ज्योतिष की नजर में शेयर बाजार

ज्योतिष की नजर में शेयर बाजार  

ज्योतिष की नजर में शेयर बाजार स्वामी शाम धींगरा किसी देश की कुंडली के आधार पर नवग्रह उसके शेयर बाजार को नियंत्रित करते हैं। ग्रहों के आधार पर ही किसी समय-विशेष पर किसी उद्योग विशेष में प्रगति व अवनति होती है और तेजी या मंदी आती है। जो ग्रह शुभ और सकारात्मक प्रभाव लिए होते हैं उनसे प्रभावित कंपनियों के शेयरों में तेजी देखने को मिलती है और अशुभ एवं नकारात्मक प्रभाव वाले ग्रहों से प्रभावित कंपनियों के शेयर में मंदी का रुख रहता है। किसी भी देश का शेयर बाजार उस देश की अर्थव्यवस्था का आईना होता है। शेयर बाजार का उतार-चढ़ाव और उसकी स्थिरता उस देश की आर्थिक प्रगति, विकास, मुद्रास्फीति और देश में उपलब्ध नगदी और विदेशी मुद्रा की उपलब्धता को दर्शाती है। जिस प्रकार किसी जातक की कुंडली में लग्न, ग्रहों और नक्षत्रों का प्रभाव रहता है और गोचरवश ग्रहों की स्थिति महादशा और अंतर्दशा में कोई जातक आर्थिक प्रगति करता है अथवा अवनति की ओर अग्रसर होता है। सूर्य और चंद्र विशेष रूप से सरकारी कंपनियों, सोना, चांदी, माणिक्य, दुग्ध, कृषि आधारित उद्योगों, विमानन, विदेश व्यापार अर्थात् आयात और निर्यात को प्रभावित करते हैं। मंगल और शनि तांबा, बिजली, भूमि, पावर, रेल, ऑटो मोबाइल, ट्रांसपोर्ट, लेबर, लोहा, स्टील, हेवी मशीन, होटल, खान-पान, पुलिस और सेना के समान बनाने वाली कंपनियों का प्रभावित करते हैं। बुध ग्रह पन्ना, बैंक, शेयर ट्रेडिंग, बीमा, मार्केटिंग, आढ़त, सलाहकार, चाटेर्ड लेखाकार, आदि व्यापारिक कंपनियों को प्रभावित करते हैं। बृहस्पति ग्रह सोना, पीतल, शिक्षा, प्रकाशन, समाचार पत्र, राजनैतिक संस्थाओं, रिसर्च और ज्ञान विज्ञान, तकनीकि पर आधारित कंपनियों को प्रभावित करते हैं। शुक्र ग्रह विलासिता, सौंदर्य प्रसाधन, मेडिसिन, शराब, गहने, फिल्म, माडलिंग, महंगे हीरे-मोती, वस्त्र, इलेक्ट्रॉनिक्स, औद्योगिक कंपनियों पर असर दिखाते हैं। राहू-केतु टेलीकॉम, कम्प्यूटर इन्फोरमेशन टेक्नोलॉजी, विमान, प्रोद्योगिक, ब्राडकास्टिंग, कानून और न्याय व्यवस्था इत्यादि से संबंधित कंपनियों पर असर दिखाते हैं। वर्ष 2011 में व्यापार संबंधी ग्रह स्थितिः वर्ष के आरंभ में 03 जनवरी सोमवार को शनि कन्या में, गुरु मीन में, राहू धनु में, केतु मिथुन में, बुध और शुक्र वृश्चिक में, सूर्य, चंद्रमा और मंगल, धनु राशि में होंगे वर्ष के दौरान शनि 26 जनवरी को वक्री होकर सिंह राशि की ओर अग्रसर होगा और 13 जून को पुनः मार्गी होकर 15 नवंबर को तुला राशि में प्रवेश करेगा। गुरु 08 मई को मेष राशि में प्रवेश करेगा और 30 अगस्त को वक्री होकर मीन राशि की ओर अग्रसर होगा एवं 26 दिसंबर को पुनः मार्गी होकर वृषभ की ओर अग्रसर होगा। राहू 03 मई को वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा। केतु भी उसी समय वृषभ राशि में प्रवेश करेगा। मंगल धनु से यात्रा प्रारंभ करके वर्षांत में सिंह राशि में विद्यमान रहेगा। बुध, शुक्र एवं सूर्य सभी 12 राशियों में भ्रमण करेंगे। चंद्रमा हर माह सभी राशियों में से होकर गुजरेगा। भारत वर्ष की कुंडली में गुरु चंद्रमा से नवम और दशम में गोचर करेगा। शनि, तृतीय और चतुर्थ भाव में गोचर करेगा जिसके फलस्वरूप शेयर बाजार में निश्चित रूप से प्रगति तो होगी परंतु पाकिस्तान और चीन की ओर से सीमाओं और आंतरिक सुरक्षा को क्षति पहुंचाने के प्रयासों और विदेशी मुद्रा की निकासी से वर्ष में दो बार बाजार में तेज गिरावट की आशा रहेगी और दो या तीन जानी मानी कंपनियों की आर्थिक स्थिति बुरी तरह से लड़खड़ा जाएगी। राजनैतिक अस्थिरता की खबरें भी उठेंगी परंतु कोई विशेष सत्ता परिवर्तन नहीं होगा। परंतु यह स्थिति