वर्षफल 2014

वर्षफल 2014  

सोना: जनवरी, फरवरी में कुछ उतार चढ़ाव के बाद मार्च में सोना काफी नीचे की ओर रुख करेगा। लेकिन मार्च के अंत तक पुनः अपनी तेजी प्राप्त कर जून में ऊपर की ओर अग्रसर होगा और मध्य अगस्त व सितंबर में पुनः छलांग लगाएगा। इसकी चमक अक्तूबर तक बरकरार रहेगी। नवंबर दिसंबर में फिर स्थिरता को प्राप्त होगा। सोना मार्च में न्यूनतम व सितंबर में अधिकतम चमक प्राप्त करेगा। वर्षा: 2014 में वर्षा मार्च में ही शुरू हो जाएगी। मार्च और अप्रैल में काफी बारिश होगी। ओले भी पडेंगे जिससे फसल को नुकसान हो सकता है। मई सूखा रहेगा। जून के अंत में पुनः वर्षा प्रारंभ हेागी और सितंबर तक रूक-रूक कर वर्षा होती रहेगी। मध्य जुलाई व अगस्त अंत में वर्षा अच्छी रहेगी। अक्तूबर माह में अंत में वर्षा हो सकती है। इस प्रकार 2013 से 2014 का वर्षा का प्रारूप भिन्न है। डालर: इस वर्ष डालर स्थिर रहेगा। वर्ष के शुरू में रूपया मजबूत होकर खुलेगा। जनवरी में रूपया मजबूत ही होगा। फरवरी मार्च में डालर कुछ मजबूत होगा। अप्रैल में भारी चढ़ाव के साथ डालर में उतार आएगा और मई में रूपया मजबूत होकर निकलेगा। जून, जुलाई में पुनः डालर मजबूत होगा लेकिन अगस्त में रूपया काफी मजबूती पकड़ेगा। इसके बाद डालर व रूपया ऊपर नीचे होते रहेंगे लेकिन रूपया कुछ कमजोर होकर निकल सकता है। सेंसेक्स: जनवरी में सेन्सेक्स ऊपर की ओर खुलेगा लेकिन जनवरी के अंत तक नीचे जाने लगेगा और मार्च होते होते काफी नीचे आ जाएगा। अप्रैल में पुनः जोर पकड़ेगा और मई में काफी ऊपर की ओर रहेगा। जून व जुलाई में स्थिरता प्राप्त करेगा। अगस्त में पुनः ऊंचाई पर चढ़ कर सितंबर में नीचे की ओर रूख करेगा। अक्तूबर नवंबर में सेन्सेक्स चमकेगा व दिसंबर में स्थिरता को प्राप्त होगा। कुल मिलाकर मार्च के मध्य में खरीदकर मई के मध्य तक बेचकर लाभ प्राप्त कर सकते हैं। मेष: गुरु का परिवर्तन आपको घर की खुशियां प्रदान करेगा। आप नव गृह प्रवेश कर सकते हैं। वाहन खरीद सकते हैं। व्यवसाय में उत्थान होगा। नौकरी में प्रमोशन मिलेगा। राहु का कन्या राशि में प्रवेश शत्रुओं पर विजय दिलाएगा। 2014 आपके लिए सुख चैन की वृद्धि करेगा। थोड़ा जीवन को आक्रामक रखें, और अच्छे समय का अधिकाधिक लाभ उठाएं। वृष: 2013 की तरह यह वर्ष भी अच्छा रहेगा। धन लाभ अच्छा रहेगा। छोटी व लम्बी यात्राएं होंगी। विद्यार्थियों के लिए उपलब्धि का वर्ष रहेगा। जीवनसाथी या संतान के स्वास्थ्य का ख्याल रखें। आने वाले वर्ष भी शुभ रहेंगे। अच्छे समय का पूर्ण लाभ उठाएं। मिथुन:इस वर्ष धन की प्रधानता रहेगी। किसी न किसी रूप से आय अधिक होगी। संतान सुख प्राप्त होगा। मान-सम्मान बढ़ेगा। लेकिन घर में कलह का वातावरण रह सकता है। इसकी शांति के लिए मंगलवार को गुड़ का दान या विसर्जन करें। विद्यार्थियों को अधिक मेहनत करने पर फल प्राप्त होंगे। नौकरी में तरक्की मिलेगी। कर्क: आपके बढ़े हुए खर्चे बंद हो जायेंगे व मान-सम्मान प्राप्त होगा। घर में कलह धीरे-धीरे समाप्त हो जायेगी। नौकरी में परिवर्तन की आशा है तो वह अब होगी। विद्यार्थियों के लिए यह वर्ष अच्छा रहेगा। अच्छे अंक प्राप्त होंगे। यदि आप प्राॅपर्टी खरीदना चाह रहे हैं तो यह समय अच्छा है। संतान की शादी के लिए भी वर्ष उम है। सिंह: यह वर्ष अधिक शांतिपूर्ण, लाभदायक व उन्नतिदायक रहेगा। वर्षांत में