लाल किताब के विशेष टोटके

लाल किताब के विशेष टोटके  

  • खाना नं. 6 का शनि खुद चाहे अच्छे फल दे किंतु बृहस्पति के फल को खराब करता है इसलिए नारियल, अखरोट आदि पानी में बहाने चाहिए।
  • बृहस्पति खाना नं. 1 में हो और शनि खाना नं. 11 में हो तो गायों की सेवा करने से शुभ फल मिलता है।
  • बृहस्पति खाना नं. 3 में हो तो दुर्गापाठ शुभ फल देता है।
  • बृहस्पति खाना नं. 4 में हो किंतु खाना नं. 10 खाली हो तो गुरु सुप्त होता है। ऐसे में व्यक्ति को दूसरों के सामने नंगे बदन नहीं घूमना चाहिए।
  • बृहस्पति खाना नं. 8 में हो और दुर्भाग्यपूर्ण समय आए तो गुरु व शुक्र संबंधित वस्तुएं पूजालय में दान दें।
  • बृहस्पति खाना नं. 10 और मंगल खाना नं. 4 में होने पर व्यक्ति मंगल से संबंधित रिश्तेदारों की सेवा व सहायता करें।
  • खाना नं. 2 का सूर्य घर की स्त्रियों के लिए अशुभ होता है, ऐसे में शनि की वस्तुएं नारियल, नारियल का तेल या अखरोट धर्म स्थान में दें।
  • सूर्य खाना नं. 4 में और उसके मित्र ग्रह खाना नं. 10 में हांे तो खाना नं. 5 में स्थित ग्रह अशुभ फल देंगे। ऐसे में मंगल की वस्तुएं दान करें।
  • खाना नं. 6 का सूर्य यदि बच्चे या मामा आदि को हानि करे तो बंदर को गुड़, दीमक को गेहूं बाजरा डालें। खुद सूर्य के कुप्रभाव को दूर करने के लिए घर में नदी का जल रखें।
  • सूर्य खाना नं. 6 के समय यदि खाना नं. 3 खाली हो तो नौकरी या व्यापार में बाधाएं आती है ऐसे में कुत्तों को खाना खिलाना चाहिए।
  • सूर्य यदि खाना नं. 6 में हो और मंगल खाना नं. 10 में हो तो बच्चों की सेहत के लिए अशुभ होता है। ऐसे में चंद्र संबंधित वस्तुएं रात को तकिए के नीचे रखें और सुबह गरीबों में बांट दें।
  • सूर्य टेवे के खाना नं. 7 में हो तो इन बातों का ध्यान रखें कि किसी के प्रति दुव्र्यवहार न करें, गोचर का शनि लग्न में हो तो चंद्रमा निःस्सहाय हो जाता है, ऐसे में रात के खाने के बाद चूल्हे की आग दूध से बुझाएं और फिर उस चूल्हे का इस्तेमाल अगले दिन सूर्योदय के बाद करें। अगर बच्चों पर या आर्थिक स्थिति पर दुष्प्रभाव पड़ रहा हो तो ताम्बे के चैरस टुकड़े जमीन में दबाएं या गुड़ खाकर बाद में पानी पीकर काम पर जाएं। भोजन करने से पहले भोजन का कुछ अंश आग में डालें यह उपाय लगातार करना चाहिए।
  • सूर्य पर शनि की दृष्टि के कारण अशुभ फल महसूस हो तो व्यक्ति अपने घर की दक्षिणी दीवार की ओर जाए, पूर्व की ओर मुंह करके सीधा खड़ा होकर पानी से भरा घड़ा अपनी दाहिनी ओर गाड़ दें। घड़े का पानी 43 दिन तक सूखने न पाए।
  • बड़ों के पांव छूकर आशीर्वाद लेना हमेशा शुभ होता है। चंद्रमा की वस्तुएं दूध, दही बेचना परिवार के लिए हानिकारक होता है। चांदी, चावल, चश्मे का पानी घर में रखना शुभ होता है।
  • यदि टेवे में खाना नं. 7 खाली हो तो 24 वर्ष की आयु से पहले घर में गाय या नौकरानी रखना तथा खाना नं. 7 को जगाना चाहिए वर्ना 25वें साल में चंद्रमा बुरा प्रभाव देगा।


अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.