लंबे समय तक नहीं चलेगी और बाजार पुनः प्रगति की ओर अग्रसर रहेगा। भारतीय मुद्रा रुपये के मूल्यों में डॉलर और पौंड की तुलना में मजबूती आएगी। प्रति डॉलर की कीमत 40 रुपये तक गिर सकती है। विदेशी निवेश में निश्चित रूप से अनपेक्षित तेजी आएगी। शिक्षा, बैंकिंग और वित्तीय संस्थाओं में, भारी मशीनरी, लोहा, मोटर, वाहन और ऑटो उद्योग एवं पावर क्षेत्र में विशेष तेजी की संभावना रहेगी। मैंन पावर की कीमतों में अप्रत्याशित तेजी आएगी। सोने-चांदी, तांबा और एल्यूमीनियम में भी काफी तेजी आने की आशा रहेगी। शराब और ऐश्वर्य के साधनों वाली कंपनियों में भी तेजी का रुख दिखाई देगा। शेयर बाजार अपेक्षित मासिक उतार-चढ़ाव की स्थिति इस प्रकार रहने की संभावना है। 01 जनवरी वर्ष के आरंभ में बाजार तेजी के साथ खुलेंगे। लोहा एवं भारी मशीन उद्योगों में तेजी रहेगी और पावर सेक्टर में भी लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे। उनका सदुपयोग करें। बैंक और वित्तीय संस्थाओं में भी तेजी आते ही लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा क्योंकि शीघ्र ही नीचे मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी। सीमेंट और रियल्टी एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयरों म निवेश कर सकते हैं। तेल और गैस उद्योग में भी गिरावट आने पर निवेश कर सकते हैं। टेलीकॉम और आई. टीमें किसी विशेष तेजी या मंदी की आशा नहीं रहेगी। धातुओं में भी निवेश से अगले महीने में लाभ की प्राप्ति रहेगी। टेक्सटाइल उद्योग में गिरावट आते ही लाभ कमाने के उद्देश्य से खरीददारी करना एक उचित निर्णय रहेगा। माह के अंत में बाजार गिरावट के साथ बंद होने की आशा रहेगी। फरवरी में व्यापार का आरंभ 01 तारीख को मंगलवार के दिन होगा ग्रहों के प्रभाव स्वरूप बाजार गिरावट के साथ खुलेंगे मोटर वाहन और लोहा एवं भारी मशीन उद्योगों में गिरावट दिखाई दे सकती है इसी स्थिति में इनमें निवेश से इसी माह लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। रेलवे से जुड़े उद्योगों आदि में भी निवेश से शीघ्र ही लाभ-प्राप्ति की आशा रहेगी। बैंक और वित्तीय संस्थाओं में शेयर नीचे के मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी। इनमें निवेश करना एक उचित निर्णय रहेगा। कृषि आधारित उद्योगों और एफ.एम.सी.जी. में भी गिरावट देखने को मिलेगी। इनमें निवेश कर सकते हैं, इसी माह लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। टेलीकॉम और आईटी. में लाभ कमाने के अवसर मिलने पर लाभ उठाएं। सीमेंट और रियल्टी एवं इन्फास्ट्रक्चर के शेयरों में लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे। इनमें तेजी आते ही लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। तेल और गैस उद्योग में भी लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा क्योंकि शीघ्र ही नीचे के मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी। धातुओं में तेजी की संभावना रहेगी, तेजी आते ही लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। मीडिया में लाभ कमाने के अवसर मिल सकते हैं। उनका सदुपयोग करें। अंत में बाजार बढ़त के साथ बंद होंगे। मार्च में व्यापार का आरंभ 01 तारीख को मंगलवार के दिन होगा। ग्रहों के प्रभाव स्वरूप बाजार तेजी साथ खुलेंगे। लेकिन तेजी में स्थिरता नहीं रहेगी और बाजार में गिरावट का रुख आएगा। टेलीकॉम और आई.