एंजल चिकित्सा पद्धति - आम धारणाएं एवं प्रश्नोत्तर

एंजल चिकित्सा पद्धति - आम धारणाएं एवं प्रश्नोत्तर  

एंजल चिकित्सा पद्धति - आम धारणाएं एवं प्रश्नोत्तर रविन्दर सिंह एंजल अथवा फरिश्तों में आस्था कई प्राचीन सभ्यताओं में पायी गई है। यूरोप के कई मध्यकालीन चित्रकारों ने एंजल रूपक चित्र बनाये हैं। इस प्रकार के लगभग सभी चित्रों में एंजल प्राणियों को मनुष्य रूप में दर्शाया गया है। परंतु उन चित्रों में एक विशेषता यह है कि उन सभी को पक्षियों की भांति पंखों के साथ दिखाया गया है। यह इस बात को दर्शाता है कि मध्यकाल में लोगों में एंजल के प्रति विश्वास दृढ़ था। यह इस बात को भी दर्शाता है कि उन्हें मानव से भिन्न रूप में माना जाता था। एंजल के बारे में कई प्राचीन एवं नवीन धर्म-ग्रंथों में उल्लेख है। उदाहरण के तौर पर ईसाईयों के धर्मग्रंथ बाईबल, मुसलमानों के धर्म गं्रथ कुरान-ए-पाक, तोहराह (यहुदियों का धर्म-ग्रंथ) एवं सिखों के धर्म-ग्रंथ श्री गुरु ग्रंथ साहिब में भी एंजल का उल्लेख है। साधारण व्यक्तियों में एंजल के बारे में कई प्रकार की भ्रांतियां है जिनका निराकरण करने का इस लेख द्वारा प्रयास किया गया है। प्रश्न: एंजल अथवा फरिश्ते कौन हैं? उनकी सृष्टि का स्रोत क्या है? उत्तर: एंजल शरीरविहीन ऊर्जा रूपी प्राणी हैं जिनकी सृष्टि स्वयं ईश्वर द्वारा की गयी है। प्रश्न: संरक्षक एंजल कौन हैं? क्या मेरे साथ भी संरक्षक एंजल हैं? उत्तर: हर जीवित व्यक्ति के दो अथवा उससे अधिक संरक्षक एंजल होते हैं जो हर समय उसके साथ रहते हैं और हर आने वाले अनिष्ट के बारे में उस व्यक्ति को सूचित करते हैं। यह संरक्षक एंजल हमें प्रेमपूर्ण एवं उत्साहवर्धक संदेश देते हैं। प्रश्न: एंजल की सृष्टि के पीछे क्या उद्देश्य हैं? उत्तर: एंजल ईश्वर के दूत हैं और वे हमें ईश्वर का संदेश देते हैं। उनका उद्देश्य पृथ्वीलोक पर ईश्वर का संदेश देकर शांति स्थापित करना है। प्रश्न: एंजल हमसे किस प्रकार सपंर्क करते हैं और वे अपना संदेश हमें किस प्रकार से प्रदान करते हैं? उत्तर: एंजल हमसे चार प्रमुख मार्गों द्वारा संपर्क करते हैं। विचारों द्वारा ध्वनियों द्वारा मानसिक दृश्यों द्वारा संवेदनाओं द्वारा एंजल हमें हमारी पांच इन्द्रियों से परे होकर संदश देते हैं। कुछ मनुष्यों में ये शक्तियां प्राकृतिक रूप से मौजूद होती हैं, परंतु कुछ मनुष्यों को प्रशिक्षण द्वारा इन शक्तियों का प्रयोग सिखाया जा सकता है। हम एंजल का संदेश किस स्तर पर और कितना स्पष्ट सुन सकते हैं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि हमारे अंदर ये शक्तियां किस स्तर तक विकसित हैं। कुछ मनुष्य भय अथवा शंका के कारण एंजल का संदेश नहीं सुन पाते हैं। प्रश्न: यदि मेरे साथ हर समय संरक्षक एंजल हैं तो वे मुझे दुर्घटनाओं की सूचना क्यों नहीं देते? उत्तर: संरक्षक एंजल हमें हर समय अपना संदेश देते हैं। विशेषतः जब हमारे ऊपर कोई घोर आपत्ति आने वाली हो। परंतु यदि हमारी शक्तियां पूर्ण रूप से विकसित नहीं हैं अथवा हम भयग्रस्त या शंकाग्रस्त हैं तो हमें उनका संदेश सुनायी अथवा दिखायी नहीं देगा। सभी एंजल हमारी प्राकृतिक स्वछंदता का आदर करते