वास्तु में अकंशास्त्र का उपयोग

वास्तु में अकंशास्त्र का उपयोग  

वास्तु में अंकशास्त्र का उपयोग पं. महेश चंद्र भट्ट जब आप कोई मकान, जमीन, फ्लैट आदि खरीदने के बारे में सोचते हैं तो सबसे पहले आपके मन में यही प्रश्न उठता है कि अमुक अंक का मकान, प्लॉट, फ्लैट मेरे लिए शुभ होगा या नहीं? अमुक शहर में इसकी खरीदारी करके वहां रहना फलदायक होगा या नहीं? विभिन्न प्रकार के प्रश्न मन में आते हैं और शंकाएं पैदा होती हैं। अतः इन सभी समस्याओं का समाधान वास्तु और अंक ज्योतिष में मिलता है। कौन सा अंक किस ग्रह से जुड़ा हुआ है। यह इस प्रकार से है- वास्तु शास्त्र में इन अंकों और ग्रहों का महत्वपूर्ण स्थान है, इनके ज्ञान के अभाव में वास्तु अधूरा रह जाता है। आपकी जो जन्म तिथि होती है वह अंक आपका मूलांक कहलाता है। इस अंक का अधिपति ग्रह आपको हमेशा ही प्रभावित करता है। उदाहरण के लिए माना कि आपकी जन्म तारीख 26 है तो 2+6=8 आपका जन्म अंक हुआ और अंक का अधिपति ग्रह शनि है। यह ग्रह आपके जीवन पर सबसे अधिक प्रभाव डालेगा क्योंकि शनि ग्रह आपके जन्म तिथि अंक 8 का अधिपति ग्रह है। विभिन्न तरंगें उत्पन्न करने के कारण अंक एक-दूसरे के मित्र, सम या शत्रु भी होते हैं। विभिन्न ग्रहों से जुड़े होने के कारण अंकों के विभिन्न शुभ रंग भी होते हैं। सूर्य के अंक-1 मित्र अंक 2, 4, 7 हैं और इनका शुभ रंग सुनहरा, पीला, तांबाई सुनहरा भूरा है। चंद्र के अंक-2 के मित्र अंक 1, 4, 7 हैं और इनका शुभ रंग हल्के से गहरा हरा, सफेद और क्रीम हैं। बृहस्पति के अंक 3 के मित्र अंक 6, 9 हैं और इनका शुभ रंग पीला, परपल, गुलाबी और जामुनी है। हर्षल के अंक-4 के मित्र अंक 1, 2, 7 हैं और इनका शुभ रंग स्लेटी, हल्का नीला है। बुध के अंक 5 के सभी अंक मित्र हैं और इनका शुभ रंग सफेद स्लेटी और सभी रंगों के हल्के शेड हैं। शुक्र के अंक 6 के मित्र अंक 3, 6, 7, 9 हैं और इनका शुभ रंग हल्के से गहरा नीला और गुलाबी है। शनि के अंक 8 के मित्र अंक 1, 3, 5, 6 हैं और इनका शुभ रंग गहरा स्लेटी, काला, गहरा नीला और जामुनी है। वरुण के अंक 7 के मित्र अंक 2, 1, 4 हैं और इनका शुभरंग हरा, पीला, सफेद है। आपके जन्म अंक की तरह ही भवन, फ्लैट के नंबर और जगह का नाम का अंक जानने के लिए सूची इस प्रकार से देखें- यदि आपकी जन्म तारीख 12 है तो आपका जन्म मूलांक 12 यानी कि 1+2=3 होगा। और यदि आपका फ्लैट नं. 87 है तो फ्लैट का नंबर अंक 8+7=15 = 1+5=6 होगा। देहरादून (DEHRADUN)में फ्लैट लेना है तो DEHRADUNका अंक होगा 45521465=4+5+5+2+1+4+6+5= 32 =3+2=5। आपका मूलांक 3 है, फ्लैट नंबर 6 है और देहरादून का अंक 5 है तो क्रमशः फ्लैट और देहरादून के अंक 6, 5 आपके जन्म अंक 3 के मित्र हैं। क्योंकि बृहस्पति के अंक 3 के मित्र अंक 6 व 9 हैं तथा बुध के अंक 5 के सभी अंक मित्र होते हैं। इसलिए आपके लिए यह फ्लैट देहरादून में लेना शुभ होगा।


अंक विशेषांक  जुलाई 2010

अंक शास्त्र की विस्तृत जानकारी के लिए पढ़े अंक विशेषांक की आवरण कथा के रोचक लेख। इसके विचार गोष्ठी कॉलम में पढ़ें- ''कैरियर का चुनाव'' नामक ज्योतिषज्ञानवर्द्धक लेख। 'फलित विचार' स्तंभ के अंतर्गत आचार्य किशोर का ''सूर्य का नीच भंग राजयोग'' नामक लेख विशेष ज्ञानवर्द्धक है। पावन स्थल में मां तारा के प्राचीन सिद्ध पीठ का वर्णन है।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.