बाॅलीवुड जोड़ियां - कोई निःसंतान तो किसी को जुड़वां बच्चे

बाॅलीवुड जोड़ियां - कोई निःसंतान तो किसी को जुड़वां बच्चे  

फ्यूचर पाॅइन्ट
व्यूस : 1706 | अप्रैल 2017

ज्योतिष से समझे क्यों शोहरत, नाम और सम्मान के आकाश पर चमकने वाले बाॅलीवुड सितारे भी अधूरी हसरतों के साथ जीते हैं। बाॅलीवुड एक ऐसा उद्योग है, जहां विवाह होना और टूटना कोई नई बात नहीं। बाॅलीवुड जगत की चकाचैंध सबको अपनी ओर खींचती है। उसी चकाचैंध में छुपे कुछ सितारे ऐसे भी हं जो अपनी कामनाओं को दिल में लिए जीते हैं। संतान की इच्छा आम आदमी हो या कोई फिल्मी स्टार, सभी को रहती है। गृहस्थ जीवन के आंगन में बच्चों की किलकारी न हो तो जीवन की बगिया बिना फूल की तरह लगती है। बाॅलीवुड में ऐसे बहुत सारे कपल्स हैं जिनके अपने खुद का कोई बच्चा नहीं है। कभी-कभी, चिकित्सा कारणों और व्यक्तिगत पसंद के कारण बच्चा न होने से कुछ दंपत्तियों का वैवाहिक जीवन समाप्त हो जाता है और कुछ धैर्य के साथ संतान की प्रतीक्षा करते रहते हंै। और कुछ ऐसे भी हंै जिन्हें भगवान ने एक साथ दो-दो बच्चों की खुशियां दी हंै। ऐसे ही कुछ बाॅलीवुड कपल्स की चर्चा हम यहां इस लेख के माध्यम से करने जा रहे हैं- अनुपम खेर और किरण खेर बॉलीवुड के सबसे बहुमुखी और सम्मानित अभिनेता अनुपम खेर और उनकी खूबसूरत पत्नी किरण खेर दोनों अपने संबंधित क्षेत्रों में बहुत सफल रहे हैं।

परन्तु अनुपम खेर और किरण खेर लम्बे समय से संतान प्राप्ति की चाह मन में रखे हुए हंै। अनुपम खेर ने एक्ट्रेस किरण से शादी की। हालांकि, किरण से जब अनुपम ने शादी की थी तो दोनांे तलाकशुदा थे और किरण का एक बेटा भी था। अनुपम और किरण खेर की शादी को 31 साल हो गए हैं। खबरों की मानें तो चिकित्सा सहायता प्राप्त करने के बाद भी अभी तक दोनों की कोई औलाद नहीं है। जावेद अख्तर और शबाना आजमी प्रख्यात बॉलीवुड पटकथा लेखक जावेद अख्तर और उनकी पत्नी शबाना आजमी, जो एक सामाजिक कार्यकर्ता और मशहूर अभिनेत्री हंै, के यहां भी कोई बच्चा नहीं है। दोनों की शादी को 32 साल हो चुके हैं। वैसे तो जावेद अख्तर के हनी ईरानी के साथ अपनी पिछली शादी से दो बच्चे फरहान और जोया हैं। जावेद अख्तर और शबाना आजमी के मुताबिक उनकी मजबूत दोस्ती ही उनकी शादी के सफल होने के महत्वपूर्ण कारणों में से एक है। दोनों का कोई बच्चा नहीं होने के बावजूद उनके रिश्तों में कोई बिखराव नहीं है। आज भी दोनों एक दूसरे के प्रति प्यार और सम्मान रखते हैं। कमाल अमरोही और मीना कुमारी कमाल अमरोही और मीना कुमारी दोनों ने 1952 में शादी की थी और 1964 में दोनों अलग हो गए थे।


जीवन की सभी समस्याओं से मुक्ति प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें !


कमाल अमरोही मीना कुमारी से पंद्रह साल बड़े थे। कमाल पहले से ही शादी-शुदा भी थे। प्रेम संबंधों के चलते दोनों ने शादी तो कर ली थी परंतु कई अन्य कारणों से यह प्यार लंबे समय तक बना नहीं रहा। जीवन भर संतान की कामना लिए मीना कुमारी मार्च 1972 को एक लंबी बीमारी से लड़ते हुए इस दुनिया से अलविदा हो गईं। दिलीप कुमार और सायरा बानो बॉलीवुड की पुरानी परंतु हिट जोड़ी, दिलीप कुमार और सायरा बानो दोनों के पास भी कोई बच्चा नहीं है। बच्चा न होने का दोनों बहुत अफसोस व्यक्त करते हैं। आज अल्जाइमर की बीमारी की वजह से सायरा ही दिलीप कुमार की एकमात्र याददाश्त हैं और सहारा भी। 1966 से आज तक हालांकि, उनके रिश्ते कुछ उतार-चढ़ाव युक्त रहे और दोनों ने अपने विवाह को बचाए रखने के लिए बहुत कठिन समय भी देखा है, परन्तु फिर भी दोनों के मध्य एक दूसरे के लिए आपसी प्यार देखा जाता है। आईये अब इनके निःसंतान होने के ज्योतिषीय कारणों पर विचार करें- संतान प्राप्ति के लिए वैदिक ज्योतिष में पंचम भाव का आकलन किया जाता है। पंचम भाव जितना अधिक शुभ प्रभाव में रहेगा उतनी ही संतान प्राप्ति जल्दी होती है। इसी प्रकार पंचमेश को भी देखा जाता है।

पंचम भाव व पंचमेश पर शुभ ग्रह का प्रभाव होना शुभ होता है और अशुभ प्रभाव होने पर संतान प्राप्ति में विलंब होता है। इसके साथ ही वर्ग कुंडलियों का भी अध्ययन बहुत जरुरी है। नवांश कुंडली का पंचम भाव व पंचमेश भी देखा जाता है। सप्ताँश कुंडली का विश्लेषण संतान प्राप्ति के लिए विशेष रुप से किया जाता है। सप्तांश कुंडली का लग्न, लग्नेश, पंचम भाव व पंचमेश और जन्म कुंडली के पंचम भाव व पंचमेश की सप्तांश कुंडली में स्थिति को देखंेगे। सूक्ष्म अध्ययन के लिए बीज स्फुट व क्षेत्र स्फुट भी देखा जाता है। बच्चों का होना बहुत अच्छा है, लेकिन कभी-कभी यह संभव नहीं हो पाता है। प्यार और एक-दूसरे के प्रति सम्मान एक लंबे, स्थायी, सफल और सुखी विवाहित जीवन के लिए आवश्यक है। महत्वपूर्ण यह है कि उपरोक्त जोड़े बच्चों के न होने के बाद भी एक-दूसरे के साथ बने रहे हैं। उपरोक्त बॉलीवुड कपल्स की कुंडलियों का अध्ययन करने पर हमने पाया कि चारों अभिनेत्रियों की कुंडलियों में पंचम भाव बहुत पीड़ित है, पंचमेश की स्थिति भी बहुत सुखद नहीं है। सभी कुंडलियों में कारक गुरु भी 6/8 (षडाष्टक) योग लिए हुए है। पंचम, पंचमेश और कारक गुरु की स्थिति कष्टमय होने के कारण बॉलीवुड की इन दम्पत्तियों को संतान अभाव का सामना करना पड़ा।


Get the Most Detailed Kundli Report Ever with Brihat Horoscope Predictions


जुड़वां बच्चों के बॉलीवुड माता-पिता कुछ ऐसी भी हस्तियां हैं जिन्हें जुड़वां बच्चों के माता-पिता बनने पर ‘डबल खुशी’ का अनुभव हुआ। यहाँ ऐसी ही लोकप्रिय बॉलीवुड हस्तियों का वर्णन किया जा रहा है, जो जुडवां बच्चों के माता पिता बन गर्व महसूस कर रहे हैं। बॉलीवुड की कुछ जोडियों को जुड़वां बच्चों के माता-पिता बनने का मौका मिला है। ये स्टार बच्चे भावी सुपर स्टार हो सकते हैं। आईये ज्योतिष के द्वारा जानें कि किस कारण से इन्हें जुड़वां संतान की प्राप्ति हुई। संजय दत्त और मान्यता दत्त बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त और उनकी पत्नी मान्यता दत्त जुडवां बच्चों के माता-पिता हैं। इससे पहले संजय दत्त को पहली पत्नी ऋचा शर्मा से एक बेटी है जिसका नाम त्रिशाला है। संजय दत्त की बेटी त्रिशाला ने अमेरिका से लॉ की पढ़ाई की है, त्रिशाला की रुचि हमेशा से फैशन जगत और सौंदर्य प्रसाधनों में रही। त्रिशाला की मां और संजय ज्योतिष से समझे क्यों शोहरत, नाम और सम्मान के आकाश पर चमकने वाले बाॅलीवुड सितारे भी अधूरी हसरतों के साथ जीते हैं। बाॅलीवुड एक ऐसा उद्योग है, जहां विवाह होना और टूटना कोई नई बात नहीं। बाॅलीवुड जगत की चकाचैंध सबको अपनी ओर खींचती है। उसी चकाचैंध में छुपे कुछ सितारे ऐसे भी हं जो अपनी कामनाओं को दिल में लिए जीते हैं।

