brihat_report No Thanks Get this offer
fututrepoint
futurepoint_offer Get Offer
ग्रह स्थिति एवं व्यापार

ग्रह स्थिति एवं व्यापार  

गोचर फल विचार मासारंभ में गुरु व राहु का तथा मंगल व शनि का राशि संबंध होना तथा सूर्य पर मंगल, बृहस्पति और राहु की दृष्टि का होना प्रशासनिक कार्यों में विशेषतया उथल-पुथल लाएगा। यह योग किसी वरिष्ठ व्यक्ति के निधन का भी संकेत देता है और विपक्षी दलों द्वारा सत्ता पक्ष की नीतियों की आलोचना और उनमें रूकावटें उत्पन्न की जाएगी। देश में हिंसक घटनाएं होने से आम जनता में असंतोष और भय की स्थिति बनी रहेगी। 7 मार्च को शुक्र भी कुंभ राशि में आकर सूर्य, बुध व केतु से राशि संबंध बनाएगा और गुरु ग्रह के साथ समसप्तक योग बनाएगा। शुक्र ग्रह मंगल की दृष्टि में भी आएगा। यह योग प्राकृतिक प्रकोपों से जन-धन की हानि का संकेत देता है। 18 मार्च को बुध व सूर्य का शनि की राशि से संबंध बनना और उपरोक्त योगों के अनुसार विशेषतया तटीय क्षेत्रों में प्राकृतिक आपदाएं, यान दुर्घटना, अग्निकांड इत्यादि का योग बनाता है और सीमाओं पर युद्धमय माहौल बनाएगा। उत्तर-पश्चिमी क्षेत्रों में तेज हवाओं के साथ कम वर्षा का योग बनाता है। गोचर ग्रह परिवर्तन व नक्षत्र वेध मासारंभ में 1 मार्च को बुध कुंभ राशि में आकर सूर्य व केतु से राशि संबंध बनाएगा। 2 मार्च को शुक्र ग्रह धनिष्ठा नक्षत्र में आकर सर्वतोभद्रचक्र द्वारा विशाखा नक्षत्र का वेध करेगा। 4 मार्च को सूर्य पू. भा. नक्षत्र में आकर चित्रा, पुनर्वसु व उ.षा. नक्षत्रों का वेध करेगा। 5 मार्च को बुध शतभिषा नक्षत्र में आकर स्वाति नक्षत्र का वेध करेगा। 7 मार्च को शुक्र कुंभ राशि में आकर सूर्य, बुध व केतु से राशि संबंध बनाएगा व मंगल, गुरु व राहु से दृष्टिगत होगा। 8 मार्च को बुध अस्त होगा तथा 9 मार्च को खंड ग्रास सूर्य ग्रहण होगा। 10 मार्च को गुरुवार के दिन चंद्र दर्शन 30 मुहूर्ती में होगा। 13 मार्च को शुक्र शतभिषा नक्षत्र में आकर स्वाति नक्षत्र को वेधेगा। 14 मार्च को सूर्य मीन राशि में आएगा और चैत्र संक्रांति 45 मुहूर्ती में होगी। 15 मार्च को गुरु ग्रह पू. फा. नक्षत्र में तृतीय चरण में आएगा। 17 मार्च को सूर्य उ. भा. नक्षत्र में आकर हस्त, आद्र्रा व पू. षा. नक्षत्र का वेध करेगा। 18 मार्च को बुध मीन राशि में आकर सूर्य के साथ राशि संबंध बनाएगा। 20 मार्च को बुध उ. भा. में आकर हस्त नक्षत्र का वेध करेगा। 23 मार्च को शुक्र पू. भा. नक्षत्र में आकर चित्रा नक्षत्र का वेध करेगा। 25 मार्च को वृश्चिक राशि स्थित शनि ग्रह वक्री गति में आएगा। 27 मार्च को बुध रेवती नक्षत्र में आकर पू. फा. नक्षत्र का वेध करेगा। 31 मार्च को सूर्य रेवती नक्षत्र में आकर उ. फा., मृगशिरा व मूल नक्षत्रों का वेध करेगा। सोना व चांदी 1 मार्च को सोना व चांदी के बाजारों में उतार-चढ़ाव की स्थिति के बाद तेजी का ही योग दर्शाता है। 2 मार्च को बाजारों में तेजी का वातावरण ही बनाएगा। 4 मार्च को बाजारों में पूर्वरूख का माहौल ही बनाएगा। 5 मार्च को बाजारों में उतार-चढ़ाव के बाद तेजी का रूख बनाएगा। 7 मार्च को बाजारों में पूर्वरूख ही दर्शाता है। 8 मार्च को बाजारों में बदलाव देकर मंदी का रूझान ही बनाएगा। 9 मार्च को बाजारों में उतार-चढ़ाव का माहौल दर्शाता है। 10 मार्च को बाजारों में मंदी का योग बनाएगा। 12 मार्च को सोना व चांदी के बाजारों में तेजी की लहर को चलाएगा। 13 मार्च को बाजारों में मंदी का रूख बरकरार रखेगा। 14 मार्च को सोने के बाजारों में तेजी तथा चांदी के बाजारों में मंदी का वातावरण ही बनाएगा। 15 मार्च को बाजारों में पूर्वरूख बनाएगा। 17 मार्च को बाजारों में उतार-चढ़ाव की स्थिति दर्शाता है। 18 मार्च को बाजारों में तेजी का ही दायक बनाएगा। 20 मार्च को बाजारों में तेजी का माहौल बनाएगा। 23 मार्च को बाजारों में मंदी का रूख ही दर्शाता है। 25 मार्च को बाजारों में मंदी का रूख ही दर्शाता है। 25 मार्च को बाजारों में तेजी का ही रूझान बना देगा। 