ग्रह स्थिति एवं व्यापार

ग्रह स्थिति एवं व्यापार  

गोचर फल विचार मासारंभ में बृहस्पति और राहु का सिंह राशि और मंगल व शनि का वृश्चिक राशि में राशि संबंध बनता है। यह योग भी देश में प्राकृतिक और अप्राकृतिक घटनाओं का सूचक है। इस मास में देश के किसी प्रमुख क्षेत्र में भूकंप, तूफान या विस्फोट से जन-धन हानि का संकेत मिलता है। कुछ प्रदेशों में राजनैतिक उथल-पुथल में बढ़ावा आने से आम जनता को भी अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा जिससे राजनेताओं और प्रशासक वर्ग में परस्पर टकराव और अशांति का माहौल बनाएगा। 14 मई को सूर्य का वृष राशि में आकर और 19 मई को शुक्र का वृष राशि में आकर मंगल व शनि से समसप्तक योग बनाना समीपवर्ती क्षेत्रों में अशांतमय माहौल बनाएगा और पड़ोसी देशों से टकराव की स्थितियां पैदा होगी। इस मास में जनता के मन में नए-नए रोगों को लेकर भय की भावना बनी रहेगी। इस मास में उत्तरी क्षेत्रों में तेज गर्म हवाओं के साथ सामान्य वर्षा का योग बनता है। गोचर ग्रह परिवर्तन व नक्षत्र वेध मासारंभ में 1 मई को वक्री बुध पश्चिम में अस्त होगा। 6 मई को शुक्र भरणी नक्षत्र में आकर सर्वतोभद्रचक्र द्वारा मघा नक्षत्र को वेधेगा। 7 मई को वक्री बुध पुनः भरणी नक्षत्र में आकर मघा नक्षत्र को वेधेगा। 8 मई को चंद्र दर्शन रविवार के दिन 45 मुहूर्ती में रहेगा। 9 मई को सिंह राशि स्थित गुरु ग्रह मार्गी होगा। 11 मई को सूर्य कृतिका नक्षत्र में आकर श्रवण, विशाखा व भरणी नक्षत्रों का वेध करेगा। 14 मई को सूर्य वृष राशि में आकर मंगल शनि से समसप्तक योग बनाएगा तथा ज्येष्ठ संक्रांति 30 मुहूर्ती में होगी। 16 मई को शुक्र कृतिका नक्षत्र में आकर सूर्य के साथ नक्षत्र संबंध बनाएगा तथा श्रवण नक्षत्र को वेधेगा। 17 मई को वक्री बुध पूर्व में उदय होगा। 19 मई को शुक्र वृष राशि में आकर राशि संबंध बनाएगा। 21 मई को वक्री शनि ज्येष्ठा नक्षत्र के प्रथम चरण में प्रवेश करेगा। 22 मई को बुध मार्गी गति में आएगा। 24 मई को सूर्य रोहिणी नक्षत्र में आकर अभिजीत, स्वाति व अश्विनी नक्षत्रों का वेध करेगा। 27 मई को शुक्र रोहिणी नक्षत्र में आकर अभिजित नक्षत्र का वेध करेगा। सोना व चांदी 1 मई को बाजारों में कुछ तेजी के बाद मंदी का योग दर्शाता है। इस मास में अस्थिरता का वातावरण ही रहेगा। 6 मई को बाजारों में पूर्वरूख का माहौल बनाएगा। 7 मई को बाजारों में कुछ तेजी का वातावरण ही बनाएगा। 8 मई को सोने व चांदी के बाजारों में तेजी का दायक ही बनाएगा। 9 मई को बाजारों में मंदी का रूख बनाएगा। 11 मई को बाजारों में कुछ तेजी की लहर को ही आगे चलाएगा। 14 मई को बाजारों में तेजी का रूख बरकरार रखेगा। 16 मई को बाजारों में तेजी में वृद्धि का कारक ही बनाएगा। 17 मई को बाजारों में पूर्वरूख का माहौल बना देगा। 19 मई को बाजारों में तेजी का योग दर्शाता है। 21 मई को बाजारों में पूर्व रूझान ही बनाएगा। 22 मई को बाजारों में उतार-चढ़ाव के साथ तेजी का रूख बनाएगा। 24 मई को पूर्वरूख के चलते चांदी के बाजारों में मंदी दर्शाता है। 27 मई को बाजारों में आगे तेजी की लहर को आगे चलाएगा। गुड़ व खांड़ मासारंभ में 1 मई को गुड़ व खांड के बाजारों में कुछ तेजी के बाद 6 मई तक मंदी का ही जोर बनाए रखेगा। 7 मई को बाजारों में तेजी की लहर को चलाएगा। 8 मई को बाजारों में पूर्वरूख को ही बनाएगा। 9 मई को बाजारों में पुनः मंदी का रूझान बना देगा। 11 मई को बाजारों में तेजी का योग दर्शाता है। 14 मई को बाजारों में तेजी का वातावरण ही बनाएगा। 16 मई को बाजारों में पूर्वरूख का दायक ही बनाएगा। 19 मई को बाजारों में पूर्वरूख को बरकरार रखने में सक्षम होगा। 21 मई को बाजारों में उतार-चढ़ाव की स्थिति को ही बनाएगा। 22 मई को बाजारों में तेजी बनाएगा। 27 मई को बाजारों में विशेषतया उतार-चढ़ाव के साथ आगे तेजी का ही रूख दर्शाता है। अनाजवान एवं दलहन मासारंभ में 1 मई को जौ, चना, ज्वार, बाजरा इत्यादि अनाजों तथा मूंग, मौठ, मसूर, अरहर इत्यादि दलहन के बाजारों में तेजी के बाद आगे उतार-चढ़ाव की स्थिति को बनाएगा। 7 मई को बाजारों में तेजी का रूख दर्शाता है। 8 मई को बाजारों में तेजी का ही माहौल बनाएगा। 9 मई को बाजारों में बदलाव देकर मंदी का रूख ही बनाएगा। 11 मई को बाजारों में पुनः तेजी का रूझान बना देगा। 14 मई को बाजारों में पुनः तेजी की लहर को चलाएगा। 16 मई को बाजारों में कुछ मंदी का दायक ही बनाएगा। 19 मई को बाजारों में पुनः तेजी का रूख बरकरार रखेगा। 21 मई को बाजारों में पूर्वरूख का दायक ही बनाएगा। 22 मई को बाजारों में मंदी का वातावरण ही दर्शाता है। 24 मई को बाजारों में पुनः तेजी का रूझान बनाएगा। 27 मई को आगे बाजारों में तेजी की लहर को चलाएगा। इस मास में बाजारों में अस्थिरता का माहौल बना रहेगा। घी व तेलवान मासारंभ में 1 मई को बाजारों में तेजी के बाद 6 मई तक कुछ मंदी का योग ही संभव है। 7 मई को बाजारों में पुनः तेजी का वातावरण बनाएगा। 8 मई को बाजारों में तेजी की स्थिति को बनाएगा। 9 मई को बाजारों में कुछ मंदी के बाद तेजी का रूझान बनाएगा। 11 मई को बाजारों में तेजी की स्थिति को बनाएगा। 14 मई को बाजारों में तेजी का रूख बरकरार रखेगा। 16 मई को बाजारों में तेजी का योग दर्शाता है। 17 मई को बाजारों में तेजी की स्थिति बनाएगा। 19 मई को बाजारों में पूर्वरूख दर्शाता है। 21 मई को बाजारों में तेजी का योग बनाएगा। 22 मई को बाजारों में तेजी में वृद्धि का कारक होगा। 27 मई को बाजारों में पूर्वरूख के चलते कुछ उतार-चढ़ाव के बाद तेजी का ही योग रहेगा।


