चेहरे के हाव-भावों से मिनटों में जान सकते हैं सामने वाले का व्‍यवहार, ज्‍योतिष की इस विद्या में बड़ी है ताकत

चेहरे के हाव-भावों से मिनटों में जान सकते हैं सामने वाले का व्‍यवहार, ज्‍योतिष की इस विद्या में बड़ी है ताकत  

फ्यूचर समाचार
व्यूस : 294 | जुलाई 2022

ज्‍योतिष या हस्त रेखा विज्ञान की तरह ही फेस रीडिंग एस्‍ट्रोलॉजी भी है जो व्‍यक्‍ति के बारे में कई बातें जानने में मदद करती है। फेस रीडिंग यानि चेहरे को पढ़ने की इस विद्या से आप सामने वाले व्‍यक्‍ति के बारे में काफी कुछ जान सकते हैं। फेस रीडिंग से आप जान सकते हैं कि व्‍यक्‍ति कैसा है, उसकी आदतें क्‍या हैं, उसकी खूबियां क्‍या हैं और उसकी बुरी आदतें क्‍या हैं। फेस रीडिंग की मदद से आप बस व्‍यक्‍ति के चेहरे और शारीरिंग अंगों को देखकर ही, उसके बारे में जान सकते हैं। अलग-अलग तरह के चेहरे भिन्‍न पर्सनैलिटी को दर्शाते हैं। इस तकनीक से आप किसी भी इंसान को बहुत आसानी से समझ सकते हैं।

फेस रीडिंग विज्ञान या रिसर्च की नई पद्धति नहीं है बल्कि यह तो कई सदियों से मौजूद है। चेहरे की बनावट और दिखावट के आधार पर व्‍यक्‍ति को जानने और परखने की यह विद्या बहुत पुरानी मानी जाती है। 

ज्योतिष शास्त्र में शरीर का अध्ययन कर व्यक्तित्व और भाग्य बताने की विधि को सामुद्रिक शास्त्र कहा जाता है। सामुद्रिक शास्त्र विद्या में व्यक्ति के चेहरे और अंगों को देखकर उसके बारे में कई बातें जानी जा सकती हैं। प्राचीन भारतीस फेस रीडिंग एस्‍ट्रोलॉजी के अनुसार आपका चेहरा आपकी नौकरी, करियर और व्यवसाय के बारे में बता सकता है।

कैसे पढ़ते हैं चेहरा

फेस रीडिंग की कला को सीखने के लिए पहले आपको चेहरे के हाव-भावों को पहचानने और उन्‍हें व्‍यक्‍ति की पर्सनैलिटी से जोड़ने की जरूरत है। चेहरे के सबसे अहम चीजें माथा, आइब्रो, नाक, आंख, कान और होंठ होते हैं और हर लिंग के लिए इनका अलग मतलब होता है।

चेहरा 3 भागों में बांटा गया है जो जीवन के अलग-अलग पहलुओं को दर्शाता है, जैसे कि :

  • माथे से लेकर भौंहों तक का हिस्‍सा जन्‍म से लेकर 30 तक की उम्र को दर्शाता है।
  • आंखों से लेकर नाक तक का मध्‍य हिस्‍सा 30 से 60 साल की उम्र तक के जीवन को दर्शाता है।
  • चेहरे का निचला हिस्‍सा यानि नाक से लेकर ठोड़ी तक 60 साल की उम्र से लेकर मृत्‍यु तक के जीवन को दर्शाता है।

चेहरे की शेप से जानें

चेहरे की सबसे पहली विशेषता उसका आकार होता है। चेहरे गोल, तिरछे, चौकोर और त्रिकोणीय हो सकते हैं।

  • गोल चेहरा : इन लोगों को पानी की तरह माना जाता है। इनके चेहरे पर मांस ज्‍यादा होता है और व्‍यवहार से ये बहुत भावुक होते हैं। गोल चेहरे वाले लोग बहुत संवेदनशील और केयरिंग होते हैं। रिश्‍ते में इन्‍हें संतुलन पसंद होता है।
  • पतला-लंबा चेहरा : लंबे और पतले चेहरे वाले लोग प्रैक्टिकल, व्यवस्थित और दूसरों से ज्‍यादा मेहनती होते हैं।
  • त्रिकोणीय चेहरा : इन लोगों को आप बुद्धिमान कह सकते हैं। ये बहुत क्रिएटिव होते हैं और किसी को भी अपनी बुद्धि से प्रभावित कर सकते हैं। इन्‍हें कला के क्षेत्र में सफलता मिलने की संभावना रहती है।
  • चौकोर चेहरा : ये लोग बहुत स्‍मार्ट, तोल-मोल करने वाले और तेज दिमाग वाले होते हैं। इन्‍हें गुस्‍सा भी जल्‍दी आ जाता है।
  • आयताकार चेहरा : ये बहुत ईमानदार, उदार और नम्र स्‍वभाव के होते हैं। ये ऊंचे पद पर काम करते हैं और इनकी सबसे बड़ी खासियत है कि इनमें बुद्धिमत्ता और ईमानदारी के बीच संतुलन होता है।

