पाइथागोरियन अंक ज्योतिष - भविष्य कथन की सटीक पद्वति

पाइथागोरियन अंक ज्योतिष - भविष्य कथन की सटीक पद्वति  

नरेंद्र मोदी के जीवन में घटित कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं का आकलन इस लेख के माध्यम से हम पाइथागोरियन पद्धति से करेंगे तथा व्याख्या करेंगे कि क्यों उस समय वे घटनाएं उनके जीवन में घटित हुईं। हमारा उद्देश्य आपको इस पद्धति के बारे में सिखाना है अतः उनके जीवन में पूर्व में घटी घटनाओं का विश्लेषण यहां प्रस्तुत किया जा रहा है क्योंकि भविष्य की घटनाओं की व्याख्या के लिए अधिक बड़ी अंक कुंडली बनाने की आवश्यकता होगी और यह इस लेख के लिए दी गई जगह के अंतर्गत समाहित नहीं हो पाएगा। इसके बारे में कभी बाद में चर्चा करेंगे। श्री नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को हुआ था। इनकी 1995 से लेकर 2007 तक के बीच की एक छोटी अवधि की कुंडली बनाई गई है तथा इसका विश्लेषण करते हुए उनके जीवन में घटित मुख्य घटनाओं की समीक्षा की गई है। प्रस्तुत है श्री नरेन्द्र मोदी की अंक कुंडली: श्री नरेंद्र मोदी जी की अंक कुंडली में सभी धरातलों में से अधिकतम अंक भौतिक धरातल पर है तथा इसके उपरांत मानसिक धरातल पर है। अंक 10 अंक 1 का उच्चतम अष्टक है तथा इसे भाग्य चक्र की संज्ञा दी गई है। भौतिक धरातल पर अंक 10 असाधारण ऊर्जा एवं शारीरिक शक्ति का द्योतक है। मानसिक धरातल पर अंक 6 अभिव्यक्ति की शक्ति प्रदान करता है, साथ ही व्यक्ति को अत्यधिक बुद्धिमान, सृजनशील तथा मानवतावादी बनाता है तथा असाधारण मानसिक, तार्किक एवं कल्पनाशीलता प्रदान करता है। इनका योग्यता अंक 23/5 है, जिसमें तीन अंकों 2 (सहयोग), 3 (सृजनशीलता एवं आत्माभिव्यक्ति) तथा 5 (रचनात्मक स्वतंत्रता) का समन्वय है। साथ ही भाग्यांक 16/7 भी तीन अंकों 1 (नेतृत्व क्षमता, सूत्रपात), 6 (आत्माभिव्यक्ति एवं सृजनशीलता) तथा 7 (विश्लेषण क्षमता तथा वैज्ञानिक मानसिकता) के गुणों से ओत-प्रोत है जिसने उन्हें असीम मानसिक योग्यता एवं ऊर्जा प्रदान की जो उनके पार्टी तथा राज्य के लिए किये गए उल्लेखनीय एवं यादगार कार्यों के लिए उत्तरदायी है। अपनी असाधारण वाक्पटुता, सृजनशीलता तथा राज्य के लिए किये गए अपने असाधारण कार्यों के लिए न सिर्फ वे अपने राज्य के एक लोकप्रिय नेता हैं वरन पूरे देश के सर्वप्रिय एवं सर्वमान्य नेता हैं। केवल थोड़े समय में ही इन्होंने अपने अतुल्य कार्यों से अपने राज्य गुजरात को देश का सबसे शांत एवं समृद्धशाली राज्य बना दिया। यहां तक कि देश-विदेश के उद्योगपति भी गुजरात को अपने निवेश के लिए सुरक्षित एवं लाभदायक स्थान समझते हैं क्योंकि उन्हें ऐसा लगता है कि यहां किसी भी तरह का लाल फीताशाही एवं प्रशासनिक भ्रष्टाचार विद्यमान नहीं है। इनका हृदय अंक 22/4 है जिसे जन्मांक 8 एवं आदत अंक 22/4 का पूर्ण सहयोग प्राप्त है जो उनके बड़े एवं दूरगामी लोक कल्याणकारी एवं मानवतावादी उद्यमों को शुरू एवं संपन्न करने की क्षमता को दर्शाता है। उनका भाग्यांक 16/7 है जो कि एक कार्मिक अंक है। साथ ही उनका हृदय अंक 22/4, एक प्रमुख तथा कार्मिक अंक है। शायद ये अंक ही उनके अविवाहित रहने के लिए उत्तरदायी हैं। इन्हीं कार्मिक अंकों के कारण वे हमेशा किसी न किसी विवाद में आते रहे हैं खासकर गोधरा कांड में।



अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.