कुछ उपयोगी टोटके

कुछ उपयोगी टोटके  

कुछ उपयोगी टोटके डाॅ. उर्वशी बंधु आर्थिक लाभ हेतु: शुक्लपक्ष के प्रथम शुक्रवार को हत्था-जोड़ी को सिंदूर में चांदी व ग्यारह लौंग सहित, धूप दीप दिखा कर अपनी तिजोरी में चांदी की डिबिया में रखें तो धन दिन दूना रात चैगुना बढ़ता है। प्रतिदिन स्नान के पश्चात् दर्शन व प्रार्थना भी कर लें तो अच्छा लाभ होगा। रोग से मुक्ति हेतु: यदि आप रक्त से संबंधित किसी रोग से पीड़ित हों तो सिंदूर को अपने ऊपर से उतार कर बहते जल में प्रवाहित कर दें। ऐसा करने से रोग में आशातीत लाभ होता है। सुख शांति हेतु: सरसों के तेल से मिट्टी के जलते दीपक में काली गुंजा के दो दाने डालकर उसे गोधूलि बेला में घर के मुख्य द्वार पर रख दें तो घर में सुख-शांति चिरकाल तक बनी रहेगी। इससे शारीरिक, आर्थिक व सभी प्रकार की बाधाएं भी दूर होती हैं। ऋण से मुक्ति हेतु: भारी कर्ज से मुक्ति के लिए 43 दिन तक प्रतिदिन किसी भी मंदिर में जाएं और भगवान से इस जन्म व पूर्व जन्मों में जाने-अनजाने किए गए पापों के लिए हृदय से क्षमा याचना करें। यह उपाय चमत्कार से कम नहीं है। इसके अतिरिक्त गणपति को 21 दूर्वाएं और सिंदूर की डिब्बी अर्पित करें तथा लड्डुओं का भोग लगाएं। कर्ज की किश्त शुक्ल पक्ष के प्रथम मंगलवार से देना आरंभ करें। गले में सदैव सोना पहनें। हल्दी का तिलक प्रतिदन माथे पर लगाएं। पिता के साथ संबंध मधुर बनाने के लिए: पिता से संबंध यदि खराब हों तो किसी मंदिर के प्रांगण में पीपल का वृक्ष लगाएं व उसे प्रतिदिन जल में शर्बत मिलाकर सीचें। उसके नीचे घी का दीपक भी जलाएं। जैसे-जैसे वृक्ष फलता-फूलता जाएगा, पिता से संबंध मधुर होते चले जाएंगे। प्रतिदिन सूर्य को जल में रोली व सात बूंद गुलाबजल डालकर ऊँ सूर्याय नमः जपते हुए अघ्र्य दें। व्यापार में सफलता के लिए: व्यापार में अड़चनें आती हों या मंदी हो तो 4 शुगर क्यूब्स को सफेद कपड़े में बांध कर बहती नदी में लगातार 43 दिन प्रवाहित करें, बाधाएं दूर होने लगेंगी। कोर्ट-कचहरी में विजय प्राप्त करनी हो, तो केस संबद्ध कागजात पूजाघर में रखने चाहिए। प्रतिदिन शाम को दो लांैग डाल कर दीपक जलाएं। इससे विजय प्राप्ति की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। शीघ्र विवाह हेतु: लड़की के विवाह में यदि विलंब हो रहा हो तो उसे शुक्ल पक्ष के प्रथम बुधवार को हरिद्रा गणपति की प्रतिमा धूप दीप दिखाकर अपने बटुए में रख लेनी चाहिए तथा प्रतिदिन सच्चे मन से प्रार्थना करते हुए उसके दर्शन करने चाहिए। इससे विवाह शीघ्र होने की संभावना बनने लगती है। धन-समृद्धि के लिए: ग्यारह सफेद सुगंधित पुष्प शुक्ल पक्ष के प्रथम शुक्रवार को प्रातः सूर्योदय से पूर्व किसी चैराहे पर दिए जाएं तो अचानक लाभ प्राप्त होता है और धन-समृद्धि में वृद्धि होती है। प्रयोग के लिए निकलते समय कोई सुहागिन स्त्री दिख जाए तो यह टोटके के सफल होने का संकेत है। संतान प्राप्ति के लिए: चार बृहस्पतिवार को 900 ग्राम जौ चलते जल में डालें। बृहस्पतिवार का व्रत भी रख लें तो बहुत अच्छा है। राधाकृष्ण जी के मंदिर में शुक्ल पक्ष के बृहस्पतिवार या जन्माष्टमी को चांदी की बांसुरी चढ़ाएं। लाल या भूरी गाय को आटे का पेड़ा व पानी दें। उपाय श्रद्धापूर्वक करें, मनोकामना पूर्ण होगी।



राहु-केतु विशेषांक  आगस्त 2008

राहू केतु का ज्योतिषीय, पौराणिक एवं खगोलीय आधार, राहू-केतु से बनने वाले ज्योतिषीय योग एवं प्रभाव, राहू केतु का द्वादश भावों में शुभाशुभ फल, राहू केतु की दशा-अंतर्दशा का फलकथन सिद्धांत, राहू केतु के दुष्प्रभावों से बचने हेतु उपाय

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.