दीपावली के 21 उपाय 21 चमत्कार

दीपावली के 21 उपाय 21 चमत्कार  

हमारे हिन्दू धर्म शास्त्रों में अनेक ऐसे छोटे व आसान उपाय बताए गए हैं, जिन्हें करने से जीवन की हर परेशानी दूर हो सकती है। उपाय सच्चे मन से किए जाएं तो जल्दी ही इनका सकारात्मक प्रभाव देखा जा सकता है। आप इस दिवाली अपने दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदल सकते हैं। पूरे वर्ष में कुछ ही दिन ऐसे शुभ और चमत्कारी फल देने वाले होते हैं जिनमें आप अपनी मनोकामनाएं पूरी कर सकते हैं। आज हम आपको दिवाली पर किये जाने वाले ऐसे ही छोटे और अचूक उपाय बता रहे हैं, जिन्हें सच्चे मन से करने से आपके जीवन में धन-वृद्धि, सुख समृद्धि होगी एवं अन्य बाधाओं का समाधान हो जायेगा। यौगिक गणित में 21 एक महत्वपूर्ण संख्या हैं, क्योंकि यह 84 का चैथाई है और 84 इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यौगिक गणित के अनुसार हम अभी इस सृष्टि के 84वें चक्र में हैं। इसीलिए हम यहां आपको 21-21 उपाय बता रहे हंै जिससे आपके जीवन की हर समस्या का पूर्णतः समाधान हो जाये। इस दिवाली बनने वाले शुभ मुहूर्तों का लाभ आप किस प्रकार उठा सकते हैं, आईये आपको बताते हैं - धन वृद्धि के अचूक उपाय - 1. पीले कपड़े में जलकुंभी बांधकर अपने रसोई घर में रखने से घर खाद्य उपयोग की वस्तुओं से भरा पूरा रहेगा। 2. दिवाली के दिन संध्याकाल में पीपल के पेड़ के नीचे साबुत उड़द के दाने थोड़ा दही और सिंदूर डालकर चढ़ायें और तेल का दीपक जलायें। आप देखेंगे की धन वृद्धि होने लगेगी। 3. दीपावली की सायंकाल को बरगद की जटा में गांठ लगा दें, ऐसा करने से अचानक धन मिलता है, धन मिलने के बाद उस गांठ को खोल दें। 4. हत्थाजोड़ी को सिंदूर में भरकर तिजोरी में रखने से धन वृद्धि होती है। 5. दीपावली पर गन्ने के पेड़ की जड़ को लाकर लाल कपड़े में बांधकर लाल चंदन लगाकर धन स्थान पर रखें। इससे धन में वृद्धि होगी। 6. लक्ष्मी पूजन के साथ एकाक्षी नारियल की स्थापना कर उसकी पूजन-उपासना करें। इससे धन लाभ होता है साथ ही परिवार में सुख-शांति बनी रहती है। 7. लक्ष्मी का पूजन करने के लिए स्थिर लग्न श्रेष्ठ माना जाता है। इस लग्न में पूजा करने पर महालक्ष्मी स्थायी रूप से घर में निवास करती हैं। 8. लक्ष्मी पूजन में गोमती चक्र रखने से घर में धन संबंधी लाभ होने लगता है। 9. लक्ष्मी पूजन में पीली कौड़ियां रखने से महालक्ष्मी बहुत जल्द प्रसन्न होती हैं। आपकी धन संबंधी सभी परेशानियां खत्म हो जाएंगी। 10. दीपावली के दिन बिना स्नान किये प्रातः काल एक नारियल को पत्थर से बांधकर अपने नजदीक के किसी भी तालाब, बावड़ी अथवा नदी में ले जाकर डुबो दें, तथा प्रार्थना करें कि शाम को मैं आपको लक्ष्मी जी के साथ ले कर जाऊंगा, शाम के समय पुनः उस नारियल को जल से निकालकर घर ले आयें और लक्ष्मी पूजा में सम्मिलित करके दुकान अथवा घर के पूजा स्थल में रखें, इससे प्रचुर धन की प्राप्ति होगी और कर्ज निवारण होगा। 11. दीपावली के पांचों दिनों में घर में शांति बनाए रखें। किसी भी प्रकार का क्लेश, वाद-विवाद न करें। जिस घर में शांति रहती है वहां देवी लक्ष्मी हमेशा निवास करती हैं। 