brihat_report No Thanks Get this offer
fututrepoint
futurepoint_offer Get Offer
व्यापारिक दृष्टिकोण से नववर्ष 2017

व्यापारिक दृष्टिकोण से नववर्ष 2017  

1 जनवरी 2017, रविवार, धनु लग्न से वर्ष का आरंभ हो रहा है जिससे विशेष वर्ग प्रसन्न रहेगा। सरकार नवीन योजनाओं के लिये चेष्टा करेगी। विपक्षी दल सरकार की कमजोरियों को जनता के सामने रखने का प्रयास करेगा। व्यापारी वर्ग पर सरकारी नियंत्रण में कमी होगी। देश की जनता को राजनैतिक नाटकांे एवं प्राकृतिक प्रकोप से परेशान रहना पडे़गा। कई प्रकार के भ्रष्टाचार के मामले सामने आयेंगे। सरकारी खर्च एवं अपव्यय बढे़गा। सूर्य की संक्रान्तियांे का व्यापारिक दृष्टिकोण से निम्न फल होगा: यदि सूर्य का प्रवेश भरणी, आद्र्रा, अश्लेषा, ज्येष्ठा और शतभिषा में से किसी नक्षत्र में हो तो संक्रान्ति 15 मुहूर्ती होती है। इससे धान्य एवं रसदार तेज होते हैं।़ अश्विनी, कृत्तिका, मृगशिरा, पुष्य, मघा, पूर्वाफाल्गुनी, हस्त, चित्रा, अनुराधा, मूल, पूर्वाषाढ़ा, श्रवण, धनिष्ठा, पूर्वाभाद्रपद और रेवती इन 15 नक्षत्रांे में से कोई नक्षत्र संक्रांति प्रवेश के समय हो तो संक्रान्ति 30 मुहूर्ती होती है। इसमें धान्य, घास रसीले पदार्थों आदि के दाम सम होते हैं तथा वर्षा मध्यम होती है। रोहिणी, पुनर्वसु, उत्तराफाल्गुनी, विशाखा, उत्तराषाढ़ा, उत्तरा-भाद्रपद इन 6 नक्षत्रों में सूर्य संक्रान्ति हो तो संक्रान्ति 45 मुहूर्ती होती है। इसमें वर्षा अच्छी और फसलंे अधिक होती हैं। घी-तेल-कपास में मंदी रहती है। जनवरी 2017 14 जनवरी 2017 दिन शनिवार को मकर संक्रान्ति है। यह 15 मुहूर्ती पड़ रही है। इससे मादक पदार्थ, नमक, धान, गेहूं, चना, लाही, तिलहन, गुड़, खांड़, तिल, तेल, मसूर, जीरा, काली मिर्च में तेजी। मासांत में सोना चांदी शेयरांे में तेजी आयेगी। देश की आर्थिक स्थिति में सुदृढ़ता आयेगी। मास के आखिरी सप्ताह में विशेष घटी-बढ़ी बनी रहेगी। शनि के धनु राशि मंे प्रवेश से दूध-घी और रसीले पदार्थों के भाव सम होंगे। जनता सर्दी के कारण त्रस्त रहेगी। सरसांे, तांबा, पीतल, स्टील, रासायनिक पदार्थ, मूंगफली तथा चाय आदि मंे तेजी रहेगी। फरवरी 2017 12 फरवरी 2017, रविवार के दिन कुंभ संक्रान्ति है। यह 30 मुहूर्ती है। अत्यधिक तेजी मंदी के कारण व्यापारी वर्ग विचलित होगा। मूंग, मोठ, उड़द, गेहूं, जौ, चना के भावों में अधिक तेजी आयेगी। जीरा, काली मिर्च, लाल मिर्च, धनिया, हल्दी, मसूर, अरहर व पूजन सामग्री विशेष तेज होंगे। रसीले पदार्थ विशेष तेज होंगे। चांदी मंे तेजी होगी। अन्य धातुओं के भाव में मजबूती रहेगी। किराने के भाव एक सीमित दायरे में घूमते रहेंगे। मशीनरी सामान और रेशमी वस्त्र में तेजी रहेगी। मासान्त में क्रूड आॅयल, इलायची, जड़ी-बूटी, दलहन और कपड़ा में हल्की तेजी आयेगी। मार्च 2017 14 मार्च, मंगलवार के दिन सूर्य मीन राशि में प्रवेश करेंगे। यह 30 मुहूर्ती रहेगी। फलतः सभी खाद्य वस्तुओं के भाव में वृद्धि होगी। भूसा, पशु आहार, सभी प्रकार का मेवा, गन्ना बाजार, मशीनरी तथा वाहन तेज होंगे। 