टी. के लिए यह एक अच्छा समय रहेगा। तेजी आते ही लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। मीडिया और प्रकाशन में गिरावट की आशा रहेगी। निवेश के लिए अच्छे मौके मिलने की संभावना रहेगी। लोहा और भारी मशीन उद्योगों आदि में लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे। उनका सदुपयोग करें। चीनी और चावल मिलों एवं कृषि आधारित उद्योगों में तेजी की प्रबल संभावना रहेगी। तेजी आते ही लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा क्यों कि वापस नीचे के मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी। होटल, शराब और सिगरेट उद्योग में गिरावट आने की प्रबल संभावना रहेगी। परंतु गिरावट पर निवेश कर सकते हैं। बैंक और वित्तीय संस्थाओं में लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। सीमेंट और रियल्टी एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयर नीचे मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी। इस समय निवेश कर सकते हैं। निवेश से इसी माह लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। तेल और गैस उद्योग में भी गिरावट आने पर निवेश कर सकते हैं। धातुओं में भी निवेश से लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। टेक्सटाइल उद्योगों में गिरावट आते ही खरीददारी करने से इसी माह लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। माह के अंत में बाजार के गिरावट के साथ बंद होने की आशा रहेगी। अप्रैल में व्यापार का आरंभ सोमवार के दिन होगा। आरंभ के समय मीन राशि में पांच ग्रहों सूर्य, चंद्रमा, मंगल, बुध और गुरु का संगम होगा शनि कन्या में, शुक्र कुंभ में, राहू धनु में, केतु मिथुन में रहेंगे जिसके प्रभाव स्वरूप बाजार में गिरावट के साथ खुलने की संभावना रहेगी क्योंकि पंच ग्रह योग से बाजार में सुधार का माहौल बनेगा और अनावश्यक तेजी वाले शेयर, सट्टे बाजारों के नियंत्रण से बाहर हो जाएंगे उनमें गिरावट आएगी। परंतु टेलीकॉम और आई.टी. में तेजी की प्रबल आशा को देखते हुए प्रत्येक गिरावट पर निवेश से शीघ्र लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे। इलेक्ट्रीकल और इलेक्ट्रॉनिक्स में प्रत्येक गिरावट पर निवेश एक उचित निर्णय रहेगा और इसी माह लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। पावर सेक्टर में तेजी की संभावना रहेगी। इसीलिए इसमें प्रत्येक गिरावट आने पर निवेश एक उचित निर्णय रहेगा। शिपिंग कंपनियों में लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे, लाभ उठाएं। लोहा और भारी मशीन उद्योगों आदि में लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे, उनका सदुपयोग करें। बैंक और वित्तीय संस्थाओं में लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा क्योंकि शीध्र ही नीचे मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी। सीमेंट और रियल्टी एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयर नीचे मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी, इनमें निवेश कर सकते हैं। तेल और गेस उद्योग में भी गिरावट आने पर निवेश कर सकते हैं। धातुओं में किसी विशेष तेजी या मंदी की आशा नहीं रहेगी। इसलिए गिरावट आने पर खरीद और तेजी आने पर बेचना ठीक रहेगा। माह के अंत में बाजार बढ़त के साथ बंद होने की आशा रहेगी। मई में व्यापार का आरंभ 02 तारीख को सोमवार के दिन होगा। आरंभ के समय मीन राशि में चार ग्रहों, मंगल, गुरु, बुध और शुक्र की युति होगी, 08 तारीख को गुरु मेष राशि में प्रवेश करेंगे। सूर्य, चंद्रमा, मेष राशि में, शनि कन्या राशि में होंगे। राहू, धनु और केत मिथुन में होंगे एवं 03 मई को अपनी नीच राशि से वृश्चिक और वृषभ राशि में प्रवेश करेंगे, जिसके परिणाम स्वरूप बाजार में काफी उथल-पुथल देखने को मिल सकती है, इसलिए इस माह विशेष ध्यान पूर्वक निर्णय लेने की आवश्यकता रहेगी। बाजार गिरावट के साथ खुलने की पूर्ण संभावना रहेगी परंतु धीरे-धीरे खरीददारी आने के