रेकी एवं प्राणिक हीलिंग  मई 2016

मई माह के फ्यूचर समाचार वैकल्पिक एवं अध्यात्मिक चिकित्सा पद्धति का समर्पित एक विशेषांक है। ये चिकित्सा पद्धतियां शरीर के पीड़ित अंग को ठीक करने में आश्चर्यजनक रूप से काम करती हैं। इन चिकित्सा पद्धतियों का शरीर पर कोई नकारात्मक प्रभाव भी नहीं पड़ता अथवा इनका कोई साईड इफैक्ट नहीं होता। इस विशेषांक के महत्वपूर्ण आलेखों में सम्मिलित हैंः प्राणिक हीलिंगः अर्थ, चिकित्सा एवं इतिहास, रेकी उपचार:अनोखी अनुभूति है, रेकी: एक अद्भुत दिव्य चिकित्सा, चुंबकीय जल एवं लाभ, मंत्रोच्चार द्वारा - गोली, इंजेक्शन और दवा के बिना इलाज, संगीत से उपचार, एक्यूपंक्चर व एक्यूप्रेशर पद्धति आदि। इनके अतिरिक्त स्थायी स्तम्भों में बहुत से लाभदायक व रोचक आलेख भी पूर्व की भांति सम्मिलित किए गये हैं।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.