व्यापार वृद्धि एवं आर्थिक समृद्धि के टोटके

व्यापार वृद्धि एवं आर्थिक समृद्धि के टोटके  

1. व्यापार वृद्धि के लिए शनिवार को छोड़कर किसी भी दिन एक पीपल का पत्ता लेकर गंगाजल से धोकर, उस पर तीन बार ‘ऊँ’ नमो भगवते वासुदेवाय नमः’ लिख कर, पत्ते को पूजा स्थल पर रख लें, उसकी आराधना करें। नित्य धूप, अगरबत्ती की धूनी दें, तो ईश्वर की कृपा से सब बाधायें दूर हो, निरंतर व्यापार वृद्धि शुरू हो जायेगी। 2. कई बार बहुत परिश्रम करने के बाद भी व्यापार में वृद्धि नहीं होती हो तो यह टोटका करें शनिवार को एक पीपल का पत्ता लेकर, गंगाजल से धोकर, यदि गंगाजल न हो तो दूध से धो लें, आप जहां बैठते हैं वहां इस पत्ते को अपने पास रख लें। अगले शनिवार एक पत्ता और लायें फिर वैसा ही करें, जब सात शनिवार सात पत्ते हो जायें, तो इन सातों पत्तों पर जय वीर हनुमान लिखकर नदी या नहर में जल प्रवाह करें, व्यापार में वृद्धि होगी। 3. आय, बचत और बरकत के लिए टोटका अगर अधिक से अधिक धन कमाने के बाद भी कुछ बचा नहीं पाते हैं तथा घर में बरकत नहीं रहती, पता नहीं चलता कि रुपया कहां से आया, कहां चला गया, तो इस उपाय को करें- मंगलवार के दिन लाल चंदन, लाल गुलाब के फूल तथा रोली लें। इन सब चीजों को लाल कपड़े में बांध कर एक सप्ताह के लिए मंदिर में रख दें। घर पर धूपबत्ती किया करें। एक सप्ताह के बाद उनको घर की तथा दुकान की तिजोरियों में रख दें। सब सही होगा। धन जुड़ेगा, बचत होगी। 4. अपने मकान या दुकान हेतु टोटका जिन व्यक्तियों के लाख प्रयत्न करने पर भी स्वयं का मकान तथा दुकान न बन रहा हो तो वे इस टोटके को जरूर करके देखें- इस टोटके को शुक्रवार से शुरू करें। शुक्रवार को किसी गरीब को खाना खिलाना शुरू करें तथा रविवार तक लगातार उसे खिलाते रहें। जल्दी ही आपका मकान या अपनी दुकान होगी। 5. व्यापार में फंसा पैसा निकालने के लिए टोटका यदि व्यापार का पैसा फंस गया हो, या देनदार देने से कतराता हो, पैसा मिलने की सारी आशाएं खत्म हो गई हांे तो इस टोटके को करें। किसी भी शुक्ल पक्ष की अष्टमी को रूई धूनने वाले से थोड़ी साफ रूई ले कर आएं, उसकी चार बत्तियां बना लें। उन बत्तियों को मंदिर में रख दें। फिर रात को एक चार मुखी दीया लें। उसमें सरसों का तेल डालें, चारों बत्तियों को उस दीये में लगा दें तथा उनको जला कर किसी चैराहे पर रख दें, वापिस आने से पहले किसी साफ-सुथरी सूई से अपनी अंगुली का थोड़ा सा खून निकाल कर उसे तेल के दीये में डाल दें। जिस व्यक्ति से पैसे लेने हैं, मन में उसका नाम लें (तीन बार), फिर बिना रूके घर वापिस आ जायें। घर आकर थोड़ा सा गुड़ रोटी पर रखकर गाय को खिला दें, या गाय न मिले तो उसे निकाल कर रख दें। धन वापिस प्राप्त होगा। व्यापार पुनः सुदृढ़ हो जायेगा। 6. आर्थिक स्थिति समृद्धि/सुधार हेतु टोटका यदि आर्थिक स्थिति लगातार खराब होती जा रही हो, खर्चे बढ़ते जा रहे हों तो, गुरु पुष्य योग में शुक्ल पक्ष में प्रातः हरे रंग के कपड़े की छोटी सी थैली तैयार करें। इस थैली में 7 मूंग, 10 ग्राम साबूत धनिया, एक पंचमुखी रुद्राक्ष, एक चांदी का रुपया या दो सुपारी, दो हल्दी की गांठें रखकर गणेश जी का ध्यान करते हुए, इस थैली को तिजोरी या कैश बाॅक्स में रख दें।

लक्ष्मी विशेषांक  नवेम्बर 2015

देवी लक्ष्मी को हर प्रकार का धन एवं समृद्धि प्रदायक माना जाता है। आधुनिक विश्व में सबकी इच्छा आरामदेह एवं विलासितापूर्ण जीवन जीने की होती है। प्रत्येक व्यक्ति कम से कम मेहनत में अधिक से अधिक धन कमाने की अभिलाषा रखता है इसके लिए देवी लक्ष्मी की कृपा एवं इनका आशीर्वाद आवश्यक है। दीपावली ऐसा त्यौहार है जिसमें देवी लक्ष्मी की पूजा अनेक तरीकों से इन्हें खुश करने के उद्देश्य से की जाती है ताकि इनका आशीर्वाद प्राप्त किया जा सके। फ्यूचर समाचार के वर्तमान अंक में प्रबुद्ध लेखकों ने अपने सारगर्भित लेखों के द्वारा देवी लक्ष्मी को खुश करने के अलग अलग उपाय बताए हैं जिससे कि देवी उनके घर में धन-धान्य की वर्षा कर सकें, अच्छा स्वास्थ्य प्रदान करें तथा पदोन्नति दें। बहुआयामी महत्वपूर्ण लेखों में सम्मिलित हैं: पंच पर्व दीपावली, लक्ष्मी प्राप्ति के अचूक एवं अखंड उपाय, दोष तंत्र- निरंजनी कल्प, लक्ष्मी को खुश करने के उपाय, दीपावली पर धन प्राप्त करने के अचूक उपाय, श्री वैभव समृद्धिदायिनी महालक्ष्मी अर्चना योग, क्यों नहीं रुकती मां लक्ष्मी, लक्ष्मी प्राप्ति के लिए विभिन्न प्रयोग, दीपावली के 21 उपाय एवं 21 चमत्कार आदि। इसके अतिक्ति कुछ स्थायी काॅलम के लेख भी उपलब्ध कराए गये हैं।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.