brihat_report No Thanks Get this offer
fututrepoint
futurepoint_offer Get Offer
कुछ उपयोगी टोटके

कुछ उपयोगी टोटके  

कुछ उपयोगी टोटके संत फतह सिंह पांवों को जगाने का टोटका: बहुधा देखा गया है कि प्राणी कहीं देर तक बैठा हो तो हाथ-पैर सुन्न हो जाते हैं। जो अंग सुन्न हो गया हो, उस पर उंगली से 27 का अंक लिख दीजिए, अंग ठीक हो जाएगा। मृत्यु की आशंका से बचने के उपाय: काले तिल और जौ का आटा तेल में गूंथकर एक मोटा रोट बनाएं और उसे अच्छी तरह से सेंकें। गुड़ को तेल में मिश्रित करके जिस व्यक्ति की मरने की आशंका हो, उसके सिर पर से 7 बार उतार कर मंगलवार या शनिवार को भैंसे को खिला दें। गुड़ के गुलगुले सवाएं लेकर 7 बार उतार कर मंगलवार या शनिवार व इतवार को चील-कौए को डाल दें, रोगी को तुरंत राहत मिलेगी। महामृत्युंजय मंत्र का जप करें। द्रोव, शहद और तिल मिश्रित कर शिवजी को अर्पित करें। ‘¬ नमः शिवाय’ षडाक्षर मंत्र का जप भी करें, लाभ होगा। लक्ष्मी प्राप्ति के टोटके: श्रावण के महीने में 108 बिल्व पत्रों पर चंदन से ¬ नमः शिवाय लिखकर इसी मंत्र का जप करते हुए शिवजी को अर्पित करें। 31 दिन तक यह प्रयोग करें, घर में सुख-शांति एवं समृद्धि आएगी, रोग, बाधा, मुकदमा आदि में लाभ एवं व्यापार में प्रगति होगी व नया रोजगार मिलेगा। यह एक अचूक प्रयोग है। भगवान को भोग लगाई हुई थाली अंतिम आदमी के भोजन करने तक ठाकुर जी के सामने रखी रहे तो रसोई बीच में खत्म नहीं होती है। बालक की दीर्घायु के लिए: बालक को जन्म के नाम से मत पुकारें। पांच वर्ष तक बालक को कपड़े मांगकर ही पहनाएं। 3 या 5 वर्ष तक सिर के बाल न कटाएं। उसके जन्मदिन पर बालकों को दूध पिलाएं। बच्चे को किसी की गोद में दे दें और यह कहकर प्रचार करें कि यह अमुक व्यक्ति का लड़का है। घर में सुख-शांति के लिए: मंगलवार को चना और गुड़ बंदरों को खिलाएं। आठ वर्ष तक के बच्चों को मीठी गोलियां बांटें। शनिवार को गरीब व भिखारियों को चना और गुड़ दें अथवा भोजन कराएं मंगलवार व शनिवार को घर में सुंदरकांड का पाठ करें या कराएं। ग्रहों के देवता: सूर्य के देवता विष्णु, चंद्र के देवता शिव, बुध की देवी दुर्गा, बृहस्पति के देवता ब्रह्मा, शुक्र की देवी लक्ष्मी, शनि के देवता शिव, राहु के देवता सर्प और केतु के देवता गणेश। जब भी इन ग्रहों का प्रकोप हो तो इन देवताओं की उपासना करनी चाहिए।


काल सर्प विशेषांक  अप्रैल 2009

कालसर्प योग विशेषांक में कालसर्प योग के सभी पहलूओं पर प्रकाश डाला गया है. इस विशेषांक में कालसर्प योग क्या है, कार्यसर्प निवारण के विभिन्न उपाय, कालसर्प योग से प्रभावित विशिष्ट कुंडलियों का विश्लेषण तथा कालसर्प योग किसे सर्वाधिक प्रभावित करता है. आदि विषयों का विश्लेषण किया गया है.

सब्सक्राइब

.