28 मार्च 2017 को नया संवत्सर 2074 मंगलवार को होगा। इस संवत्सर का नाम साधारण होगा। इस वर्ष का राजा मंगल और मंत्री गुरु होगा। सटोरिये चाह कर भी बाजार में तेजी नहीं ला सकेंगे। सोना-चांदी तथा अन्य धातुओं में तेजी रहेगी। यह संक्रांति ट्रेडिंग करने के लिए अनुकूल रहेगी। साधारण संवत्सर होने के कारण आंधी वर्षा अधिक होगी। सोयाबीन, तेल, जूट, मक्का और बाजरा में विशेष तेजी होगी। रबी की फसल का उत्पादन संतोषप्रद होगा। सर्राफा बाजार महंगा बना रहेगा। अप्रैल 2017 13 अप्रैल, गुरुवार को 45 मुहूर्ती में मेष संक्रान्ति पड़ रही है। फलतः गुड़, खांड़, अलसी, अरण्डी, मक्का, जीरा, काली मिर्च तेज होंगे। 15 को शुक्र मार्गी होगा। अतः रूई तथा रेशम मंदे, सोना-चांदी तेज होंगे। गुड़, खांड़ में भयानक तेजी होगी। अग्नि से जलने वाले कांड बहुत होंगे। आलू, प्याज, सब्जी में स्थिरता बनी रहेगी। कागज, अनाज, जीरा, काली मिर्च, लाल मिर्च, धनिया, हल्दी, मसूर, अरहर और पूजा सामग्री विशेष तेज होंगे। शेयर में काफी उछाल आयेंगे। तांबा, पीतल, सोना-चांदी और जिंक, मंदे हांेगे। मासांत में घोर चिपचिपी गर्मी पडे़गी। राहु-केतु अकाल जैसी स्थिति फैलायेंगे। रसीले पदार्थ, क्रूड आॅयल तथा प्राकृतिक गैस मंदे होंगे। मई 2017 ़इस मास मंगल-शनि के षडाष्टक योग बनने से जन-धन की हानि होगी। बुध के मार्गी होने से अत्यधिक गर्मी पड़ने से उपज का नाश होगा। 14 मई, रविवार को वृष संक्रान्ति 30 मुहूर्ती में पडे़गी। अतः मास के प्रारम्भ से बाजार भाव स्थिर रहेंगे। मसाले, बादाम, किशमिश, काजू, मखाना एवं मेवों में उतार-चढ़ाव की स्थिति रहेगी। सोना-चांदी में भी स्थिरता रहेगी। उपज की कमी से अनाज व दलहन में घोर तेजी रहेगी। तीसरे सप्ताह में मंगल के मिथुन राशि में प्रवेश से दालों में विशेष तेजी आयेगी। इसके साथ-साथ गुड़, शक्कर, खोया, खांड़, मखाना, छुआरा, लौंग, सुपारी, चूना, सीमेन्ट, अलसी, बाजरा, मक्का में तेजी का योग है। मासान्त में शुक्र का मेष में प्रवेश होगा। अतः बिजली के उपकरण, प्याज, लहसुन, अदरक, सौंठ, हल्दी, कपूर, केसर, सिंदूर, इलायची, रबर, लकड़ी, चंदन व इत्र के भाव बढें़गे। रासायनिक पदार्थ, रूई, रेशम, ईंधन और तांबा में तेजी होगी। गेहूं, मटर, चना, सरसों, बाजरा में मंदी होकर तेजी आयेगी। गर्म मसालों में भयंकर तेजी आयेगी। तूफानी हवाओं का जोर रहेगा। तापमान में तेजी-गर्मी का प्रकोप रहेगा। ज्ूान 2017 इस मास की शुरूआत में बुध का वृष राशि में प्रवेश होगा अतः अनाज,दाल, चावल, मेवा महंगा होगा। भीषण अग्निकांड होने का भय रहेगा। 