अंक ज्योतिष के अनुसार वर्ष 2015

अंक ज्योतिष के अनुसार वर्ष 2015  

अंक-1 (स्वामी सूर्य) जिन व्यक्तियों का जन्म 1-10-19 एवं 28 दिनांक को हुआ है, उनका मूलांक-1 (एक) है। अंक एक का स्वामी ग्रह सूर्य है जो जीवन शक्ति का प्रतीक है। यह वर्ष आपके लिए परिश्रम एवं कुछ नवीन कार्य करने का है। आवेश, उत्तेजना, अहंकार, चिड़चिड़ापन तथा जल्दबाजी की प्रवृत्ति बढ़ सकती है। ऐसा होने से कार्यों आदि में बाधायें आ सकती हैं। रचनात्मक कार्यों में रूचि, नौकरी-व्यवसाय में प्रगति, विकास एवं उन्नति होगी। अधिकारियों, प्रभावशाली व्यक्तियों की सहायता से कार्य एवं तलाश पूरी होगी। गृहस्थ सामान्य रहेगा, परंतु कभी-कभी वैचारिक मतभेद भी होगा। संतान के विषय में विशेष सफलता मिलेगी। संतान-वाहन-लंबी यात्रा-सरकारी यात्रा लाभप्रद रहेगी। आर्थिक स्थिति ठीक रहेगी, परंतु विलंब एवं बाधा के पश्चात् निरंतर प्रयास से सफलता मिलेगी। आपके लिए प्रत्येक रविवार, बृहस्पतिवार एवं मंगल के दिन तथा जनवरी, मार्च, मई, जुलाई एवं अक्तूबर के माह शुभ रहेंगे। प्रत्येक माह की 20 तथा 28 तारीख यात्रा तथा किसी परिवर्तन के लिए लाभदायक रहेगी। विशेष कार्य के लिए 1, 10 तथा 16 तारीख शुभ रहेगी। अंक-2 (स्वामी चंद्र) इस अंक वालों के लिए परिवार, स्वास्थ्य एवं आर्थिक स्थिति के लिए परेशानी आती रहेगी। सकारात्मक सोच से आप लाभ एवं सफलता प्राप्त कर सकेंगे। इस वर्ष प्रगति पथ पर अग्रसर रहेंगे। व्यावसायिक क्षेत्र में परिवर्तन के साथ नवीनता के साथ-साथ उन्नति होगी। शिक्षा क्षेत्र में सफलता के लिए कठोर श्रम करना होगा। यद्यपि उन्नति के अवसर प्राप्त होंगे परंतु विरोधियों द्वारा कार्यों में रूकावट एवं परेशानी होगी, सफलता हेतु अधिक भाग-दौड़ करनी होगी, यात्रायें लाभप्रद रहेंगी, विदेश-यात्रा में बाधाएं आयेंगी। अचानक स्वास्थ्य खराब होने की संभावना है। सितंबर, अक्तूबर, नवंबर तथा दिसंबर में विवादों से दूर रहें। जनवरी, फरवरी, अप्रैल, नवंबर के महीने लाभकारी पर बाधायुक्त रहेंगे। यात्रा तथा किसी तरह के परिवर्तन के लिए 20 तथा 26 तारीखें विशेष लाभ देंगी। प्रत्येक माह की 2, 4, 6, 8, 11, 16, 20, 22, 29 एवं 30 तारीखें शुभ एवं प्रभावशाली रहेंगी। अंक-3 (स्वामी-बृहस्पति) इस वर्ष प्रगति एवं पदोन्नति, कार्य क्षेत्र में विस्तार, राजनीतिक संपर्क व्यवसाय के लिए लाभकारी सिद्ध होंगे। नई नौकरी अथवा व्यवसाय के अवसर प्राप्त होंगे। आवेश, शराब, स्वभाव में रूखापन से प्रतिकूल प्रभाव होगा। देशी-विदेशी यात्रा के अवसरों से लाभ, चुनावों में लाभ, महत्वपूर्ण व्यक्ति का सहयोग, वांछित कार्य पूरे, धन आगमन, सबसे मधुर संबंध बनेंगे, विद्या लाभ, स्वास्थ्य में परेशानी, व्यापार में उन्नति, कार्य क्षेत्र में प्रभाव बढ़ेगा। नवंबर, दिसंबर में तनाव एवं आकस्मिक प्रतिकूल