कारण बाजार में तेजी का रुख आ जाएगा लेकिन बार-बार बाजार का रुख पलट सकता है। सूर्य के उच्च राशि में चंद्रमा के साथ होने के फलस्वरूप सरकारी कंपनियों में तेजी की विशेष संभावना रहेगी। इसलिए तेजी आते ही लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। इलेक्ट्रीकल और इलेक्ट्रानिक्स में भी तेजी की आशा रहेगी और लाभ प्राप्ति की भी आशा रहेगी। पॉवर सेक्टर में भी लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे। प्रत्येक तेजी पर लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। मनोरंजन, होटल और शराब उद्योग में गिरावट की प्रबल संभावना रहेगी इसलिए प्रत्येक तेजी पर लाभ कमाएं। सीमेंट और रियल्टी एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयर में तेजी आते ही बेच सकते हैं क्योंकि गिरावट पर निवेश का मोका इसी माह मिल सकता है। माह के अंत में बाजार मामूली बढ़त के साथ बंद होने की आशा रहेगी। 06 जून में व्यापार का आरंभ 01 तारीख को बुधवार के दिन होगा। ग्रहों के प्रभाव स्वरूप बाजार तेजी के साथ खुलेंगे और सरकारी कंपनियों के शेयर में लगातार तेजी का रुख बना रह सकता है। इसलिए इसमें लाभ कमाना एक सही निर्णय रहेगा। कृषि आधारित उद्योगों में विशेष रूप से तेजी देखने को मिलेगी निवेश से इसी माह लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। होटल उद्योग में विदेशी पूंजी के निवेश की आशा के चलते इनके शेयर में तेजी आ सकती है। उस स्थिति में तेजी आते ही इनमें लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। क्योंकि शीघ्र ही नीचे मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी। सीमेंट और रियल्टी एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयर नीचे मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी इनमें निवेश कर सकते हैं। तेल और गेस उद्योग में भी गिरावट आने पर निवेश कर सकते हैं। टेलीकाम और आई.टी में किसी विशेष तेजी या मंदी की आशा नहीं रहेगी। टेक्सटाइल उद्योग में शीघ्र लाभ प्राप्ति की आशा को देखते हुए इनमें गिरावट आते ही खरीददारी करना एक उचित निर्णय रहेगा। माह के अंत में बाजार के बढ़त के साथ बंद होने की आशा रहेगी। 07 जुलाई में व्यापार का आरंभ 01 तारीख को शुक्रवार के दिन होगा ग्रहों के प्रभाव स्वरूप बाजार लगभग पिछले स्तरों पर ही खुलेंगे। इस माह सेबी और सरकार द्वारा कुछ कंपनियों में अनिमियतताओं की खबर के चलते अचानक गिरावट आ सकती है अतः पैसा बचाकर रखें और गिरावट आने पर रिलायंस ग्रुप में अंबानी बंधुओं की कंपनियों में निवेश से ही लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी क्योंकि दोनों भाईयों में कई मसलों पर समझोते की आशा रहेगी। सिविल एविएशन की कंपनियों में, लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे, लाभ उठाएं। फार्मा में भी तेजी की आशा रहेगी। इसलिए प्रत्येक गिरावट पर इनमें निवेश कर सकते हैं। लोहा और भारी मशीन उद्योगों में आदि प्रत्येक गिरावट पर निवेश से जल्दी ही लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे, उनका सदुपयोग करें। बैंक और वित्तीय संस्थाओं में भी लाभ कमाना एक ठीक सौदा रहेगा। टेलीकाम और आई.