विभिन्न स्थानों में स्थित शनि के मुख्य उपाय

विभिन्न स्थानों में स्थित शनि के मुख्य उपाय  

प्रथम स्थान: उड़द और बाजरे के आटे की रोटी बना कर कुत्ते एवं कौओं को खिलाएं। दूसरा स्थान: घर से बाहर निकलते समय दूध, या दही से माथे पर तिलक करें। तीसरा स्थान: घर के अगले हिस्से में रोशनदान बनवाएं या पिछले हिस्से में शीशे का बल्ब हमेशा जला कर रखें। चैथा स्थान: कच्चे दूध को कुएं में डालें। पंचम स्थान: घर से बाहर निकलते वक्त केसर का तिलक करें। षष्ठ स्थान: चमड़े की वस्तु किसी भी हालत में न खरीदें और न पहनें। सातवां स्थान: मिट्टी के बरतन में शहद भर के चींटियों के बिल के पास रखें। आठवां स्थान: किसी धर्म स्थान में दान करें। नवां स्थान: जीवन में एक बार गंगा स्नान करना चाहिए एवं गंगा जल का दान करना चाहिए। दसवां स्थान: शरीर पर सोने के आभूषण कभी नहीं पहनें। एकादश स्थान: चांदी का एक चैकोर (वर्गाकार) टुकड़ा हमेशा अपने पास रखें। द्वादश स्थान: शनि या हनुमान की उपासना करें।


अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.