संतान की इच्छा आम आदमी हो या कोई फिल्मी स्टार, सभी को रहती है। गृहस्थ जीवन के आंगन में बच्चों की किलकारी न हो तो जीवन की बगिया बिना फूल की तरह लगती है। बाॅलीवुड में ऐसे बहुत सारे कपल्स हैं जिनके अपने खुद का कोई बच्चा नहीं है। कभी-कभी, चिकित्सा कारणों और व्यक्तिगत पसंद के कारण बच्चा न होने से कुछ दंपत्तियों का वैवाहिक जीवन समाप्त हो जाता है और कुछ धैर्य के साथ संतान की प्रतीक्षा करते रहते हंै। और कुछ ऐसे भी हंै जिन्हें भगवान ने एक साथ दो-दो बच्चों की खुशियां दी हंै। ऐसे ही कुछ बाॅलीवुड कपल्स की चर्चा हम यहां इस लेख के माध्यम से करने जा रहे हैं- अनुपम खेर और किरण खेर बॉलीवुड के सबसे बहुमुखी और सम्मानित अभिनेता अनुपम खेर और उनकी खूबसूरत पत्नी किरण खेर दोनों अपने संबंधित क्षेत्रों में बहुत सफल रहे हैं। परन्तु अनुपम खेर और किरण खेर लम्बे समय से संतान प्राप्ति की चाह मन में रखे हुए हंै। अनुपम खेर ने एक्ट्रेस किरण से शादी की। हालांकि, किरण से जब अनुपम ने शादी की थी तो दोनांे तलाकशुदा थे और किरण का एक बेटा भी था। अनुपम और किरण खेर की शादी को 31 साल हो गए हैं। खबरों की मानें तो चिकित्सा सहायता प्राप्त करने के बाद भी अभी तक दोनों की कोई औलाद नहीं है।

जावेद अख्तर और शबाना आजमी प्रख्यात बॉलीवुड पटकथा लेखक जावेद अख्तर और उनकी पत्नी शबाना आजमी, जो एक सामाजिक कार्यकर्ता और मशहूर अभिनेत्री हंै, के यहां भी कोई बच्चा नहीं है। दोनों की शादी को 32 साल हो चुके हैं। वैसे तो जावेद अख्तर के हनी ईरानी के साथ अपनी पिछली शादी से दो बच्चे फरहान और जोया हैं। जावेद अख्तर और शबाना आजमी के मुताबिक उनकी मजबूत दोस्ती ही उनकी शादी के सफल होने के महत्वपूर्ण कारणों में से एक है। दोनों का कोई बच्चा नहीं होने के बावजूद उनके रिश्तों में कोई बिखराव नहीं है। आज भी दोनों एक दूसरे के प्रति प्यार और सम्मान रखते हैं। कमाल अमरोही और मीना कुमारी कमाल अमरोही और मीना कुमारी दोनों ने 1952 में शादी की थी और 1964 में दोनों अलग हो गए थे। कमाल अमरोही मीना कुमारी से पंद्रह साल बड़े थे। कमाल पहले से ही शादी-शुदा भी थे। प्रेम संबंधों के चलते दोनों ने शादी तो कर ली थी परंतु कई अन्य कारणों से यह प्यार लंबे समय तक बना नहीं रहा। जीवन भर संतान की कामना लिए मीना कुमारी मार्च 1972 को एक लंबी बीमारी से लड़ते हुए इस दुनिया से अलविदा हो गईं। दिलीप कुमार और सायरा बानो बॉलीवुड की पुरानी परंतु हिट जोड़ी, दिलीप कुमार और सायरा बानो दोनों के पास भी कोई बच्चा नहीं है।