12. सप्ताह में एक बार किसी जरूरतमंद सुहागिन स्त्री को सुहाग का सामान दान करें। ध्यान रखें यह उपाय नियमित रूप से हर सप्ताह करना चाहिए। 13. किसी पीपल के वृक्ष का एक पत्ता तोड़ें। उस पत्ते पर कुमकुम या चंदन से श्रीराम लिखें। इसके बाद पत्ते पर मिठाई रखें और यह हनुमानजी को अर्पित करें। 14. दीपावली के दिन 3 अभिमंत्रित गोमती चक्र, 3 पीली कौडियां और 3 हल्दी गांठों को एक पीले कपड़े में बांधें। इसके बाद इस पोटली को तिजोरी में रखें। धन लाभ के योग बनने लगेंगे। 15. स्फटिक से बना श्रीयंत्र दीपावली के दिन बाजार से खरीदकर लाएं। श्रीयंत्र को लाल वस्त्र में लपेटकर तिजोरी में रखें। कभी भी पैसों की कमी नहीं होगी। 16. घर में स्थायी लक्ष्मी हेतु पीपल के वृक्ष की छाया में खड़े रह कर लोहे के बर्तन में जल, चीनी, घी तथा दूध मिला कर पीपल के वृक्ष की जड़ में डालने से घर में लम्बे समय तक सुख-समृद्धि रहती है। 17. घर की आर्थिक स्थिति ठीक करने के लिए घर में सोने का चैरस सिक्का रखें। कुत्ते को दूध दें। अपने कमरे में मोर का पंख रखें। 18. पकी हुई मिट्टी के घड़े को लाल रंग से रंगकर, उसके मुख पर मौली बांधकर तथा उसमें जटायुक्त नारियल रखकर बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। 19. अखंडित भोज पत्र पर सूर्य यंत्र लाल चन्दन की स्याही से मोर पंख की कलम से बनाएं और उसे सदा अपने पास रखें। 20. कच्ची घानी के तेल के दीपक में लौंग डालकर हनुमान जी की आरती करें। अनिष्ट दूर होगा और धन भी प्राप्त होता है। 21. देवी लक्ष्मी के चित्र के समक्ष नौ बत्तियों वाली घी का दीपक जलाएं। उसी दिन धन लाभ होगा। सुख-समृद्धि के अचूक उपाय 1. घर में स्थित तुलसी के पौधे के पास दीपावली की रात में दीपक जलाएं। तुलसी को वस्त्र अर्पित करें। 2. माह की हर अमावस्या पर पूरे घर की अच्छी तरह से साफ-सफाई की जानी चाहिए। साफ-सफाई के बाद घर में धूप-दीप-ध्यान करें। 3. दीपावली की रात्रि रात भर घी का दीया सूर्योदय तक जलायें, यह शुभ फलदायक रहता है। 4. इस रात्रि में चांदी की कटोरी में अगर कपूर को जलायें, तो परिवार में सुख, समृद्धि की वर्षा होती है। 5. दीपावली की रात में केसर से रंगी 9 कौड़ियों की भी पूजा करें। पूजन के पश्चात इन कौडियों को पीले कपड़े में बांधकर पूजास्थल पर रखें। व्यापार स्थल पर रखने से व्यापार बढ़ता है। 6. दीपावली से अगले दिन गाय के खुर की मिट्टी से, अथवा तुलसीजी की मिट्टी से तिलक करें, सुख-शान्ति में बरकत होगी। 7. अमावस्या की मध्य रात्रि को किसी चैराहे पर सरसों के तेल का दीपक जलाकर आयें। मुड़कर पीछे नहीं देखें। घर से निर्धनता का नाश होगा। 8. इस रात्रि में काले तिल परिवार के सभी सदस्यों के सिर पर सात बार उतारें और घर की पश्चिम दिशा में फेंक दें, ऐसा करने से धन हानि बंद होकर, सुख-समृद्धि बनी रहेगी। 9. दीपपर्व पर श्वेतार्क गणेश की प्रतिमा घर में लाएंगे तो हमेशा बरकत बनी रहेगी। परिवार के सदस्यों को पैसों की कमी नहीं आएगी। 10. इस दिवाली एक नया झाड़ू खरीद कर लायें तथा इस दिन इसी झाड़ू से घर की अच्छी तरह से साफ-सफाई करें। साफ-सफाई करने के बाद इस झाड़ू को छुपाकर रखें। 