वास्तु मंत्र

वास्तु मंत्र  

वास्तु मंत्र पं. महेशनन्द शर्मा घर में अनुपयोगी वस्तुएं, टूटा हुआ शीशा, पलंग, खाली डिब्बे आदि नहीं रखना चाहिए। इससे नकारात्मक ऊर्जा पैदा होती है जो काम में बाधा डालती है। घर में बंद घड़ियां भी नहीं रखनी चाहिए। Û घर के आग्नेय कोण में कुआँ या ट्यूबवेल नहीं होना चाहिए। ऐसा होने पर घर की वरिष्ठ महिला और संतान को शारीरिक कष्ट हो सकता है। इससे बचने के लिए कुएं से लगे कमरे में ऊंचाई पर फिटकरी का टुकड़ा रखें। बीम के नीचे सोने या बैठने वाले व्यक्ति को मानसिक अशांति, अनिद्रा तथा चिड़चिड़ापन आदि की समस्याएं हो जाती हैं इसलिए इस दोष के निवारण के लिए बीम के दोनों सिरों पर लकड़ी की बांसुरी लटका दें। यदि घर के द्वार खोलते ही सामने सीढ़ी हो, तो द्वार व सीढ़ी के बीच पर्दा लगा दें। शौचालय यदि वास्तुशास्त्र के नियमों के अनुसार न बना हो, तो इस दोष के निवारण के लिए किसी पात्र में नमक रखकर शौचालय के अंदर किसी ऊंची सतह पर रखें। मुख्य द्वार के वास्तु दोष निवारण हेतु मुख्य द्वार पर लाल रंग का फीता बांधें तथा द्वार के बाहरी ओर दीवार के ऊपर पाकुआ द



वास्तु विशेषांक  दिसम्बर 2012

फ्यूचर समाचार पत्रिका के वास्तु विशेषांक में वास्तुशास्त्र के सिद्धांत - वर्तमान समय में उपयोगिता, ज्योतिष, वास्तु एवं अंकशास्त्र के संयुक्त क्रियान्वयन की रूपरेखा, वास्तुशास्त्र एवं फेंगशुई- समरूपता एवं विभिन्नता, वास्तु पुरूष का प्रार्दुभाव एवं पूजन विधि, वास्तु शास्त्र का वैज्ञानिक दृष्टिकोण, भूखंड चयन की गणीतीय विधि, गृह निर्माण एवं सुख समृद्धि का वास्तु, वास्तु एवं फेंगशुई, वास्तु दोष कारण व निवारण, वास्तु एवं बागवाणी, वृक्षों व पौधों से वास्तु लाभ कैसे लें, वास्तु मंत्र, वास्तु शास्त्र एवं धर्म, वास्तुशास्त्र में शकुन एवं अपशकुन, लाभदायक वास्तु सामग्री, क्रिस्टल की उपयोगिता, फलादेश में अंकशास्त्र की भूमिका, पाइथागोरियन अंक ज्योतिष, वास्तु के अनुसार शेक्षणिक संस्थान, हवन प्रदूषण में कमी लाता है, मां त्रिपुर सुंदरी का चमत्कारी शक्तिपीठ, वास्तु परामर्श, वास्तु प्रश्नोतरी, विवादित वास्तु, यंत्र समीक्षा/मंत्र ज्ञान, हेल्थ कैप्सुल, अंक ज्योतिष के रहस्य, आदि विषयों पर गहन चर्चा की गई है।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.