Congratulations!

You just unlocked 13 pages Janam Kundali absolutely FREE

I agree to recieve Free report, Exclusive offers, and discounts on email.

दीपावली की ऊर्जा में अपने सपने साकार करें

दीपावली की ऊर्जा में अपने सपने साकार करें  

दीपावली की ऊर्जा में अपने सपने साकार करें! अंजना गुप्ता दीपावली में धन देवी को प्रसन्न करने के लिए हम उनकी पूजा-अर्चना विधि-विधान से करते हैं और ध्यान रखते हैं कि कोई गलती न हो जाये। हमारा सारा ध्यान ठीक ढंग से पूजा करने में लगा रहता है जैसे- पहले क्या करना है और बाद में क्या करना है। हमारे विचार पूजा की गतिविधियों में ही उलझकर रह जाते हैं। जिस चीज के लिए पूजा कर रहे हैं वह सकारात्मक साचे कसै े वास्तविकता में तब्दील हो, इसको वैज्ञानिक तरीके से जानने की आवश्यकता है। हम जानते हैं कि हर वस्तु या पदार्थ को ऊर्जा से बदला जा सकता है और ऊर्जा को पदार्थ में बदला जा सकता है। हमारा हर विचार भी एक ऊर्जा है। हमारा हर विचार पदार्थ (मैटर) में या वास्तविकता में बदल सकता है। लेकिन विचार कैसा होना चाहिए, किस रूप में सोचा गया विचार रूपांतरित होता है? हमारा हर वो विचार जो वर्तमान समय मंे मस्तिष्क में प्रकट हो रहा है, हमें फल देता है। जैसे कि हमारा यह सोचना कि हम संपन्न हंै और खुशहाल हैं, हमारे जीवन को संपन्नता से और खुशहाली से भर देगा। इसको हमें वैज्ञानिक तरीके से जानने की जरूरत है। दीपावली के त्योहार पर रोशनी की जाती है, मोमबŸिायां जलाई जाती हैं, और इन सबसे एक सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होती है। यही ऊर्जा हमारी सोच को तीव्र गति से सच्चाई में बदलते हैं। किसी भी चीज को पाने के लिए आप महसूस करें कि वो चीज आपको मिल गई है, तो वह आपकी जिंदगी में सचमुच आ जायेगी और इसके लिए अगर आप दीपावली वाले दिन और रात की ऊर्जा का उपयोग करें तो ये ऊर्जा आपके विचारों की ऊर्जा के साथ मिलकर ‘आपके सपनों को सच करने के लिए’ उत्प्रेरक की तरह काम करेगा। किंतु आम लोगों के लिए इस सकारात्मक ऊर्जा को इच्छित परिणाम प्राप्त करने के लिए सही दिशा दे पाना संभव नहीं हो पाता। इसके लिए एक सही मार्गदर्शक की आवश्यकता होती है, जो आपको पूर्ण वैज्ञानिक दृष्टिकोण एवं शक्तिपात के द्वारा ऐसा करने के लिए सक्षम बना सके।


श्री महालक्ष्मी विशेषांक  नवेम्बर 2012

फ्यूचर समाचार पत्रिका के श्री महालक्ष्मी विशेषांक में महालक्ष्मी के उद्गम की पौराणिकता, हिन्दू धर्म शास्त्रों में महालक्ष्मी के स्वरूप का वर्णन, विश्व के अन्य धर्म ग्रंथों में महालक्ष्मी के समकक्ष, देवी-देवताओं के नाम तथा उनसे जुडी दन्त कथाएँ, लक्ष्मी पूजन विधि एवं शुभ मुहूर्त, दीपावली पूजन पैक, देवी कमला साधना, तंत्रोक्त लक्ष्मी कवच, लक्ष्मीजी के साथ गणपति पूजन क्यां, लक्ष्मीपूजन के विशेष उपाय, दीपावली पर किये जाने वाले विशेष उपाय व मंत्र, लक्ष्मी प्राप्ति के 51 अचूक उपाय, दीपावली पर किये जाने वाले अनूठे प्रयोगदीपावली पर किये जाने वाले दीपावली पर किये जाने वाले अदभुत टोटके, महालक्ष्मी के प्रमुख पूजा स्थल तथा उनकी महता और मान्यता के अतिरिक्त जन्मकालिक संस्कार, अहोईअष्टमी व्रत, फलादेश में अंकशास्त्र की भूमिका, वास्तु परामर्श, वास्तु प्रश्नोतरी, विवादित वास्तु, यंत्र समीक्षा/मंत्र ज्ञान, हेल्थ कैप्सुल, लाल किताब, टैरो कार्ड, सत्यकथा, अंक ज्योतिष के रहस्य, आदि विषयों पर गहन चर्चा की गई है।

सब्सक्राइब

.