27 मार्च को बाजारों में मंदी का रूख बनाएगा। 31 मार्च को बाजारों में तेजी की लहर को ही आगे चलाएगा। गुड़ व खांड़ 1 मार्च को गुड़ व खांड के बाजारों में उतार-चढ़ाव के बाद तेजी का रूख बरकरार रखेगा। 2 मार्च को बाजारों में मंदी का माहौल बनाएगा। 4 मार्च को बाजारों में पुनः तेजी का वातावरण बनाएगा। 5 मार्च को बाजारों में तेजी का योग दर्शाता है। 7 मार्च को बाजारों में पूर्वरूख ही बना देगा। 8 मार्च को बाजारों में उतार-चढ़ाव का ही दायक बनायेगा। 9 मार्च को बाजारों में तेजी की लहर को चलाएगा। 10 मार्च को बाजारों में मंदी का रूख ही बनाएगा। 12 मार्च को बाजारों में तेजी का वातावरण बनाएगा। 13 मार्च को बाजारों में मंदी का माहौल बनाएगा। 14 मार्च को बाजारों में तेजी का रूख बरकरार रखेगा। 15 मार्च को बाजारों में उतार-चढ़ाव की स्थिति ही बनाएगा। 17 मार्च को बाजारों में पूर्वरूख का दायक बनाएगा। 18 मार्च को बाजारों में तेजी का योग दर्शाता है। 20 मार्च को बाजारों में मंदी का माहौल बना देगा। 25 मार्च को बाजारों में मंदी का रूख ही बनाएगा। 27 मार्च को बाजारों में तेजी की लहर को ही आगे चलाएगा। 31 मार्च को बाजारों में तेजी का दायक ही बनाएगा। अनाजवान एवं दलहन 1 मार्च को जौ, चना, ज्वार, बाजरा इत्यादि अनाजों तथा मूंग, मौठ, मसूर, अरहर, इत्यादि दलहन के बाजारों में उतार-चढ़ाव की स्थिति को बनाएगा। 2 मार्च को बाजारों में मंदी का योग ही दर्शाता है। 4 मार्च को बाजारों में तेजी का रूख बरकरार रखेगा। 5 मार्च को बाजारों में तेजी का दायक ही बनाएगा। 7 मार्च को बाजारों में मंदी का वातावरण ही दर्शाता है। 8 मार्च को बाजारों में तेजी का रूख ही बनाएगा। 9 मार्च को बाजारों में तेजी की लहर को ही आगे चलाएगा। 10 मार्च को बाजारों में तेजी का माहौल ही बनाएगा। 12 मार्च को बाजारों में मंदी का वातावरण बनाएगा। 14 मार्च को बाजारों में तेजी के बाद पुनः मंदी की स्थिति को बनाएगा। 15 मार्च को बाजारों में मंदी का योग दर्शाता है। 17 मार्च को बाजारों में तेजी का रूख बरकरार रखेगा। 18 मार्च को बाजारों में तेजी की लहर को चलाएगा। 20 मार्च को बाजारों में मंदी की स्थिति ही बनाएगा। 25 मार्च को बाजारों में उतार-चढ़ाव के बाद तेजी का योग दर्शाता है। 27 मार्च को बाजारों में तेजी का दायक होगा। 31 मार्च को चना, ज्वार, बाजरा इत्यादि अनाजवानों तथा मूंग, मौठ, अरहर, मसूर इत्यादि दलहन के बाजारों में तेजी ही बनाए रखेगा। घी व तेलवान 1 मार्च को बाजारों में तेजी का वातावरण ही बनाएगा। 2 मार्च को बाजारों में तेजी का दायक ही बनाएगा। 4 मार्च को घी व तेलवान के बाजारों में उतार-चढ़ाव ही दर्शाता है। 5 मार्च को बाजारों में पूर्वरूख बनाएगा। 7 मार्च को बाजारों में तेजी का योग ही दर्शाता है। 8 मार्च को बाजारों में बदलाव देकर मंदी का रूख बनाएगा। 9 मार्च को बाजारों में तेजी की लहर को चलाएगा। 10 मार्च को बाजारों में तेजी की स्थिति को दर्शाता है। 12 मार्च को बाजारों में विशेषतया उतार-चढ़ाव का योग दर्शाता है। 13 मार्च को बाजारों में मंदी का रूख ही बनाएगा। 14 मार्च को बाजारों में मंदी ही लाएगा। 15 मार्च को बाजारों में पूर्वरूख बनाएगा। 17 मार्च को बाजारों में तेजी का वातावरण ही बनाएगा। 18 मार्च को बाजारों में तेजी का योग दर्शाता है। 20 मार्च को बाजारों में तेजी की लहर को ही चलाएगा। 23 मार्च को बाजारों में मंदी का दायक ही बनाएगा। 25 मार्च को बाजारों में तेजी की स्थिति को बना देगा। 27 मार्च को बाजारों में मंदी का योग दर्शाता है। 31 मार्च को बाजारों में आगे तेजी की लहर को ही आगे चला देगा। नोट: उपर्युक्त फलादेश पूरी तरह ग्रह स्थिति पर आधारित है, पाठकों का बेहतर मार्ग दर्शन ही इसका मुख्य उद्देश्य है। इसके साथ-साथ संभावित कारणों पर भी ध्यान देना चाहिए जो बाजार को प्रभावित करते हैं। कृपया याद रखें कि व्यापारी की सट्टे की प्रवृत्ति और निर्णय लेने की शक्ति में कमी तथा भाग्यहीनता के कारण होने वाले नुकसान के लिए लेखक, संपादक एवं प्रकाशक जिम्मेदार नहीं हैं।