हैं। इस कारण वे, जब तक हम पर घोर आपत्ति नहीं आ जाती तब तक, हमारे जीवन में हस्तक्षेप नहीं करते। प्रश्न: एंजल के साथ संपर्क करने का तरीका क्या है? उत्तर: हम केवल अपने विचार द्वारा एवं उनसे संपर्क करने का विचार अपने मन में लाकर उनसे संपर्क स्थापित कर सकते हैं। प्रश्न: एंजल चिकित्सा पद्धति क्या है? उत्तर: एंजल से संपर्क स्थापित करने के द्वारा समस्याओं के निवारण को एंजल चिकित्सा के नाम से जाना जाता है। प्रश्न: एंजल कार्ड रीडिंग क्या है और यह पद्धति टैरो कार्ड रीडिंग से किस प्रकार भिन्न है? उत्तर: एंजल कार्ड द्वारा प्रश्नों के उत्तर तथा स्पष्ट एवं क्रियान्वयन करने योग्य विचारों एवं संदेशों को प्राप्त करने की विधि को एंजल कार्ड रीडिंग कहा जाता है। यह पद्धति टैरो कार्ड रीडिंग से इस प्रकार भिन्न है कि टैरो कार्ड रीडिंग में कुछ टैरो कार्डों पर चित्रित दृश्य व्यक्तियों में भय उत्पन्न कर सकते हैं। परंतु एंजल कार्ड डेक के सभी कार्ड प्रेमपूर्ण एवं उत्साहवर्धक संदेशों एवं चित्रों से भरपूर होते हैं। प्रश्न: क्या मैं घर बैठे एंजल कार्ड रीडिंग का लाभ उठा सकता हूं? उत्तर: अवश्य, एंजल कार्ड रीडिंग आमने-सामने बैठकर, फोन द्वारा, ई-मेल द्वारा एवं स्काइप सेवा द्वारा की जा सकती है। हम किस माध्यम को चुनते हैं, इसका असर एंजल कार्ड रीडिंग के स्तर अथवा उसकी गुणवत्ता पर नहीं पड़ता। प्रश्न: एंजल कार्ड रीडिंग में प्राप्त किये गये संदेश कितने स्पष्ट एवं सटीक होते हैं? उत्तर: चूंकि एंजल हमारे बारे में समस्त जानकारी रखते हैं, इसलिए एंजल द्वारा प्राप्त संदेश स्पष्ट एवं सटीक होते हैं। अधिकांश व्यक्ति इन संदेशों को प्राप्त कर हतप्रभ हो जाते हैं। प्रश्न: एंजल कार्ड रीडिंग से हमें क्या अपेक्षा करनी चाहिये? उत्तर: एंजल कार्ड रीडिंग के द्वारा हमें अपने निजी, व्यवसायिक, पारिवारिक एवं सामाजिक समस्याओं के उद्गम का स्रोत एवं निवारण हेतु स्पष्ट क्रियान्वयन करने योग्य विधियां प्राप्त होती हैं। कोई भी प्रश्न एंजल के लिये गलत प्रश्न नहीं होता क्योंकि वे हमें बिना शक अलौकिक प्रेम भाव से देखते हैं। कई बार ऐसा होता है कि एंजल हमारे पूछे गये प्रश्नों के बजाय किसी और प्रश्न का उत्तर देते हैं। इसका कारण यह है कि एंजल हमारे मन में आने वाले सभी विचारों से भली-भांति परिचित होते हैं। इसीलिये वे उन सभी प्रश्नों के उत्तर देते हैं जो हमारे लिए महत्वपूर्ण होते हैं। यह इस बात पर निर्भर करता है कि हम प्रत्यक्ष रूप से उन प्रश्नों को पूछते हैं या नहीं। प्रश्न: क्या मैं स्वयं अपने लिये एंजल कार्ड रीडिंग कर सकता हूं? उत्तर: अवश्य । हम प्रशिक्षण प्राप्त करने के पश्चात स्वयं अपने लिये एंजल कार्ड रीडिंग कर सकते हैं। प्रश्न: क्या एंजल चिकित्सा-पद्धति का प्रशिक्षण भारत में उपलब्ध है? भारत में कई सत्यापित एंजल चिकित्सा केंद्र स्थापित किये गये हैं। आप अधिक जानकारी के लिये लेख के अंत में दिये गये पते अथवा वेबसाइट पर संपर्क कर सकते हैं। अगले अंकों में हम एंजल चिकित्सा पद्धति के भिन्न-भिन्न आयामों पर प्रकाश डालने का प्रयास करेंगे।



अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.