11. रात्रि में लक्ष्मी पूजा करने के बाद घर के प्रत्येक हिस्से में घंटी बजाने से घर में वास कर रही अशुभ शक्तियों का विनाश होता है। नकारात्मकता का अंत होकर, सकारात्मकता बनी रहती है। 12. प्रातः काल सारे घर की साफ-सफाई, शुद्धता होने के बाद मुख्य द्वार पर आम या अशोक के पत्तों का बंदनवार लगायें. इससे शुभ शक्तियां घर में प्रवेश करती हैं। 13. घर के मुख्य द्वार पर कुमकुम से स्वास्तिक का चिह्न बनाकर द्वार के दोनों ओर कुमकुम से शुभ-लाभ भी लिखें। 14. किसी मंदिर में झाड़ू का दान करें। घर के आसपास महालक्ष्मी का मंदिर हो तो वहां गुलाब की सुगंध वाली अगरबत्ती का दान करें। 15. पांच अभिमंत्रित कौड़ियों पर हल्दी का तिलक लगाकर अपने ऊपर से आठ बार उतारकर किसी भिखारी को कुछ पैसों के साथ दान कर दें। 16. पीपल के 11 पत्ते तोड़ें, चंदन की स्याही का प्रयोग करते हुए उनपर श्रीराम का नाम लिखें। पीपल के पेड़ के नीचे बैठकर इन पत्तों की माला बनाकर हनुमान जी को पहनायें। 17. प्रातःकाल जल में लाल मिर्च के 21 बीज डालकर सूर्य को अर्पित करें। 18. सायंकाल पीपल के पेड़ के नीचे सात दीपक जलाएं और सात बार वृक्ष की परिक्रमा करें। घर में सुख-समृद्धि का वास होगा। 19. सुबह-सुबह शिवलिंग पर तांबे के लोटे से जल अर्पित करें। 20. काली राई, सरसों का तेल का दो मुख वाला दीपक लंे, सायंकाल में चैराहे पर पूर्व दिशा की तरफ मुख करके दोनों मुट्ठियों में राई ले, बाईं ओर की राई को दाईं ओर फेंक दें तथा दाईं ओर की राई को बाईं ओर फेंक दे। इसके बाद चैराहे पर दो मुख वाला दीपक जलायें, और घर आ जायंे। और हाथ पैर धो लें। 21. लक्ष्मीजी को गन्ना, अनार, सीताफल अवश्य चढ़ाएं। दीपावली के दिन प्रातःकाल 7 अनार और 9 सीताफल दान करें। बाधायें दूर करने के उपाय 1. दिवाली की रात्रि आप किसी गरीब व्यक्ति को काले कंबल का दान करें। ऐसा करने पर शनि और राहु-केतु के दोष शांत होंगे और कार्यों में आ रही रुकावटें दूर हो जाएंगी। 2. अपामार्ग की जड़ लायें और पूजन के पश्चात अपनी दाहिनी भुजा में बाँध लंे देखिये आपके कार्यों की बाधाएं कैसे दूर होने लगती है। 3. गोमती चक्र को लकड़ी की डिब्बी में पीले सिंदूर के साथ रख दिया जाए, तो व्यक्ति को जीवन में सफलता मिलने लगती है। 4. इस दिन किसी तालाब या नदी में मछलियों को आटे की गोलियां बनाकर खिलाएं। 5. पीपल के वृक्ष के नीचे छोटा सा शिवलिंग स्थापित कर इसकी नित्य पूजा करें। 6. इस तिथि को पीपल के वृक्ष को जल अर्पित करना चाहिए। ऐसा करने पर शनि के दोष और कालसर्प दोष समाप्त हो जाते हैं। 7. पीपल के वृक्ष के नीचे बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ किया जाए तो यह चमत्कारी फल प्रदान करने वाला उपाय है। 8. पीपल के वृक्ष पर जल चढ़ाकर सात परिक्रमा करनी चाहिए। इसके साथ ही शाम के समय पीपल के वृक्ष के नीचे दीपक भी लगाना चाहिए। 9. पीपल के पेड़ के नीचे दीया जलाने से पितृ और देवता प्रसन्न होते हैं, और अच्छी आत्माएं घर में जन्म लेती हैं। 10. तेल का दीपक जलाएं और दीपक में एक लौंग डालकर हनुमानजी की आरती करें। 