आंखों से फेस रीडिंग

आंखों का संबंध समृद्धि, संपन्‍नता और वर्ग से होता है। अलग-अलग लोगों की पर्सनैलिटी के बारे में आंखों से काफी आसानी से जाना जा सकता है।

  • भूरी आंखें : इस तरह की आंखें व्‍यक्‍ति की एनर्जी, प्रजनन, ताकत, रचनात्‍मकता, साहस आदि को दर्शाती हैं। ये लोग अध्‍यात्‍म को सीखने वाले होते हैं और इन्‍हें फायदे-नुकसान से ज्‍यादा फर्क नहीं पड़ता है।
  • काली आंखें : आमतौर पर काले रंग की आंखें रोमांस, रहस्‍य और सेक्‍स आदि को दर्शाती हैं। ये लोग अपने बारे में ज्‍यादा कुछ नहीं बताते हैं और इन्‍हें मानसिक शक्तियों के लिए जाना जाता है।
  • नीली आंखें : ये आंखें प्रकृति, स्‍वस्‍थ जीवन, ताजगी आदि को दर्शाती हैं। नीले रंग की आंखें बहुत अनोखी होता हैं।

कानों से फेस रीडिंग

व्‍यक्‍ति के व्‍यवहार में जानने के लिए उसके कानों को देख सकते हैं। हालांकि, आप ऐसी बातों को सुन सकते हैं और उन पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं जो व्यक्ति के स्वभाव को निर्धारित करने में आपकी मदद करती हैं।

  • छोटे कान : ये सम्मान, शिष्टाचार और स्नेह का प्रतिनिधित्व करते हैं। हालांकि, बहुत छोटे कान शर्मीले और अकेले रहने वाले लोगों की पहचान होते हैं।
  • बड़े कान : इस तरह के कान अशिष्‍टता और भौतिक सुखों से प्‍यार करने को दर्शाते हैं। लंबे कान, ताकत, साहस, एनर्जी और शक्ति को दिखाते हैं।

भौंहों से फेस रीडिंग

भौहें, स्वास्थ्य और दीर्घायु का प्रतिनिधित्व करती हैं। ढीली भौहें दोस्तों और भाइयों के साथ खराब रिश्‍ते और बुरे लोगों के साथ दोस्ती करने का संकेत देती हैं।

  • उठी हुई भौहें : ये लोग दूसरों के काम, व्‍यवहार, दिनचर्या से उसके बारे में गहराई से जान लेते हैं। इनका फोकस सीधा व्‍यक्‍ति पर होता है।
  • सीधी भौहें : ये लोग बहुत ही प्रत्यक्ष और तथ्यात्मक दृष्टिकोण रखते हैं। ये मुश्किल चीजों को भी अपनी भावनाओं को प्रभावित हुए बिना स्‍वीकार कर लेते हैं।
  • कोण में बनी आइब्रो : इन लोगों में नेतृत्व के अच्छे गुण होते हैं लेकिन इनमें कभी-कभी तकनीकी दृष्टिकोण की कमी देखी जाती है। हालांकि, ये कठिन परिस्थितियों को बहुत ही सरल और आसान तरीके से संभाल सकते हैं।

कैसे सीखें फेस रीडिंग

फेस रीडिंग सीखना कोई कठिन काम नहीं है, लेकिन निरंतर अभ्यास से इसमें महारत हासिल की जा सकती है। इसके अलावा, यह एक ऐसा कौशल या स्किल है जिसे सभी को सीखना चाहिए। इसकी मदद से आप मनुष्‍य के जटिल स्‍वभाव और व्‍यक्‍तित्‍व के बारे में आसानी से जान सकते हैं। यदि आप किसी व्‍यक्‍ति के बारे में जानना चाहते हैं या उसके व्‍यवहार की जानकारी लेना चाहते हैं, तो फेस रीडिंग से ये काम बड़ी आसानी से हो सकता है।

आप Future point से फेस रीडिंग कोर्स ( Face reading course) कर सकते हैं। यह कोर्स आपके जीवन को बदल सकता है और सामने वाले के बारे में आपको सहज ज्ञान प्रदान कर सकता है।



Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business


.