दैनिक जीवन में उपयोगी सरल टोटके

दैनिक जीवन में उपयोगी सरल टोटके  

दैनिक जीवन में उपयोगी सरल टोटके पं. महेशनंद शर्मा महाकाली का पूजन करें तथा शुद्ध घी का दीपक जलायें। प्रत्येक कार्य में सफलता मिलेगी। किसी फकीर को गुड़ तथा चना देने से सौभाग्य की प्राप्ति होगी। अपने ऊपर से एक रोटी को 31 बार उतारकर चौराहे पर रख दें, इससे दुर्भाग्य दूर होगा। यदि आपका व्यापार ठीक तरह से नहीं चल रहा है तो बुधवार के दिन एक तोता पिजरे सहित खरीद कर लायें तोते को आजाद कर दे। तोता जितनी दूर उड़कर जायेगा, आपका व्यापार उतना ही अधिक चलेगा। जिन बच्चों का पढ़ाई में मन नहीं लगता अथवा पढ़ने में कमजोर हों उन्हें तांबे में मूंगा जड़वाकर मंगलवार के दिन पहनायें, अवश्य ही फायदा होगा। मंगलवार के दिन मसूर की बिना छिलके वाली लाल दाल को लाल रंग के कपड़े की थैली लाल रंग के धागे से बनाकर बच्चे के बैग में रखें, ऐसा करने से भी बच्चे का मन पढ़ाई में लगने लगता है। श्वेतार्क की जड़ लाकर उसके टुकड़े करके सफेद धागे में पिरोकर माला की तरह बालक के गले में पहनाने से बालक नजर आदि से सुरक्षित रहता है। बालक को सिरस के बीजों की माला पहना देने से दांत निकलते समय कष्ट नहीं होता है। तांबा व लोहे के तारों से बना कड़ा पहनाने से बालक भौतिक व्याधियों से मुक्त रहता है। पीतमणी गुरुवार को गुरुपुष्य योग में गौमूत्र से धोकर धारण करने से कटु से कटु दांपत्य जीवन में सुधार आकर गृहस्थ में ऋद्धि-सिद्धि व बरकत बढ़ती है। दांपत्य जीवन में सुख के लिये पति-पत्नी गौरी शंकर रुद्राक्ष धारण करें तो वैवाहिक जीवन सुखमय होगा। जिस कन्या का विवाह न हो रहा हो वह किसी विवाह में दूल्हा-दूल्हन के पास इस तरह खड़ी हो जाये कि दूल्हे पर फेंके गये अक्षत उसके ऊपर गिरे, शीघ्र विवाह होगा। रामचरित मानस के बालकांड में शिव पार्वती विवाह प्रकरण का नित्य पाठ करने से कन्या का विवाह शीघ्र होता देखा गया है। कन्या के विवाह में हो रहे विलंब को दूर करने के लिये पिता को चाहिये कि विवाह वार्ता के समय कन्या कोई नवीन वस्त्र अवश्य धारण करे। जिस दिन किसी का इन्टरव्यू वगैरह हो तो सुबह उठते ही सूर्यास्त से पूर्व एक नीले रंग का धागा किसी खंबे, पेड़, आदि में गुपचुप बांधकर घर आ   जाए। उसके बाद ही इन्टरव्यू देने जायेंगे तो सफलता मिलेगी। प्रायः बहुत से ऐसे अभागे दुर्भाग्यशाली होते हैं जो किसी अशुभ क्षण में अशुभ ढंग से घर से निकलते हैं, उनमें कोई-कोई तो दुर्घटना/ घटना के उपरांत अपने घर कभी लौटकर नहीं आते। इसके लिएं सुझाव है कि घर से निकलने के पूर्व दांये पैर में जूता या चप्पल पहनें तथा पहले दांया पैर बाहर रखें, घर से जाते-जाते लौट-लौटकर वापिस आकर जायेंगे तो अपशकुन टल जायेगा, आप सकुशल लौट आयेंगे। अगर आप घर से निकल रहे हैं और अचानक आपको बछड़े को दूध पिलाती हुई गाय दिख जाये तो आप तुरंत घर जाकर गुड़ लाकर उस दूध पिला रही गाय को खिला दे। आपका दिन सौभाग्यशाली बीतेगा। दुर्भाग्य को सौभाग्य में परिवर्तित करने हेतु किसी कुएं या बावड़ी के समीप पीपल का पौधा लगायें। पौधे के वृक्ष होने तक उसको सींचे, पालन-पोषण करें। ऐसा