10 जून को गुरु मार्गी होने से पीतल, जिंक, लोहा, एल्युमिनियम, स्टील, तांबा, जस्ता और रांगा आदि के भाव घट जायेंगे। गर्मी का भीषण प्रकोप होगा। गेहूं, तेल, गुड़, खाड़ व खटाई में तेजी होगी। सूर्य-देव, 15 तारीख, गुरूवार के दिन मिथुन राशि में प्रवेश करेंगे। यह 30 मुहूर्ती रहेगी। अतः बाजार में स्थिरता आयेगी। दूध-घी में भी स्थिरता होगी। सोना-चांदी की मांग कम होगी। शेयर बाजार भी स्थिर रहेगा। खाद्य वस्तुओं में तेजी, कपास, अलसी, सरसांे, लोहा, धातु, सूत, कपड़ा, चांदी, सोना, चावल, गुड़, शक्कर, हल्दी, हींग आदि मसालांे में तेजी रहेगी। इस मास के तीसरे सप्ताह में दूध, दही, इलायची, मादक पदार्थ, ठंडी वस्तुओं और मूंग आदि में तेजी आयेगी। रसीले पदार्थों में तेजी आयेगी। सूर्य-शनि का षडाष्टक योग भारी पडे़गा। किराना का सामान और शेयर भावों में तेजी रहेगी। जीवों व चैपायों को हानि के योग हैं। मूंगफली, सरसों व सोयाबीन में तेजी होगी। बंगाल, असम, आंध्र प्रदेश, समुद्री तट और तमिलनाडु में वर्षा के योग हैं। जुलाई 2017 मासारंभ में सूर्य के आद्र्रा नक्षत्र के चतुर्थ चरण में प्रवेश से तिलहन, मेन्थाॅल, दलहन, आलू, प्याज, लहसुन, अदरक व हल्दी तेज होगी। 11 जुलाई को मंगल के कर्क राशि में प्रवेश से तेल, बेसन, आटा, मेवे, शक्कर व गुड़ आदि में विशेष मंदी होगी। 16 को सूर्य रविवार के दिन कर्क राशि में प्रवेश करेगा। यह संक्रांति 30 मुहूर्ती होगी। अतः गेहंू, चीनी, मटर, बाजरा, मूंग, मोठ, उड़द, अरहर दाल व दलहन सम रहेंगे। ज्वार, बाजरा, मक्का व चावल में भी समता रहेगी। सर्राफा बाजार में मंदी होगी। फल-सब्जियों में भी मंदी रहेगी। मास के उत्तरार्द्ध में शुक्र के मिथुन राशि में प्रवेश से सोना, चांदी, रूई, रेशम व सूत तेज परंतु चाय, काॅफी, लुबान, सुपारी, कपूर आदि में मंदी। मासान्त में सोना-चांदी, पीतल, तांबा, रांगा, क्रूड आॅयल और प्राकृतिक गैस में तेजी आएगी। राहु पर शनि की दृष्टि से कहीं जघन्य अपराध, बम विस्फोट से जनता परेशान होगी। अलसी, अरंडी, गुड़, तिल, तेल, नमक में तेजी आएगी। गेहूं व अन्य अनाजों में अचानक मंदी हो जायेगी। सोना-चांदी के शेयरांे में मंदी होगी। गुड़, घी व शक्कर में तेजी होगी। अगस्त 2017 मासारम्भ में बाजार अचानक उठ कर गिर जायेगा। लाल, हरी व सफेद वस्तुओं के दाम मास के पहले सप्ताह में तेज रहेंगे। 16 अगस्त, दिन बुधवार 45 मुहूर्ती में सूर्य-देव की सिंह संक्रान्ति है अतः बाजार में स्थिरता रहेगी। रूई, सोना-चांदी व बारदाना के भाव स्थिर रहेंगे। गुड़, खांड, सभी प्रकार के मसालों के दाम सम हांेगे। दूसरे सप्ताह बुध वक्री होने से सोना-चांदी तथा लगभग सभी धातुओं में विशेष तेजी होगी। जल प्रलय से कृषि का नुकसान होगा। 