टीमें तेजी की प्रबल आशा को देखते हुए प्रत्येक गिरावट पर इस क्षेत्र में निवेश से शीघ्र लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे। सीमेंट और रियल्टी एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयर में लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा क्योंकि शीघ्र ही नीचे मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी। इसलिए तेजी आते ही बेचना ठीक रहेगा और एल्यूमीनियम की कंपनियों में भी निवेश एक अच्छा सौदा रहेगा। माह के अंत में बाजार के सुधार के साथ बंद होने की आशा रहेगी। अगस्त में व्यापार का आंरभ 01 तारीख को सोमवार के दिन होगा। ग्रहों के प्रभाव स्वरूप बाजार गिरावट के साथ खुलने की संभावना रहेगी। परंतु धीरे-धीरे विदेशी निवेशकों के आने से बाजार में तेजी आ जाएगी और भारी मशीन उद्योगों में लाभ कमाने का मौका मिलेगा, उसका सदुपयोग करें। मोटर वाहन में भी तेजी आते ही लाभ कमाना ठीक रहेगा। लोहा एवं रेलवे से जुड़े उद्योगों में प्रत्येक गिरावट पर निवेश से शीघ्र ही लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। बैंक और वित्तीय संस्थाओं में लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे। शेयर में भी तेजी आते ही लाभ कमाना ठीक रहेगा और प्रत्येक गिरावट पर निवेश करें। कृषि आधारित उद्योगों और एफ. एम.सी.जी. में भी गिरावट देखने को मिल सकती है। ऐसे में इनमें निवेश कर सकते है। कॉपर और एल्यूमीनियम में तेजी आने की आशा रहेगी। अतः तेजी आते ही लाभ कमाएं। रबड़ और रसायन उद्योग में भी तेजी की आशा रहेगी इसलिए प्रत्येक गिरावट में निवेश एक अच्छा सौदा रहेगा। पॉवर सेक्टर में भी नीचे के मूल्यों पर निवेश कर सकते हैं। एविएशन उद्योग में तेजी आते ही लाभ कमाएं। अंत में बाजार तेजी के साथ बंद होने की आशा रहेगी। सितंबर में व्यापार का आरंभ 01 तारीख को गुरुवार के दिन होगा। ग्रहों के प्रभाव स्वरूप बाजार तेजी के साथ खुलने की संभावना रहेगी। मोटर वाहन और आटो मोबाईल उद्योग में तेजी की आशा को देखते हुए इनमें प्रत्येक गिरावट पर निवेश एक उचित निर्णय रहेगा। इलेक्ट्रिीकल और इलेक्ट्रानिक्स में प्रत्येक तेजी पर लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। टेलीकाम में पुनः हलचल दिखाई देगी इसलिए हर तेजी पर में लाभ कमाना ठीक रहेगा लेकिन गिरावट पर दोबारा खरीदना एक उचित निर्णय रहेगा। विदेशी व्यापार में तेजी के चलते और डॉलर की कीमतों में चल रही गिरावट में स्थिरता के कारण आई टी. सेक्टर में भी सुधार की आशा रहेगी इसलिए इनमें निवेश एक उचित निर्णय रहेगा। रसायन में भी तेजी की आशा रहेगी इसलिए इनमें भी गिरावट पर खरीद से शीघ्र लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। सौंदर्य प्रसाधनों और तेलों में हल्की सी गिरावट आ सकती है। पर ऐसे में निवेश कर सकते हैं। लोहा और भारी मशीन उद्योगों आदि में लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे उनका सदुपयोग करें सीमेंट और रियल्टी एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयर नीचे मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी, इनमें निवेश कर सकते हैं। तेल और गेस के उद्योग में भी गिरावट पर निवेश कर सकते हैं। माह के अंत में बाजार के बढ़त के साथ बंद होने की आशा रहेगी। अक्तूबर माह में व्यापार का आरंभ 03 तारीख को सोमवार के दिन होगा। ग्रहों के प्रभाव स्वरूप बाजार गिरावट के साथ खुलेंगे। परंतु गिरावट में स्थिरता नहीं रहेगी और विदेशी निवेशकों के आने से बाजार में वापस सकारात्मक रुख आ जाएगा। तेजी आते ही वाहन और ऑटोमोबाईल सेक्टर में लाभ कमाएं। लोहा एवं भारी मशीन उद्योगों आदि में भी प्रत्येक तेजी पर लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। रेलवे से जुड़े उद्योगों आदि में निवेश से इसी माह लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। इनमें बैंक और वित्तीय संस्थाओं के शेयर्स नीचे मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी। इनमें निवेश से शीघ्र ही लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। कृषि आधारित उद्योगों और एफ.एम.सी.