करने से दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदलते देर नहीं लगती। ऐसे वृक्ष के समक्ष नित्य संध्या के समय दीपक जलायें। सुबह दैनिक क्रिया कलापों से निवृत्त होकर गणेश स्तोत्र का ऊनी आसन पर बैठकर पाठ करने से कार्यों की सफलता सुनिश्चित होती है। इससे व्यक्ति की मानसिक शक्ति असाधारण रूप से बढ़ती है और सुदृढ़ होती है। शनि की साढ़ेसाती से पीड़ित व्यक्ति को पुराने कपड़े व जूते का दान तथा अमावस्या को किसी पवित्र नदी में स्नान एवं शनि कवच का पाठ करना चाहिये। ऐसा करने से शनि देव की कृपा होकर साढ़ेसाती में उन्नति के द्वार खुलते है। मंगलवार के दिन हनुमान जी के पैरों का सिंदूर माथे पर लगाने से भी यही फल मिलता है। सोने के कमरे में तिल के तेल का दीपक प्रज्वलित करके सोने से बुरे सपने नहीं आते एवं गहरी नींद आती है। सोने के कमरे में नित्य देशी कपूर मिले शुद्ध घी का दीपक जलाने से नींद प्रगाढ़ आती है एवं मानसिक शांति मिलती है। तीन मुखी रुद्राक्ष के कुछ दाने तांबे के बर्तन में पानी डालकर डुबाये रखें। प्रत्येक 24 घंटे के अंतराल पर यह रुद्राक्ष जल प्रातःकाल खाली पेट पीने से विभिन्न चर्म रोगों से रक्षा होती है। तीन मुखी रुद्राक्ष को पत्थर पर घिस कर नाभि पर लगाने से धातु रोग में लाभ होता है। मिरगी के रोगी को रजस्वला स्त्री के हाथों से स्पर्श करवा दे तो उस पर आया मिरगी का दौरा शांत हो जायेगा। जूता सूंघने से भी मिरगी का दौरा शांत हो जाता है। अगर राहु व केतु का प्रकोप जातक पर हो तो उसे प्रतिदिन चींटियों को आटा या चीनी खिलाना चाहिये। क्षय रोग एवं अन्य बीमारियों तथा कोर्ट कचहरी से छुटकारा पाने के लिये गाय को रोटी खिलाना चाहिये। घर में नकारात्मक दृष्टि या शक्तियों का आगमन न हो इसके लिए प्रतिदिन शाम को लोबान या गुगल की धूप जलायें। कई बार जहां जातक नौकरी कर रहा होता है वहां से वह तबादला चाहता है और प्रयास करने पर भी कामयाब नहीं होता है, ऐसे में यह टोटका करें। सुबह सबेरे नहा धोकर ग्यारह लाल मिर्च लेकर सूर्य की तरफ फेकें और तबादले के लिये प्रार्थना करें। शीघ्र तबादला हो जायेगा। कोई भी शुभ कार्य, चाहे वह नौकरी के लिए साक्षात्कार हो या व्यवसाय से संबंधित, फिर कुछ और कार्य, करने से पूर्व हफ्ते के अलग-अलग दिनों में निम्नलिखित उपाय फलदायी होते हैर्ं। रविवार को पान का पत्ता अपने साथ लेकर जायें। सोमवार को दर्पण में अपना चेहरा देखकर जायें। मंगलवार को मिष्ठान्न, गुड़, चीनी, मिठाई आदि खाकर जायें। गुरुवार को सरसों के कुछ दाने मुख में डालकर जायें। शुक्रवार को दही खाकर जाना चाहिये। शनिवार को अदरक और घी खाकर जाना चाहिये। बुधवार के दिन हरे धनिये के पत्ते खाकर जाना लाभदायक रहता है।



उपाय व टोटके विशेषांक  आगस्त 2011

टोने –टोटके तथा उपायों का जनसामान्य के लिए अर्थ तथा वास्तविकता व संबंधित भ्रांतियां. वर्तमान में प्रचलित उपायों – टोटकों की प्राचीनता, प्रमाणिकता, उपयोगिता एवं कारगरता. विभिन्न देशों में प्रचलित टोटकों का स्वरूप, विवरण तथा उनके जनकों का संक्षिप्त परिचय.

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.