फेस रीडिंग विशेषांक  मार्च 2016

भविष्य कथन की महत्वपूर्ण पद्धतियां श्रष्टि के प्रारम्भ से ही इस धरा के विभिन्न हिस्सों में मौजूद रही हैं। प्रत्येक सभ्यता में किसी न किसी रूप में भविष्यवक्ता अथवा अन्तर्द्रष्टा भूत एवं भविष्य के विषय में किसी न किसी प्रकार से लोगों को अवगत कराते रहे हैं। भारत में भी इन विधाओं की समृद्ध विरासत रही है जहां हर काल में ज्योतिष, हस्तरेखा शास्त्र, अंक शास्त्र, मुखाकृति विज्ञान आदि पुष्पित-पल्लवित होते रहे हैं तथा इन्होंने लोगों के भविष्य को आकार देने में महती भूमिका अदा की है। फ्यूचर समाचार के इस वर्तमान विशेषांक में मुखाकृति विज्ञान पर विशेष जोर दिया गया है। इस विषय पर अनेक महत्वपूर्ण आलेख समाविष्ट किये गये हैं जिनमें से कुछ अति महत्वपूर्ण आलेख हैं: नैन अन्तःकरण के झरोखे हैं, बनावट के अनुसार भौहें तथा उनके फल, आंखे व्यक्तित्व का आईना, नाक की आकृति स्वभाव एवं भविष्य आदि। इन विशिष्ट आलेखों के अतिरिक्त पूर्व की भांति सभी स्थायी स्तम्भ मौजूद हैं जिनमें विज्ञ ज्योतिर्विदों के आलेखों को स्थान दिया गया है।

सब्सक्राइब

.