पूर्णोत्तम दीक्षित


(3 लेख)
भगवत्कृपा तथा भक्ति रहस्य

आगस्त 2006

व्यूस: 881

भक्त के लिए भगवान की स्मृति भगवान से बढ़कर है, क्योंकि भगवान तो किसी का दुख दूर नहीं करते। यदि वे दुख दूर करते तो संसार में कोई दुखी नहीं होता। दुख तो उसी का दूर होता है, जो दुखी होकर उनका स्मरण करता है। अतएव भगवान की स्मृति ही ... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिविविध

भगवत्प्राप्ति का सरलतम सूत्र: शरणागति

जुलाई 2006

व्यूस: 804

अनेक बार यह प्रश्न सामने आता है कि भगवत्प्राप्ति कैसे हो? इस बात में सबका एक मत है कि किसी पूजा, पाठ, तप, यज्ञ या दान से भगवत्प्राप्ति नहीं हो सकती। इसका एक मात्र सरल सूत्र है- शरणागति । यह क्या है? भगवत्प्राप्ति कैसे करें? जान... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिविविध

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)