ब्रजकिशोर भारद्वाज


(4 लेख)
पुरुषोत्तम मास के व्रत नियम

अप्रैल 2010

व्यूस: 8294

‘अधिमास' और ‘मलमास' भी कहते हैं। इस मास में पुरूषोत्तम भगवान वासुदेव की भक्तिपूर्वक साधना करने से व्यक्ति पापमुक्त होकर भगवान को प्राप्त हो सकता है। प्रस्तुत है पुरूषोत्तम मास के व्रत नियम।... और पढ़ें

देवी और देवपर्व/व्रत

अश्वत्थ व्रत एवं महिमा

मई 2010

व्यूस: 4162

अश्वत्थ पीपल के वृक्ष का ही एक नाम है। पंचदेव वृक्षों में अश्वत्थ का स्थान सर्वोपरि है। प्रस्तुत है ब्रह्मांड पुराण में ब्रह्माजी द्वारा अश्वत्थ व्रत पूजा की महिमा का बखान का वर्णन..... और पढ़ें

देवी और देवउपायअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

माघामास - महात्म्य एवं व्रत

जनवरी 2010

व्यूस: 3232

भारतीय संवत्सर का ग्यारहवां चान्द्रमास और दसवां सौरमास ‘माघ' कहलाता है। इस मास में प्रयाग, काशी, कुरुक्षेत्र, हरिद्वार तथा अन्य तीर्थ स्थलों और नदियों में स्नान का विशेष महत्व है। पुराणानुसार इस मास का धार्मिक एवं आध्यात्मिक महत्व... और पढ़ें

देवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

होलिकोत्सव (होली)

मार्च 2013

व्यूस: 2999

विराट पुरुष के मुख से ब्राहमण भुजाओं से क्षत्रिय, जांघों से वैश्य और पैरों से शूद्रों की उत्पति हुई हैं। इनके नाम से ही चार वर्णों की प्रधानता हैं। और इनके चार मुख्य त्यौहार क्रमश: रक्षा बंधन, दशहरा, दीपावली और होली हैं।... और पढ़ें

घटनाएँदेवी और देवअध्यात्म, धर्म आदिपर्व/व्रत

लोकप्रिय विषय

बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)