षड्बल

षड्बल  

व्यूस : 517
ग्रहों को राशिचक्र में उनकी विशेष स्थिति के फलस्वरूप बल प्राप्त होता हाँ। ग्रहों का सही बल सुनिश्चित करने के लिए यह नितांत जरुरी है की राशिचक्र में उनकी स्थिति का पूर्ण रूप से विवेचन किया जाएं।
grahon ko rashichakra men unki vishesh sthiti ke falasvarup bal prapt hota han. grahon ka sahi bal sunishchit karne ke lie yah nitant jaruri hai ki rashichakra men unki sthiti ka purn rup se vivechan kiya jaen.

Please Scroll down to view this pdf

षड्बल

आगामी पत्रिका पढ़ें

अप्रकाशित पत्रिका पढ़ने के लिए, फ्यूचर समाचार के ऑनलाइन सदस्य बने


.