11. किसी बुजुर्ग इंसान का अपमान न करें और दीपावली के दिन विशेष रूप से उनके चरण स्पर्श करके आशीर्वाद ग्रहण करें। ऐसा करने पर बड़ी-बड़ी परेशानियां भी दूर हो जाती हैं। 12. इस रात में एक नींबू लेकर मध्यरात्रि के समय किसी चैराहे पर जाएं और वहां उस नींबू को चार भाग में काटकर चारों रास्तों पर फेंक दें। 13. दीपावली के दिन घर के पश्चिम में खुले स्थान पर पितरों के नाम से 14 दीपक लगाएं। 14. इस रात्रि को पीपल के पत्ते पर दीपक जलाकर नदी में प्रवाहित करें। इससे आर्थिक परेशानियों से छुटकारा मिलता है। 15. प्रतिदिन सुबह घर से निकलने से पहले केसर का तिलक लगाएं। ऐसा हर रोज करें। 16. ब्रह्म मुहूर्त में उठें और स्नान करते समय नहाने के पानी में कच्चा दूध और गंगाजल मिलाएं। वस्त्र धारण कर सूर्य को जल अर्पित करें। लाल पुष्प सूर्य को चढ़ाएं। किसी जरूरतमंद व्यक्ति को अनाज एवं वस्त्र का दान करें. 17. महालक्ष्मी के पूजन में पीली कौड़ियां भी रखनी चाहिए। ये कौडियां पूजन में रखने से महालक्ष्मी बहुत ही जल्द प्रसन्न होती हैं। आपकी धन संबंधी सभी परेशानियां खत्म हो जाएंगी। 18. सुबह जब भी उठें तो उठते ही सबसे पहले अपनी दोनों हथेलियों का दर्शन करना चाहिए। 19. रात्रि में कच्चा सूत ले कर, उसे शुद्ध केसर से रंग कर, अपने कार्य स्थान में रखने से उन्नति होती है। लक्ष्मी पूजन में हल्दी की गांठ भी रखें। 20. लक्ष्मी पूजा करते समय एक बड़ा घी का दीपक जलाएं जिसमें नौ बत्तियां लगाई जा सकंे। सभी 9 बत्तियां जलाएं और लक्ष्मी पूजा करें। 21. पीपल का एक पत्ता तोड़ लाएं और इसे पूजा स्थान पर रखें। शनिवार आने पर पत्ता पुनः पीपल को अर्पित कर दें और दूसरा पत्ता ले आएं। यह प्रक्रिया हर शनिवार को करें। इससे घर में लक्ष्मी का स्थायी निवास रहेगा और शनिदेव भी प्रसन्न होंगे।

लक्ष्मी विशेषांक  नवेम्बर 2015

देवी लक्ष्मी को हर प्रकार का धन एवं समृद्धि प्रदायक माना जाता है। आधुनिक विश्व में सबकी इच्छा आरामदेह एवं विलासितापूर्ण जीवन जीने की होती है। प्रत्येक व्यक्ति कम से कम मेहनत में अधिक से अधिक धन कमाने की अभिलाषा रखता है इसके लिए देवी लक्ष्मी की कृपा एवं इनका आशीर्वाद आवश्यक है। दीपावली ऐसा त्यौहार है जिसमें देवी लक्ष्मी की पूजा अनेक तरीकों से इन्हें खुश करने के उद्देश्य से की जाती है ताकि इनका आशीर्वाद प्राप्त किया जा सके। फ्यूचर समाचार के वर्तमान अंक में प्रबुद्ध लेखकों ने अपने सारगर्भित लेखों के द्वारा देवी लक्ष्मी को खुश करने के अलग अलग उपाय बताए हैं जिससे कि देवी उनके घर में धन-धान्य की वर्षा कर सकें, अच्छा स्वास्थ्य प्रदान करें तथा पदोन्नति दें। बहुआयामी महत्वपूर्ण लेखों में सम्मिलित हैं: पंच पर्व दीपावली, लक्ष्मी प्राप्ति के अचूक एवं अखंड उपाय, दोष तंत्र- निरंजनी कल्प, लक्ष्मी को खुश करने के उपाय, दीपावली पर धन प्राप्त करने के अचूक उपाय, श्री वैभव समृद्धिदायिनी महालक्ष्मी अर्चना योग, क्यों नहीं रुकती मां लक्ष्मी, लक्ष्मी प्राप्ति के लिए विभिन्न प्रयोग, दीपावली के 21 उपाय एवं 21 चमत्कार आदि। इसके अतिक्ति कुछ स्थायी काॅलम के लेख भी उपलब्ध कराए गये हैं।

सब्सक्राइब

.