घर पर निवेश करने के योग बनेंगे। बोलने में सावधानी बरतें क्योंकि बहस खुद के लिए कष्टकारक साबित होगी। घर में मंगल कार्य होंगे। वर्षांत में दूर की यात्राओं के योग बनेंगे। विद्यार्थियों को सफलता प्राप्त होगी। सिंह: यह वर्ष अधिक शांतिपूर्ण, लाभदायक व उन्नतिदायक रहेगा। वर्षांत में घर पर निवेश करने के योग बनेंगे। बोलने में सावधानी बरतें क्योंकि बहस खुद के लिए कष्टकारक साबित होगी। घर में मंगल कार्य होंगे। वर्षांत में दूर की यात्राओं के योग बनेंगे। विद्यार्थियों को सफलता प्राप्त होगी। तुला: इस वर्ष के बाद साढ़ेसाती के विपरीत फलों में कमी आएगी। वर्षांत में कामों में सफलता प्राप्त होगी और पुरानी समस्याओं के हल प्राप्त होंगे। धीरे-धीरे कष्ट समाप्त होकर कार्य गति पकड़ेगा। वर्षांत में विदेश से कार्य सिद्ध होने की आशा बढ़ेगी। विदेश यात्रा के योग भी बनेंगे। वृश्चिक: आपकी शनि की साढ़ेसाती चल रही है व गुरु भी अष्टम भाव में गोचर कर रहे हैं। अतः आपको मानसिक शांति रहे, स्वास्थ्य ठीक रहे व धन नाश न हो, इसके लिए शनि की उपासना व दान निरंतर करते रहना चाहिए। हर शनिवार को छाया दान, शनि मंत्र व हनुमान चालीसा का नित्य पाठ करें। धनु: यह वर्ष अच्छा लाभकारी रहेगा लेकिन बड़े लाभ के लिए पूरी पूंजी न लगा दें। शेयर बाजार आदि से धीरे-धीरे अपना धन वापस निकाल लें। आने वाला वर्ष 2015 कष्टकारक हो सकता है। अपनी पूंजी सुरक्षित रखने के लिए अपनी पत्नी या बच्चों के नाम कर दें। अगस्त से शनि की आराधना व दान शुरु कर दें। मकर: यह वर्ष भी पिछले वर्ष की भांति लाभ व तरक्की का वर्ष रहेगा। यदि नौकरी कर रहे हैं, तो प्रमोशन प्राप्त हो सकता है। आय अच्छी रहेगी। संतान सुख प्राप्त हो सकता है,जिनकी शादी नहीं हुई है उनकी शादी के योग बनेंगे। मेहनत करें और लाभ को कई गुणा बढ़ाएं। कुंभ: वर्ष अति उम है। संतान योग बनेंगे या संतान से लाभ प्राप्त होगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। पेट की बीमारी या चोट के योग बन रहे हैं। अतः मंगलवार को हनुमान जी के दर्शन कर प्रसाद चढ़ाएं। धन व ऐश्वर्य की भरपूर प्राप्ति होगी। समय अच्छा है सदुपयोग करें। मीन: आपकी अष्टम ढैया चल रही है जो कि व्यावसायिक रूप से स्थिर नहीं होने दे रही है। अतः शनि का दान व उपासना करें। वर्षांत में संतान प्राप्ति के योग बन रहे हैं। वर्ष के मध्य से नई योजनाएं प्रबल होंगी और नए व्यवसाय के आयाम खुलेंगे। नौकरी वालों को तो इस वर्ष प्रमोशन या नौकरी बदलने के आसार बनेंगे।



नव वर्ष विशेषांक  जनवरी 2014

फ्यूचर समाचार पत्रिका के नववर्ष विशेषांक में नववर्ष की भविष्यवाणियों में आपकी राशि तथा भारत व विश्व के आर्थिक, राजनैतिक व प्राकृतिक हालात के अतिरिक्त भारत के लिए विक्रम संवत 2014 का मेदिनीय फल विचार, 2014 में शेयर बाजार, सोना, डालर, सेंसेक्स व वर्षा आदि शामिल हैं। इसके साथ ही करियर में श्रेष्ठता के ज्योतिषीय मानदंड, आपकी राशि-आपका खानपान, ज्योतिष और महिलाएं, कुबेर का आबेरभाव नामक पौराणिक कथा, मिड लाइफ क्राइसिस, जनवरी माह के व्रत-त्यौहार, भागवत कथा, कर्मकांड का आर्विभाव, विभिन्न भावों में शनि का फल तथा चर्म रोग के ज्योतिषीय कारणों पर विस्तृत रूप से जानकारी देने वाले आलेख सम्मिलित हैं।

सब्सक्राइब

अपने विचार व्यक्त करें

blog comments powered by Disqus
.