हालात बन सकते हैं। अप्रैल, मई, अगस्त में स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहें। प्रत्येक रविवार, सोमवार, मंगल, शुक्र एवं बृहस्पतिवार कार्यों के लिए शुभ हैं। प्रत्येक मास की 3-6-9-12-18-21-24 एवं 30 तिथियां लाभकारी सिद्ध होंगी। यात्रा के लिए विशेषकर 18 व 30 तिथि शुभ फल देंगी। आपके लिए मार्च-मई-जून, जुलाई-सितंबर तथा दिसंबर मास विशेष महत्व के होंगे। अंक-4 (स्वामी-राहु) इस वर्ष अनेक उतार-चढ़ाव आयेंगे, परंतु सफलता एवं लाभ अधिक रहेगा। संघर्ष एवं कार्यशक्ति में वृद्धि, जीवन में नया मोड़, बुद्धि-विवेक से कार्य में उन्नति, रोजगार प्राप्त, नौकरी में उन्नति, परिवार, पत्नी से मेल-जोल में अधिक लाभ एवं सफलता, विवाह-योग बनेगा, भौतिक-सुख-सुविधा बढ़ेगी, यात्रा में सतर्कता बरतें, प्रभाव बढ़ेगा, चुनाव में विजय आदि लाभ प्राप्त होंगे। जनवरी, अप्रैल एवं मई में कर्मचारियों को परेशानी हो सकती है। मार्च, अप्रैल, जुलाई, अगस्त एवं सितंबर मास विशेष महत्व के रहेंगे। फरवरी, जून, अगस्त एवं दिसंबर में स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहें। प्रत्येक सोमवार एवं बुधवार लाभदायक होंगे- 2-4-8-16-22 एवं 26 तारीखें शुभ हैं। अंक-5 (स्वामी-बुध) बुद्धि-विवेक-युक्ति एवं प्रतिभा से किये गये कार्यों में सफलता एवं धन लाभ है। वाणी की कठोरता से मित्रों एवं संबंधियों से मतभेद, सामाजिक क्षेत्र में परेशानी, कानूनी उलझन, वाणिज्य-व्यवसाय में लाभ, दीर्घकालीन योजनाओं में लाभ, कठिन परिश्रम के पश्चात परीक्षा, प्रतियोगिता, साक्षात्कार में सफलता, यात्राओं में लाभ, स्थान-परिवर्तन का भय, गृह सुख, घर में सास-बहू विवाद आदि फल मिलेंगे। अगस्त, सितंबर एवं दिसंबर में स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें, बुध, गुरु एवं शनिवार के दिन शुभ रहेंगे। दिनांक 5-10-14 एवं 23 को शुभ फल प्राप्त एवं जनवरी-मार्च-जुलाई के मास विशेष महत्व के रहेंगे। नोट: वर्ष 2015 का मूलांक 1$5 =6 है। अतः अंक-6 वालों अर्थात 6-15-24 तारीख को जन्मे व्यक्तियों (30 भी) के लिए यह वर्ष विशेष महत्वपूर्ण रहेगा। अंक-6 (स्वामी शुक्र) यदि आप महिलाओं को महत्व और सम्मान देंगे तो उनके द्वारा लाभ एवं सफलता-प्राप्ति की संभावना है। यात्रायें लाभकारी, विवाह योग, घर में सुख-सुविधा का सामान आयेगा, कार्य-व्यवसाय में सफलता, विद्यार्थियों को लाभ, आर्थिक स्थिति अस्थिर, अचानक अस्वस्थता, कार्यों में कुछ परेशानी, खर्च बढ़ेगा, सहयोगियों का सहयोग नहीं मिलेगा, प्रेम-संबंधों में कुछ परेशानी आदि आयेगी, परंतु ये परेशानियां-कष्ट अल्पकाल के लिये ही होगी अंततः लाभ ही होगा, यह वर्ष आपकी परीक्षा का है। दिनांक 6-15-24-30 शुभफल प्रदान करेंगी। जनवरी, मार्च, अप्रैल, मई, जून, सितंबर मास विशेष महत्व के होंगे। अंक-7 (स्वामी-केतु) धर्म-कर्म में अरूचि बढ़ेगी, आर्थिक लाभ हेतु यात्रा करेंगे जिनमें लाभ होगा, आर्थिक स्थिति में कुछ संघर्ष के बाद मोड़ तथा लाभ आयेगा, संतान सुख, संपत्ति-वाहन प्राप्ति की आशा, मानसिक, शुगर, मूत्र-विकार, जोड़ों के दर्द एवं गुप्त विकार आ सकते हैं। यह वर्ष कुछ उतार-चढ़ाव लायेगा, कुछ अनुकूलता प्राप्त होगी। विद्यार्थियों के लिए कुछ परेशानी, विवाह योग में परेशानी, कुल मिलाकर यह वर्ष संघर्षपूर्ण रहेगा। प्रत्येक मास की 7, 14, 16, 25 एवं 28 तिथियां लाभकारी रहेंगी। यात्रा एवं किसी तरह के परिवर्तन के लिए 28 तारीख लाभदायक सिद्ध होगी। अंक-8 (स्वामी-शनि) शनि और वर्ष मूलांक शुक्र एक-दूसरे के मित्र हैं। यह वर्ष आपको अनुकूलता की ओर ले जायेगा। पिछले वर्ष जो कार्य अपूर्ण रह गये थे, उनको इस वर्ष पूरा कर लिया जायेगा। परिश्रम-तल्लीनता, काम के प्रति पूर्ण निष्ठा भी अति आवश्यक है। व्यावसायिक, आर्थिक परिस्थितियां अनुकूल रहेंगी। भूमि-भवन-वाहन आदि के लिए प्रयत्नशील रहेंगे,सभी से सुख, प्रेम संबंध बनेंगे। घर में शुभ, मंगलमय कार्य होने की संभावना रहेगी, नये मित्र बनेंगे। प्रत्येक मास की 4, 8, 17 एवं 26 तारीखें विशेष महत्व की होंगी। परिवर्तन तथा तबादले, शुभ कार्य हेतु 8, 16, 26 तारीखें विशेष अनुकूल रहेंगी। फरवरी, अप्रैल एवं अगस्त मास फलदायक रहेंगे। बुध, शुक्र, शनिवार के दिन अनुकूल सिद्ध हो सकते हैं। अंक-9 (स्वामी-मंगल) मंगल वर्ष मूलांक शुक्र का शत्रु अंक है। जातक को धन, नौकरी एवं व्यवसाय के क्षेत्र में परेशानी एवं कठोर श्रम करना होगा। इस वर्ष किसी महत्वपूर्ण व्यक्ति से मुलाकात होगी जिससे आपके जीवन में एक महत्वपूर्ण मोड़ आयेगा और एक नया रास्ता प्रशस्त होगा। नौकरी, व्यवसाय में वृद्धि एवं विस्तार हेतु प्रयत्नशील रहेंगे। टेक्नीकल क्षेत्र में वृद्धि के आसार हैं। स्त्री जाति को सम्मान दें, उससे मधुर संबंध बनाये रखें, इससे आपके जीवन में लाभ के अनेक योग बनेंगे। बिना विचारे कोई कार्य न करें अन्यथा बहुत बड़ी मुसीबत में पड़ सकते हैं। सोम, मंगल, गुरु एवं शुक्रवार के दिन शुभ हैं। मार्च, जून एवं सितंबर के माह शुभता लायेंगे। दिनांक 6-15-18-21-24-27 एवं 30 विशेष शुभ रहेंगे। किसी तरह के परिवर्तन, नये कार्य एवं यात्रा हेतु 18 तारीख महत्वपूर्ण रहेगी।


नववर्ष विशेषांक  जनवरी 2015

फ्यूचर समाचार पत्रिका के नववर्ष विशेषांक में नववर्ष की भविष्यवाणियों में आपकी राशि तथा भारत व विश्व के आर्थिक, राजनैतिक व प्राकृतिक हालात के अतिरिक्त 2015 में भारत की अर्थव्यवश्था, शेयर बाजार, संतान भविष्य आदि शामिल हैं। इसके साथ ही आपकी राशि-आपका खानपान, ज्योतिष और महिलाएं, जनवरी माह के व्रत-त्यौहार, क्यों मानते हैं मकर सक्रांति?...

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.