रामचंद्र शर्मा


(4 लेख)
सर्वतोद्रद्र मंडंल

अकतूबर 2009

व्यूस: 14346

मंडल, यंत्र एवं चक्र में अनेकानेक गुप्त शक्तियों को समाहित एवं नियंत्रित करने की असीम क्षमता होती है। मंडल का उपयोग देवता विशेष की पूजा एवं विशिष्ट उद्देश्य की पूर्ति हेतु होता है। मंडल एवं चक्र देवतारूपी महामंत्र है। इस पर पूजित ... और पढ़ें

ज्योतिषमेदनीय ज्योतिषभविष्यवाणी तकनीक

वर्ष 2011 आशा और निराशा

जनवरी 2011

व्यूस: 3322

कुल मिलाकर नया साल भारत के लिए आशा और निराशा दोनों का समागम लेकर आएगा। आइए जानें - वर्ष के शुभ अशुभ फल... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय विश्लेषणकुंडली व्याख्याभविष्यवाणी तकनीक

गर्भाधान एवं गर्भपात

जनवरी 2014

व्यूस: 2550

जन्म कुण्डली में त्रिकोण भावों को सबसे शक्तिशाली माना जाता है। लग्न, व्यक्तित्व व व्यक्ति के स्वास्थ्य का भाव है। पंचम भाव बुद्धि, संतान तथा निर्णय क्षमता से सम्बन्ध रखता है। नवम भाव भाग्य का है यह धर्म व चिन्तन का भाव भी है। इन्ह... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगकुंडली व्याख्याघरजैमिनी ज्योतिषग्रहभविष्यवाणी तकनीक

फलित ज्योतिष - जीवन में महत्वपूर्ण घटनाएं कब होती हैं?

अकतूबर 2005

व्यूस: 2341

ज्योतिष का महत्वपूर्ण भाग फलकथन है। इसी गुण के कारण उसे वेदों का नेत्र कहा जाता है। भविष्य को जानने की चाह प्रत्येक व्यक्ति को होती है, संकट तथा परेशानी में यह चाह और भी बढ़ जाती है। भविष्य को व्यक्त करने की दुनिया के अलग-अलग धर्मो... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगदशाभविष्यवाणी तकनीकगोचर

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)