुई मिर्च को आग के एक अंगारे पर डाल दें और उसे नजर दोष से प्रभावित जातक के सिर पर से सात बार उतार लें। जलने पर यदि बदबू आए तो समझें कि जातक नजर दोष से मुक्त है। यदि बदूब नहीं आए तो समझें कि वह नजरदोष से प्रभावित है। हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान जी के कंधों से सिंदूर लेकर अपने माथे पर टीका करें। गेहूं के आटे का दीपक बनाएं और उसमें काले धागे की बत्ती डालकर उसे जलाएं और उसके पास दो सूखी लाल मिर्च रखें। फिर उसे बुरी नजर से प्रभावित व्यक्ति के ऊपर से सात बार उतारें। नजर से प्रभावित व्यक्ति के सिर पर से फिटकरी उतार कर उसे बाएं हाथ से कूटकर उसका चूर्ण बना लें और उसे किसी कुएं या तालाब में फेंक दें। छोटे बच्चे को किसी स्त्री की नजर लगी हो तो उसे घर बुलाकर हाथ फिरा लें तथा बच्चे को प्यार करते हुए आशीर्वाद दे दें।



शनि कष्टनिवारक हनुमान विशेषांक   सितम्बर 2009

शनि कष्टनिवारक श्री हनुमान विशेषांक आधारित है- शनि ग्रह एंव हनुमान जी के आपसी संबंधों, हनुमान जी के जन्म एवं जीवन से संबंधित कथाएं, हनुमान जी के तीर्थ स्थान, यात्रा एवं महत्व, हनुमान जी से संबंधित पूजाएं, पूजा विधि एवं महत्व.

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.