For Immediate Problem Solving and Queries, Talk to Astrologer Now


बच्चा न होने का दोनों बहुत अफसोस व्यक्त करते हैं। आज अल्जाइमर की बीमारी की वजह से सायरा ही दिलीप कुमार की एकमात्र याददाश्त हैं और सहारा भी। 1966 से आज तक हालांकि, उनके रिश्ते कुछ उतार-चढ़ाव युक्त रहे और दोनों ने अपने विवाह को बचाए रखने के लिए बहुत कठिन समय भी देखा है, परन्तु फिर भी दोनों के मध्य एक दूसरे के लिए आपसी प्यार देखा जाता है। आईये अब इनके निःसंतान होने के ज्योतिषीय कारणों पर विचार करें- संतान प्राप्ति के लिए वैदिक ज्योतिष में पंचम भाव का आकलन किया जाता है। पंचम भाव जितना अधिक शुभ प्रभाव में रहेगा उतनी ही संतान प्राप्ति जल्दी होती है। इसी प्रकार पंचमेश को भी देखा जाता है। पंचम भाव व पंचमेश पर शुभ ग्रह का प्रभाव होना शुभ होता है और अशुभ प्रभाव होने पर संतान प्राप्ति में विलंब होता है। इसके साथ ही वर्ग कुंडलियों का भी अध्ययन बहुत जरुरी है। नवांश कुंडली का पंचम भाव व पंचमेश भी देखा जाता है। सप्ताँश कुंडली का विश्लेषण संतान प्राप्ति के लिए विशेष रुप से किया जाता है। सप्तांश कुंडली का लग्न, लग्नेश, पंचम भाव व पंचमेश और जन्म कुंडली के पंचम भाव व पंचमेश की सप्तांश कुंडली में स्थिति को देखंेगे। सूक्ष्म अध्ययन के लिए बीज स्फुट व क्षेत्र स्फुट भी देखा जाता है।

बच्चों का होना बहुत अच्छा है, लेकिन कभी-कभी यह संभव नहीं हो पाता है। प्यार और एक-दूसरे के प्रति सम्मान एक लंबे, स्थायी, सफल और सुखी विवाहित जीवन के लिए आवश्यक है। महत्वपूर्ण यह है कि उपरोक्त जोड़े बच्चों के न होने के बाद भी एक-दूसरे के साथ बने रहे हैं। उपरोक्त बॉलीवुड कपल्स की कुंडलियों का अध्ययन करने पर हमने पाया कि चारों अभिनेत्रियों की कुंडलियों में पंचम भाव बहुत पीड़ित है, पंचमेश की स्थिति भी बहुत सुखद नहीं है। सभी कुंडलियों में कारक गुरु भी 6/8 (षडाष्टक) योग लिए हुए है। पंचम, पंचमेश और कारक गुरु की स्थिति कष्टमय होने के कारण बॉलीवुड की इन दम्पत्तियों को संतान अभाव का सामना करना पड़ा। जुड़वां बच्चों के बॉलीवुड माता-पिता कुछ ऐसी भी हस्तियां हैं जिन्हें जुड़वां बच्चों के माता-पिता बनने पर ‘डबल खुशी’ का अनुभव हुआ। यहाँ ऐसी ही लोकप्रिय बॉलीवुड हस्तियों का वर्णन किया जा रहा है, जो जुडवां बच्चों के माता पिता बन गर्व महसूस कर रहे हैं। बॉलीवुड की कुछ जोडियों को जुड़वां बच्चों के माता-पिता बनने का मौका मिला है। ये स्टार बच्चे भावी सुपर स्टार हो सकते हैं। आईये ज्योतिष के द्वारा जानें कि किस कारण से इन्हें जुड़वां संतान की प्राप्ति हुई। संजय दत्त और मान्यता दत्त बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त और उनकी पत्नी मान्यता दत्त जुडवां बच्चों के माता-पिता हैं।