जी. में भी तेजी देखने को मिलेगी। इनको बेच सकते हैं। होटल और शराब उद्योग में लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। सीमेंट और रियल्टी एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयरों में भी लाभ कमा सकते हैं। अंत में बाजार पिछले स्तरों पर ही बंद होने की आशा रहेगी। नवंबर में व्यापार का आरंभ 01 तारीख मंगलवार को होगा। आंरभ के समय शनि कन्या में होंगे और 15 तारीख को अपनी उच्च राशि तुला में प्रवेश करेंगे, गुरु मेष में, राहू बुध और शुक्र के साथ वृश्चिक में, केतु वृषभ में, मंगल सिंह में, सूर्य तुला में, चंद्रमा धनु राशि में होंगे जिसके प्रभाव स्वरूप बाजार तेजी के साथ खुलेंगे और लोहे और भारी मशीन उद्योग के शेयरों में तेजी देखने को मिलेगी आरंभ में गिरावट पर निवेश से इसी माह लाभ-प्राप्ति की आशा रहेगी। चीनी मीलों में कृषि आधारित उद्योगों और एफ.एम.सी.जी. में विशेष रूप से तेजी देखने को मिलेगी, इनमें निवेश से इसी माह लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। मीडिया एवं प्रकाशन में भी तेजी की संभावना रहेगी। तेजी आते ही इनमें लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। शिपिंग कंपनियों में लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे, लाभ उठाएं। बैंक और वित्तीय संस्थाओं में लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा क्योंकि शीघ्र ही नीचे मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी। सीमेंट और रियल्टी एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयरों में भी तेजी दिखाई देने पर लाभ कमाना ठीक रहेगा। तेल और गेस उद्योग में भी गिरावट पर निवेश कर सकते हैं। टेलीकाम और आई.टीमें किसी विशेष तेजी या मंदी की आशा नहीं रहेगी। रूई और पोलियस्टर यार्न के दामों में तेजी चलते गिरावट की आशा को देखते हुए इनमें लाभ कमाना ठीक रहेगा। केमीकल उद्योग में तेजी आते ही लाभ कमाएं। धातुओं में भी निवेश से अगले महीने में लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। माह के अंत में बाजार में गिरावट के साथ बंद होने की आशा रहेगी। दिसंबर में व्यापार का आरंभ 01 तारीख को गुरुवार के दिन होगा। ग्रहों के प्रभाव स्वरूप बाजार गिरावट के साथ खुलेंगे। मोटर वाहन और लोहा एवं भारी मशीन उद्योगों आदि में बिकवाली के दबाव में गिरावट आ सकती है। इसमें निवेश से इसी माह लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। रेलवे से जुड़े उद्योगों आदि में भी निवेश से शीघ्र ही लाभ प्राप्ति की आशा रहेगी। बैंक और वित्तीय संस्थाओं के शेयर नीचे मूल्यों पर मिलने की आशा रहेगी, इनमें निवेश करना एक उचित निर्णय रहेगा। कृषि आधारित उद्योगों और एफ.एम.सी.जी. में भी गिरावट देखने को मिलेगी। इनमें निवेश कर सकते हैं। होटल और शराब उद्योग में लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। टेलीकाम और आई.टी. में लाभ कमाने के अवसर मिलने पर लाभ उठाएं। सीमेंट और रियल्टी एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयरों में तेजी आते ही लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा निवेश कर सकते हैं, तेल और गेस उद्योग में भी लाभ कमाना एक उचित निर्णय रहेगा। माह के अंत में बाजार गिरावट के साथ बंद होने की आशा रहेगी। नोट : उपरोक्त फलादेश ग्रह स्थिति पर आधारित है। इसका उद्देश्य पाठकों का मार्गदर्शन करना है। निर्णय लेने से पहले बाजार को प्रभावित करने वाले अन्य कारकों पर भी ध्यान दें। सट्टा खेलने की प्रवृत्ति, निर्णय में गलती एवं निजी भाग्यहीनता के कारण होने वाले किसी भी नुकसान के लिए लेखक, प्रकाशक या संपादक की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी।


अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.