21 अगस्त को शुक्र का कर्क राशि में प्रवेश होने से तिलहन, दलहन, सोना-चांदी तेज रहेंगे। मास के तीसरे सप्ताह में सिंह का मंगल प्रभावी होगा। तिलहन व दलहन में मंदी होगी। 26 को शनि मार्गी होगा इसलिये भयानक उमस बढे़गी। कपड़ा, कागज, गुड़, खांड़ तेज, खाद्य-वस्तुएं, तिलहन, दलहन देशी घी, आलू, प्याज, लहसुन तेज, चांदी मंदी होगी। इस मौसम में कृषि को लाभ होगा। मासांत में प्लास्टिक से जुड़ी वस्तुओं में विशेष तेजी, तेल, बेसन, दवा, खाद्यान्न, मेवे में विशेष तेजी होगी। सितम्बर 2017 मासारम्भ में बुध के मार्गी होने से दालों तथा अनाजांे में बहुत कमी आयेगी। गेहूं, जौ, उड़द, बाजरा, चना, मूंग, किशमिश, मखाना व मसूर सभी अन्न पदार्थ सम होंगे। 12 सितंबर को गुरु का तुला में प्रवेश होने से गुड़, खांड़, अलसी, अरंडी, मक्का, जीरा, कालीमिर्च आदि तेज होंगे। धातुओं में रांगा, कांसा, तांबा, पीतल, सोना, चांदी, जिंक विशेषकर तेज होंगे। दिनांक 16 सितंबर शनिवार को सूर्य की कन्या संक्रांति 30 मुहूर्ती में पड़ रही है अतः बाजार में स्थिरता रहेगी। सोना-चांदी, सर्राफा बाजार स्थिर रहेगा। सट्टे में स्थिरता रहेगी। वायदा बाजार गिरेगा। मास के तीसरे सप्ताह में कन्या का बुध प्रभावी रहेगा। विदेशी मुद्रा की कीमत घट जायेगी। अन्न, दाल व गल्ला तेज होंगे। सोना-चांदी महंगा होगा। घी, मेवा व गल्ला में तेजी आयेगी। मासांत में जौ, ज्वार, मक्का, मूंग, मोठ, गुड़, तिल, तेल, अलसी, अरण्डी व सरसों में तेजी आयेगी। शेयर में मंदी रहेगी। भारत को अपनी सीमाओं पर सावधान रहना होगा। अक्तूबर 2017 मास की शुरूआत में खाद्य पदार्थों के मूल्यों में गिरावट आयेगी। रूई, सूत, बिनौला, रेशम, ऊनी वस्त्र आदि में तेजी आयेगी। लोहा व कोयला में तेजी आएगी। सोना-चांदी व सर्राफा बाजार नरम होंगे। वाहन, डीजल, पेट्रोल आदि में तेजी का रूख रहेगा। दिनांक 9 से काली मिर्च, सौंठ, धनिया, हल्दी, जीरा, अजवाइन, खटाई, अनारदाना, तेजपत्ता, गरम मसालांे में तेजी आयेगी। सोना-चांदी व अनाज में तेजी आयेगी। दिनांक 17 दिन मंगलवार को तुला संक्रान्ति 45 मुहूर्ती में होने से गेहूं, चना, मटर, दलहन, तिलहन, मूंग, मोठ, चना आदि का भाव मंदा होगा। सोना, चांदी का स्टाॅक करने वाले भविष्य में अच्छा लाभ कमा सकते हैं। मेवा, बादाम किराना, पोस्ता, पिस्ता, मखाना में तेजी आयेगी। लाल, सफेद रंग में मंदी आयेगी। शेयर्स में तेजी होगी। मासांत में धनु का शनि प्रभावी होगा। रूई, कपास, ऊनी वस्त्रों में विशेष तेजी आयेगी। बाजार का रूख देखकर व्यापारिक अनुबंध करें। नवम्बर 2017 मासारंभ में देश में खुशहाली रहेगी। सरकार किसी बड़ी योजना को साकार करने में सफल होगी। कागज, कांच,श्चाय, चीनी, मूंग, किशमिश, मखाना, तिल, सरसों, गेहूं जौ, उड़द, बाजरा, चना व मक्का में मंदी आयेगी। 8 से 15 तक शुक्र व मंगल के प्रभाव से बाजार में अधिक उतार-चढ़ाव रहेगा। क्रूड आॅयल, अलसी, सरसों का तेल, सोयाबीन, जीरा, काली-मिर्च, लाल मिर्च, हल्दी, जायफल, दाल-चीनी, आदि तेज होंगे। 