कुछ उपयोगी टोटके

कुछ उपयोगी टोटके  

कुछ उपयोगी टोटके डाॅ. उर्वशी बंधु विद्या में आने वाले विघ्न को दूर करने हेतु: मंदिर में सफेद काले कंबल तथा धार्मिक पुस्तकों का दान करें। 40 दिन तक प्रतिदिन एक केला गणेश जी के मंदिर में उनके आगे रखें। परीक्षा में सफलता हेतु: परीक्षा भवन में प्रवेश करते समय भगवान राम का ध्यान करें और निम्नलिखित मंत्र का ग्यारह बार जप करें। प्रवसि नगर कीजै सब काजा हृदय राखि कौशलपुर राजा। शुरू, व अंत में चैपाई के संपुट अवश्य लगाएं। यह बहुत प्रभावी टोटका है, यदि श्रद्धापूर्वक किया जाए तो अत्यंत चमत्कारिक परिणाम देता है। शीघ्र विवाह हेतु: यदि विवाह में बहुत विलंब हो रहा हो तो मंदिर के प्रांगण में अनार का वृक्ष लगाएं व रोज उसे जल से सीचें। कच्चा दूध व जल मिला कर प्रतिदिन शिवलिंग पर चढ़ाएं। प्रतिदिन गाय को चारा या हरा पालक खिलाएं। एक से बढ़ कर एक रिश्ते एक आने लगेंगे। सुखमय जीवन हेतु: सौ ग्राम चावल 43 दिन तक प्रतिदिन किसी नदी या नहर में डालें 43 दिन, कष्ट दूर हो जाएंगे। संतान प्राप्ति हेतु: विवाह के कई वर्षों बाद भी यदि संतान न हो तो जमादार को सप्ताह में एक किलो मूली का दान देते रहें। यह टोटका किसी भी दिन सूर्यास्त से पूर्व करना है। शाकाहारी रहें। हरिवंशपुराण का पाठ प्रतिदिन करें। महीने में एक बार किसी पंडित से घर में गायत्री का हवन करवाएं। गोद शीघ्र भरेगी। कर्ज से मुक्ति हेतु: चांदी का चैकोर टुकड़ा अपने साथ रखें। चार किलो सफेद मूली बहते पानी में बहाएं। कुआं, झील, टैंक या तालाब में नहीं। अपने भोजन में से कुछ हिस्सा प्रतिदिन गाय, कुŸो व कौए को दें। हरे रंग से परहेज करें। आर्थिक समस्या दूर करने हेतु: दो अलग-अलग दुकानों से एक-एक आम खरीदें और दोनों को एक साथ बहती नदी में प्रवाहित करें। यह टोटका, शुक्ल पक्ष के बुधवार को करें। चांदी की चेन गले में पहनें, आर्थिक संकट दूर होगा। नौकरी में तरक्की हेतु: चिड़ियों को सतनाजा डालें। इसका चूरा भी चिड़ियों को डालें, तरक्की होगी। कार्य की सिद्धि हेतु: कहीं जाते समय घर से निकलने से पूर्व ही अपने हाथ में रोटी लें। मार्ग में जहां भी कौए दिखाई दें वहां उस रोटी को टुकड़े कर डाल दें और आगे बढ़ जाएं। पीछे मुड़ कर न देखें। कार्य में सफलता प्राप्त होगी। निम्न मंत्र को प्रथम 1000 बार जपें तथा रोली, चंदन, गोरोचन एवं कपूर सामने पूजा में रखें। उसपर हाथ रखें और जप करें। फिर सब सामग्री को गाय के दूध में घिस कर, तिलक लगा कर, घर से निकलें। जो कार्य बनने हेतु यह सिद्ध तिलक लगा कर जाएंगे, आपका वह कार्य अवश्य सिद्ध होगा। मंत्र इस प्रकार हैः ‘‘¬ हीं अमुकं वे वशमाय स्वाहा।’’ यह बड़ा ही प्रभावी मंत्र है। अमुकं के स्थान पर जिस व्यक्ति से कार्य लेना हो, उसके नाम का उच्चारण करें। स भाई-भाई में अनबन दूर करने हेतु: मंदिर के पास नीम का वृक्ष लगाएं व प्रतिदिन उसकी सेवा करें। घर में ऊंट व हाथी के खिलौने न रखें। मंगलवार को हनुमान जी को प्रसाद और सिंदूर चढ़ाएं। स्थितियां अनुकूल होने लगेंगी। अच्छे स्वास्थ्य हेतु: यदि स्वास्थ्य अनुकूल न रहता हो तो किसी कब्र या दरगाह पर सूर्यास्त के पश्चात् तेल का दीपक और मोगरे की अगरबŸाी जलाएं और 5 बताशे रखें। मन ही मन प्रार्थना करें और वापस आते वक्त मुड़ कर न देखें। स्वास्थ्य अनुकूल होने लगेगा यह टोटका शुक्रवार से शुरू करंे।



लाल किताब विशेषांक  जून 2008

लाल किताब की उत्पति इतिहास एवं परिचय, लाल किताब द्वारा जन्मकुंडली निर्माण के सिद्धांत एवं विधि, लाल किताब द्वारा फलादेश करने की विधि, लाल किताब में वर्णित उपायों का विस्तृत वर्णन, लाल किताब के सिद्धांत व उपायों की अन्य विधायों से तुलना

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.