इससे पहले संजय दत्त को पहली पत्नी ऋचा शर्मा से एक बेटी है जिसका नाम त्रिशाला है। संजय दत्त की बेटी त्रिशाला ने अमेरिका से लॉ की पढ़ाई की है, त्रिशाला की रुचि हमेशा से फैशन जगत और सौंदर्य प्रसाधनों में रही। त्रिशाला की मां और संजय दत्त की पहली पत्नी ऋचा शर्मा की 1996 में कैंसर से मौत हो गई। इसके बाद दत्त ने बाद में मान्यता से शादी की, जिनसे उन्हें जुडवां बच्चे हैं। शत्रुघ्न सिन्हा और पूनम सिन्हा प्रसिद्ध पुराने सुपरस्टार शत्रुघ्न सिन्हा और पत्नी पूनम सिन्हा के दो जुड़वां लव और कुश नामक बेटे हैं। शत्रुघ्न सिन्हा को बॉलीवुड में 30 साल हो चुके हैं। हालांकि लव सिन्हा ने 2010 में अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की, लेकिन वे लोकप्रिय नहीं हो सके। उनकी बहन सोनाक्षी सिन्हा ने कुछ साल पहले बॉलीवुड में कदम रखा और अब वे एक प्रसिद्ध अभिनेत्री हैं। सेलिना जेटली और पीटर हैग सेलिना जेटली जिन्होंने 2001 में फेमिना मिस इंडिया यूनिवर्स प्रतियोगिता जीती, वे अपनी एक थ्रिलर बॉलीवुड फिल्म ‘जाॅनशीं’ से जबरदस्त सफलता हासिल कर सफलता सूची में अपना नाम दर्ज करा चुकी है। 2011 में सेलिना पीटर हैग नामक एक ऑस्ट्रेलियाई व्यापारी के साथ 2011 में विवाह बंधन में बंध गई।


अपनी कुंडली में सभी दोष की जानकारी पाएं कम्पलीट दोष रिपोर्ट में


2012 में इन्होंने दुबई में दो जुड़वां बच्चों के रूप में लड़कों को जन्म दिया। उन्होंने अपने लड़कों का नाम विंस्टन और विराज रखा है। हितेन तेजवानी और गौरी प्रधान ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’, ’कुटुम्ब’ और ‘पवित्र रिश्ता’ जैसे धारावाहिकों में अपने अभिनय के लिए जाने-जाने वाले भारतीय टेलीविजन अभिनेता हितेन तेजवानी आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। हितेन तेजवानी का विवाह “क्योंकि सास.. ..” सीरियल के मध्य तय हुआ था। हितेन और गौरी दोनों को 2009 को जुड़वां बच्चों के माता पिता बनने पर गर्व हो रहा है। आज गौरी को एक बेटा और एक बेटी है।

उपरोक्त बॉलीवुड कपल्स के जुडवां संतान होने में कौन से कारण सहयोगी थे आईये इसका विश्लेषण करें-

- द्विस्वभाव राशि के नवांश से युक्त लग्न और ग्रह हों और उन्हें मिथुन नवांशयुक्त बुध देखता हो तो एक कन्या और दो पुत्रों का जन्म होता है।

- द्विस्वभाव राशि के नवांश से युक्त लग्न और ग्रह हों और उनको कन्या नवांश युक्त बुध देखता हो तो दो कन्या एक पुत्र का जन्म होता है।

- जन्म लग्न, सूर्य, गुरु और चंद्रमा द्विस्वभाव राशि और द्विस्वभाव राशि के नवमांश में हों और बुध से दृष्ट हों तो जुडवां बच्चों का जन्म होता है।

- यदि द्विस्वभाव की विषम राशि का जन्म नवमांश लग्न में हो तो दो पुत्रों का जन्म होता है।

- लग्न और चंद्रमा यदि सम राशि में हों और पुरुष ग्रह (सूर्य, मंगल, गुरु) उन्हें देखते हों तो जुडवां बच्चों का जन्म होता है। मान्यता दत्त, पूनम सिन्हा, सेलिना जेटली और गौरी प्रधान की कुंडलियों में उपरोक्त योग 60ः तक देखे जा सकते हैं। जैसे- मान्यता दत्त की कुंडली का पंचमेश चंद्र नवमांश में पंचम भाव में और नवमेश मंगल नवमांश में नवम भाव में स्थित है। पंचम भाव में सूर्य, गुरु दो पुरुष प्रधान ग्रह है तथा अन्य ज्योतिषीय योग भी अनुकूल बने हुए हैं। इसी प्रकार पूनम सिन्हा की कुंडली में चंद्र राशि से पंचम भाव के स्वामी स्वयं चंद्र ही हैं। नवमांश कुंडली में भी ग्रहों की स्थिति पहले से बेहतर होती जा रही है।

जन्म विवरण की शुद्ध जानकारी उपलब्ध न होने के कारण उपरोक्त कुंडलियों का विश्लेषण चंद्र लग्न के आधार पर किया गया है। उपलब्ध जन्म विवरण भी नेट और वेबसाईटों पर उपलब्ध जानकारी पर आधारित है। इसलिए इनकी शुद्धता का दावा हम नहीं करते हैं।

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business


.