16 नवंबर, गुरूवार को सूर्य-देव, वृश्चिक राशि में 15 मुहूर्ती में प्रवेश करेंगे। अतः बाजार में हल्की मंदी होगी फिर तेजी आयेगी। गेहूं, जौ, चना, सोना, चांदी, पीतल में तेजी रहेगी। रसीले पदार्थों में तेजी होगी तथा सभी प्रकार की धातुओं में तेजी होगी तथा मेवा तेज होगा। तीसरे सप्ताह में अनाज, चावल दालें, मेवा महंगे होंगे। जीरा, काली मिर्च, धनिया, प्याज, लहसुन, लाल मिर्च, चना, लाही में मंदी आयेगी। मासांत में मंगल का तुला राशि में प्रवेश होने से सौंठ, मूसली, सीमेंट, चूना, कोयला, सोयाबीन, मूंगफली मेवा, किराना, मिष्टान्न, कलौंजी, हल्दी, बाजरा, मसूर, देशी-घी, तेल, कपास, मक्का, जूट, उड़द, धनिया तेज होंगे। रूई, कपड़ा, अन्न, गुड़, खांड़, सरसों भी तेज होंगे। रबर, प्लास्टिक वस्तुएं तथा रेशमी वस्त्र तेज होंगे। मशीनरी, कल पुर्जे के सामान में तेजी आयेगी। रासायनिक वस्तुएं भी तेज होंगी। उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब में सर्दी बढ़ेगी। दिसंबर 2017 मासारंभ में बुध के वक्री हो जाने से चैपायांे, गाय, भैंस, भेड़, बकरी, घोड़ा व ऊँट आदि का बाजार नरम रहेगा। किराना बाजार, मेवा, बादाम, काजू, गरी व पोस्ता दाना में तेजी आयेगी। सट्टे के प्रमुख जिन्सांे में उछाल आयेगा। सौंदर्य प्रसाधनांे, रसायन, केमिकल्स, काॅफी, सीमेन्ट आदि के भावांे में वृद्धि होगी। लोहा, इस्पात, औजार में नरमी होगी। केरोसीन, डीजल, पेट्रोल आदि के मूल्यों में तेजी होगी। तांबा, जस्ता, पीतल में गिरावट आयेगी। अन्न, दाल, गल्ला विशेष तेज होंगे। 10 तारीख स्टाॅक करने वाले व्यापारियांे के लिये शुभ समय है। बाजार का रूख देख कर ही क्रय-विक्रय करें। दिनांक 15, शुक्रवार को सूर्य-देव की धनु संक्रान्ति 45 मुहूर्ती में पड़ रही है अतः जौ, चना, मूंग, मौठ, मटर, तेल, तिलहन, दलहन के भावों में मंदी आयेगी। सोना-चांदी के भावों में मंदी होगी। सभी व्यापारिक वस्तुओं एवं सट्टे कहवा, जिन्सों में मंदी होगी। शेयरों में मंदी आयेगी। मास के तीसरे सप्ताह में शुक्र के धनु में प्रवेश से बाजार में गेहूं, चना, मूंग, मसूर, अरहर, उड़द सभी अन्न के पदार्थों में तेजी आयेगी। मासांत में बुध मार्गी होने से क्रूड आॅयल, काॅफी, चाय, बादाम, सुपारी, जीरा, लौंग, इलायची में तेजी आयेगी।

नववर्ष विशेषांक  जनवरी 2017

ज्योतिषीय पत्रिका फ्यूचर समाचार के इस वास्तु विशेषांक में बहुत अच्छे नववर्ष से सम्बन्धित लेखों जैसे 2017 नववर्ष मंगलकारी कैसे हो !, व्यापारिक दृष्टिकोण से नववर्ष 2017,2017 में सूर्य व चंद्र ग्रहण, बाॅलीवुड के लिए कैसा रहेगा साल 2017,2017 में भारत की राजनीति, अर्थव्यवस्था और शेयर बाजार,अंक ज्योतिष से जानें 2017 आदि।

सब्सक्राइब

.